तिल ज्योतिष

banner

तिल ज्योतिष: शरीर पर तिल और उनका महत्व

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार मोल एस्ट्रोलॉजी (ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शरीर के विभिन्न अंगों में तिल होने के मायने) की मदद से व्यक्ति की व्यक्तिव और उसके बारे में कई अन्य विशेष जानकारियों का पता लगाया जा सकता है। असल में हमारे शरीर पर तिल बहुत-सी बातों का खुलासा करते हैं। शरीर के किस अंग में तिल है और उसके आकार के आधार पर इसके नकारात्मक और सकारात्मक महत्व को समझा जा सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार तिल आमतौर पर ग्रहों की अलग-अलग स्थिति के कारण दिखाई देते हैं।

किसी व्यक्ति पर ग्रहों का प्रभाव महिला के गर्भ में भ्रूण के निर्माण के दौरान ही शुरू हो जाता है। आपकी कुंडली में पहला भाव और उसका स्वामी ग्रह, छठा भाव और उसका स्वामी ग्रह मंगल, शनि, चंद्रमा, राहु और केतु शरीर पर तिल का निर्माण करते हैं। मान लीजिए कि आपका लग्न स्वामी मेष राशि के विपरीत स्थित शनि ग्रह है, तो यह काले रंग का तिल बनाएगा, क्योंकि शनि काले रंग का प्रतिनिधित्व करते हैं।

यदि राशि और आपके जीवन को प्रभावित करने वाले ग्रह फेमिनिन हैं, तो तिल अक्सर शरीर के बाईं ओर दिखाई देते हैं और ऐसा माना जाता है कि यदि ग्रह मैस्कुलिन है, तो आप अपने शरीर के दाईं ओर तिल देख सकते हैं। आगे बढ़ने से पहले आपके बता दें कि राशि चक्र में राशियों को दो भागों में बांटा गया है, फेमिनिन और मैस्कुलिन। इसी के आधार पर जातक के तिलों का भी अध्ययन किया जाता है। उदाहरण के लिए, वृश्चिक राशि (जननांगों के लिए महिला चिह्न) में मंगल (पुरुष) और शुक्र (महिला) का मिश्रण निम्नलिखित संभावनाओं को दर्शाता है: यदि आपका मंगल मजबूत है, तो आपके गुप्तांगों के दाहिनी ओर तिल होगा। हालांकि, शुक्र शक्तिशाली होने पर गुप्तांगों के बायीं ओर तिल होता है।

विस्तृत कुंडली विश्लेषण प्राप्त करने के लिए, ज्योतिषी से बात करें

आकृति, आकार और रंग के आधार पर तिल का महत्व

तिल विभिन्न तरीकों से अलग-अलग हो सकते हैं। आकृति, आकार और रंग के आधार पर तिल व्यक्ति पर अपना प्रभाव डालते हैं। अगर आपका तिल छोटा है, तो यह आपके जीवन को ज्यादा प्रभावित नहीं करता है। वहीं अगर आपका तिल बड़ा और गोल है, तो ज्योतिष के अनुसार तिल बेहद शुभ होता है। इसके अलावा, यदि आपके शरीर पर तिल लंबा है, तो यह आपके भाग्य को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है।

तिल के आकार की बात करें, तो चौकोर तिल का होना अनिश्चितता यानी जिसका अनुमान न लगाया जा सके, को दर्शाता है। वहीं इस प्रकार के तिल के कारण आपके साथ कुछ घटनाएं घटित हो सकती हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शरीर के किसी अंग पर त्रिभुज का तिल मिश्रित फल देता है। आप अपने जीवन में सकारात्मक या नकारात्मक घटनाओं का सामना कर सकते हैं। वहीं टेढ़ा-मेढ़ा तिल जातकों के जीवन के लिए अशुभ होता है। लेकिन गोल आकार का तिल जिस व्यक्ति के पास होता है, उसमें अच्छाई और बड़प्पन दोनों तरह के गुण मौजूद होते हैं।

रंग के आधार पर तिलों की बात करें, तो हल्के रंग का तिल जैसे शहद, लाल, पन्ना हरा या चंदन अच्छे समय और लाभकारी परिणाम देते हैं। हल्के रंगो के तिलों के कारण आप चीजों को अपने पक्ष में करने की उम्मीद कर सकते हैं और अपने विचारों और योजनाओं के अनुसार सहजता से काम कर सकते हैं। हालांकि, काले या भूरे रंग का काला तिल जातक के जीवन में दुर्भाग्य का संकेत देता है। आपको अपने जीवन में बाधाओं और विभिन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, हल्के रंगों वाले तिलों के कारण आपको अपनी योजना के अनुसार फल प्राप्त नहीं होंगे।

ज्योतिष शास्त्र कहता है कि ज्यादातर तिल सपाट होते हैं। हालांकि, उनमें से कुछ बाहर निकल रहे हैं। यदि आपका तिल लाल रंग का है और आपके शरीर के किसी हिस्से पर उभरा हुआ है, तो आप अपने जीवन में कुछ अनुकूल परिणामों की उम्मीद कर सकते हैं। यदि आपका तिल सपाट है, तो आपको मिश्रित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर तिल

जैसा कि हमने पहले उल्लेख किया है कि सभी तिल सौभाग्य नहीं लाते हैं, उसी तरह ज्योतिष अनुसार सभी तिल व्यक्ति के लिए खराब भी नहीं होते हैं। उदाहरण के लिए, हथेली के भीतरी भाग पर एक तिल दुर्भाग्य का संकेत देता है। ठोड़ी पर तिल वैवाहिक सुख के लिए खराब होते हैं और निजी अंगों पर तिल यौन व्यसन का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसके अलावा, यदि आपकी जीभ पर तिल है, तो यह मानसिक क्षमताओं को इंगित करता है। यही नहीं, अगर आप कुछ भी नकारात्मक कहते हैं, तो यह आमतौर पर सच हो जाता है। दूसरी ओर, नितंबों पर तिल जुए के दौरान भाग्य का प्रतिनिधित्व करता है।

शरीर के विभिन्न हिस्सों पर तिल के बारे में अधिक जानने के लिए:

चेहरे पर तिल

पैरों पर तिल

पेट पर तिल

पीठ, छाती और पसलियों पर तिल

भुजाओं पर तिल

जननांगों पर तिल

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दाहिनी ओर तिल वाले लोगों का भाग्य आमतौर पर अच्छा होता है। हालांकि, यदि स्थिति अन्यथा है, तो जातकों को अपने जीवन में नकारात्मक परिणाम और कई चुनौतियों का भी सामना करना पड़ेगा।

यदि आपकी कुंडली के दूसरे, तीसरे, चौथे, पांचवें या छठे भाव में शनि है, तो आपके शरीर के बाईं ओर तिल होगा। इसके अलावा, यदि आपके सातवें भाव से बारहवें भाव में ग्रह है, तो आपके शरीर के सामने वाले हिस्से पर अधिक तिल होंगे। यदि आपकी कुंडली के पहले से छठे भाव या नीच राशि में ग्रह हैं, तो आपके शरीर के पिछले हिस्से पर तिल अधिक होंगे। इसके अलावा, जिन लोगों की कुंडली में राजयोग होता है, उनके हाथ या पैर में आमतौर पर तिल होता है।

जिंदगी में समस्याएं बहुत हैं, समाधान के लिए ज्योतिषी से चैट करें

जुड़वां तिल या एक-दूसरे आसपास मौजूद तिल

किसी भी चीज की अधिकता लोगों के लिए बुरी होती है। ज्योतिष में भी यह माना जाता है कि आपके शरीर पर कहीं भी एक से अधिक तिल अशुभ होते हैं। जुड़वा तिल या एक दूसरे के बगल में तिल दोहरे व्यक्तित्व का प्रतिनिधित्व करते हैं। वास्तव में, कुछ मामलों में, इसका मतलब यह भी हो सकता है कि आप दो बार शादी करेंगे। इसके अलावा, इस बात की भी संभावना हो सकती है कि आपको कोई भी चीज जीवन में आसानी से नहीं मिलेगी।

त्रिभुज के आकार में तीन तिल

त्रिभुज के आकार का तिल त्रिभुज बनाने वाले तीन मोल से भिन्न होता है। ज्योतिष शास्त्र में त्रिकोण बनाने वाले तिल आपको मिश्रित परिणाम दे सकते हैं। एक ओर आप अच्छे रहेंगे, वहीं आपके कुछ कर्म आपको नकारात्मकता और विषम परिणामों की ओर ले जाएंगे।

पुरुषों और महिलाओं के लिए भाग्यशाली तिल

एस्ट्रोटॉक पर हमारे ज्योतिषियों के अनुसार कुछ तिल होते हैं, जो हमारे जीवन में भाग्य का परिचय देते हैं। पुरुषों के लिए यदि आपके दाहिने पैर पर, शरीर के पिछले भाग पर या आपकी आंखों के आसपास तिल है, तो यह अत्यधिक शुभ है और जातकों को कई तरह से लाभान्वित करता है। महिलाओं के लिए उनके होंठ, स्तन और कान के पास तिल भाग्यशाली माना जाता है। यह उन्हें एक समझदार साथी, सही प्रयासों से धनवान और एक अत्यंत उज्ज्वल भविष्य प्रदान करेगा।

अपने शरीर पर तिल के बारे में विस्तार से जानने के लिए, अभी ज्योतिषी से चैट करें!

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कौन सा तिल बताता है कि आप धनवान बनेंगे?

जातक के माथे पर दाहिनी ओर तिल धन की ओर इशारा करता है। यदि आपके पास ऐसा तिल है, तो आप अपने आसपास मौजूद लोगों के बीच अधिक प्रसिद्ध और धनी होंगे।

क्या तिल पर बाल होना शुभ होता है?

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जिस तिल पर बाल होते हैं, वह भाग्यशाली माना जाता है। यह स्वस्थ तिल का संकेत हैं। जिस भी व्यक्ति के शरीर में ऐसा तिल होता है, उसे अपने जीवन में अच्छे परिणाम मिलते हैं।

शरीर के किस अंग पर तिल राजसी जीवन का संकेत देता है?

कंधे पर तिल का होना बताता है कि जातक का जीवन सफल और प्रशंसनीय होगा। आप न केवल विनम्र होंगे, बल्कि आपके पास अन्य लोगों की सेवा करने के संसाधन भी होंगे। यह जातक के विनम्र स्वभाव और शांत व्यक्तित्व को भी दर्शाता है।

क्या होठों पर तिल होना शुभ होता है?

अगर आपके ऊपर के होंठ के बाहरी तरफ तिल है, तो आप बहुत भाग्यशाली हैं। हालांकि, यदि आपके निचले होंठ पर एक है, तो यह जुआ और शरारती कार्यों को इंगित करता है।

कॉपीराइट 2022 कोडयति सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस प्राइवेट. लिमिटेड. सर्वाधिकार सुरक्षित