नामकरण
मुहुर्त 2022

banner

अभी भी आप अपने छोटों को चीकू, गुड्डू, गुड़िया बुला रहे हैं? खैर, 2022 में नामकरण के लिए शुभ मुहूर्त खोजें और अपने बच्चों को एक प्यारा नाम दें।

नामकरण संस्कार नवजात बच्चे के साथ-साथ उसके माता-पिता के लिए भी महत्वपूर्ण संस्कार है। इसलिए शुभ मुहूर्त में इसे करना बहुत महत्वपूर्ण है। यह पृष्ठ यहां नामकरण संस्कार शुभ मुहूर्त 2022 के बारे में एक वर्णनात्मक जानकारी प्रदान करता है।

आपको अपने बच्चे का नाम विशेष रूप से मुहूर्त में ही क्यों रखना चाहिए? सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि नवजात शिशु का नामकरण क्यों करना चाहिए? इन सबका जवाब हमारे पास है। आइए हम यह सब समझते हैं।

शिशु नामकरण समारोह हिंदू पांडुलिपियों में वर्णित सोलह महत्वपूर्ण संस्कारों में से एक है। यह एक बच्चे का पहला और सबसे महत्वपूर्ण संस्कार है। अगर यह परिवार और बच्चे के माता-पिता द्वारा पूर्ण विश्वास के साथ किया जाता है, तो यह जीवन में कई सकारात्मक परिणाम देने के लिए जाना जाता है। इस प्रकार धार्मिक मान्यताओं के आधार पर आपको इस तथ्य का ध्यान रखना चाहिए कि आपके बच्चे का नाम पंडितों की देखरेख में रखा जाए। एक शुभ दिन वह है जो नवजात शिशु के साथ-साथ उसके जीवन को भी हर तरह से लाभ पहुंचाता है।

अब जब आप जानते हैं, कि एक बच्चे के नामकरण समारोह को करना इतना फलदायी और सहायक क्यों है, तो नामकरण संस्कार के शुभ मुहूर्त 2022 पर एक नज़र डालते हैं, जिसकी मदद से आप अपने छोटे बच्चे के लिए योजना बनाते समय नियोजित कर सकते हैं।

जनवरी 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
03 जनवरी से 04 जनवरी, 2022दोपहर 01:33 से सुबह 07:10मूल
05 जनवरी से 06 जनवरी, 2022सुबह 07:19 से सुबह 07:11आषाढ़
08 जनवरी से 09 जनवरी, 2022सुबह 06:20से सुबहl 07:19शतबीषा
09 जनवरी से 10 जनवरी, 2022सुबह 07:19 से सुबह 07:49भद्र
13 जनवरी से 14 जनवरी, 2022शाम 05:07 से सुबह 07:19भद्र
18 जनवरी से 19 जनवरी, 2022सुबह 04:37 से सुबह 07:19आंद्रा
21 जनवरी से 22 जनवरी, 2022सुबह 12:23 से सुबह 07:13आश्लेषा
23 जनवरी से 24 जनवरी, 2022सुबह 11:09 से सुबह 11:15फाल्गुनी
27 जनवरी से 28 जनवरी, 2022सुबह 08:51 से सुबह 09:10स्वाति

फरवरी 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
02 फरवरी से 03 फरवरी, 2022सुबह 07:13 से शाम 05:53आषाढ़
04 फरवरी से 05 फरवरी, 2022दोपहर 03:58 से रात 10:11धनिष्ठा
06 फरवरी से 07 फरवरी, 2022सुबह 07:10 से शाम 06:58भद्र
10 फरवरी से 11 फरवरी, 2022सुबह 07:10 से शाम 06:58अश्विनी
14 फरवरी से 15 फरवरी, 2022सुबह 11:53 से सुबह 07:04आर्द्रा
20 फरवरी, 2022सुबह 06:59 से शाम 04:42फाल्गुनी
23 फरवरी से 24 फरवरी, 2022दोपहर 02:40 से दोपहर 01:31चित्रा
27 फरवरी से 28 फरवरी, 2022सुबह 08:48 से सुबह 06:51ज्येष्ठ

मार्च 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
04 मार्च से 05 मार्च, 2022सुबह 01:56 से सुबह 11:46भद्र
06 मार्च से 07 मार्च, 2022सुबह 06:45 सुबह 11:51अश्विनी
09 मार्च, 2022सुबह 08:31 से दोपहर 02:35रोहिणी
13 मार्च से 14 मार्च, 2022रात 08:06 से रात 10:08पुनर्वसु
19 मार्च से 20 मार्च, 2022सुबह 12:18 से सुबह 06:31हस्त
23 मार्च, 2022सुबह 06:59 से शाम 04:42ज्येष्ठ:
27 मार्च से 28 मार्च, 2022सुबह 06:21 से सुबह 09:19श्रवण
31 मार्च से 01 अप्रैल, 2022सुबह 10:30 से सुबह 11:45भद्र

अप्रैल 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
03 अप्रैल, 2022सुबह 06:13 से दोपहर 12:37अश्विनी
06 अप्रैल, 2022सुबह 06:10 से रात 10:41रोहिणी
10 अप्रैल से 11 अप्रैल, 2022सुबह 06:06 से सुबह 06:51पुष्य
15 अप्रैल, 2022सुबह 09:35 से शाम 05:59फाल्गुनी
19 अप्रैल से 20 अप्रैल, 2022सुबह 03:38 से सुबह 05:56अनुराधा
22 अप्रैल, 2022सुबह 08:14 से शाम 05:52आषाढ़
24 अप्रैल, 2022सुबह 05:51 से रात 08:12श्रवण
24 अप्रैल से 28 अप्रैल, 2022सुबह 05:05 से सुबह 11:46शतभिषा

मई 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
03 मई से 04 मई, 2022सुबह 12:34 से सुबह 05:44रोहिणी
04 मई से 05 मई, 2022सुबह 05:43 से सुबह 06:16मृगशीर्ष
08 मई, 2022शाम 05:40 से दोपहर 02:57आश्लेषा
12 मई से 13 मई, 2022शाम 07:30 से रात 10:48फाल्गुनी
16 मई से17 मई, 2022दोपहर 01:18 से रात 08:34अनुराधा
20 मई से 21 मई, 2022सुबह 03:17 से शाम 05:32आषाढ़
22 मई, 2022सुबह 05:32 से रात 10:47धनिष्ठा
30 मई से 31 मई, 2022सुबह 07:12 से सुबह 11:29रोहिणी

जून 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
01 जून, 2022सुबह 05:29 से दोपहर 01:00मृगशीर्ष
03 जून, 2022सुबह 07:05 से शाम 05:28पुनर्वसु
09 जून से10 जून, 2022सुबह 04:31 से सुबह 09:26फाल्गुनी
12 जून, 2022सुबह 11:58 से रात 09:24स्वाति
16 जून, 2022सुबह 12:37 से शाम 05:28आषाढ़
19 जून से 20 जून, 2022सुबह 05:28 से सुबह 05:56धनिष्ठा
21 जून से 22 जून, 2022सुबह 04:35 से सुबह 05:29भद्र
22 जून से 23 जून, 2022सुबह 05:29 से सुबह 08:04भद्र
26 जून, 2022सुबह 01:06 से शाम 05:31कृतिका

अगस्त 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
03 अगस्त, 2022सुबह 05:48 से शाम 06:24हस्त
07 अगस्त, 2022सुबह 05:50 से शाम 04:30अनुराधा
10 अगस्त,2022सुबह 09:40 से दोपहर 01:35आषाढ़
14 अगस्त, 2022सुबह 09:56 से शाम 05:55शतभिषा
17 अगस्त, 2022सुबह 05:56 से रात 09:57रेवती
20 अगस्त से 21 अगस्त, 2022सुबह 01:53 से सुबह 05:57कृतिका
24 अगस्त से 25 अगस्त, 2022सुबह 01:39 से दोपहर 01:39पुनर्वसु
29 अगस्त, 2022सुबह 11:04 से शाम 06:02फाल्गुनी

सितंबर 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
02 सितंबर, 2022सुबह11:47 से शाम 06:04चित्रा
07 सितंबर से 09 सितंबर, 2022सुबह 06:06 से सुबह 11:35आषाढ़
11 सितंबर से 12 सितंबर, 2022सुबह 08:02 से रात 11:09शतभिषा
14 सितंबर से 15 सितंबर, 2022सुबह 06:10 से सुबह 06:57रेवती
16 सितंबर से 17 सितंबर, 2022सुबह 09:55 से सुबह 11:11भरनी
18 सितंबर, 2022सुबह 01:53 से सुबह 05:57आषाढ़
21 सितंबर, 2022सुबह 06:13 से रात 11:47फाल्गुनी
26 सितंबर से 27 सितंबर, 2022सुबह 05:55 से सुबह 06:16फाल्गुनी
30 सितंबर, 2022सुबह 05:13 से शाम 04:19विशाखा

अक्टूबर 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
04 अक्टूबर से 05 अक्टूबर, 2022सुबह 12:25 से सुबह 06:20आषाढ़
05 अक्टूबर, 2022सुबह 06:20 से शाम 07:42आषाढ़
9 अक्टूबर से 10 अक्टूबर, 2022सुबह 06:22 से सुबह 08:23भद्र
13 अक्टूबर, 2022सुबह 06:41 से शाम 06:26भरणी
18 अक्टूबर से 19 अक्टूबर, 2022सुबह 05:12 से सुबह 06:28पुनर्वसु
19 अक्टूबर से 20 अक्टूबर, 2022सुबह 06:28 से सुबह 08:02पुष्य
23 अक्टूबर, 2022सुबह 02:34 से दोपहर 02:42फाल्गुनी
27 अक्टूबर से 28 अक्टूबर, 2022सुबह 12:11 से सुबह 10:42ज्येष्ठ
31 अक्टूबर से 1 नवंबर, 2022सुबह 05:47 से सुबह 06:37आषाढ़

नवंबर 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
02 नवंबर, 2022सुबह 06:38 से दोपहर 01:43आषाढ़
05 नवंबर से 6 नवंबर, 2022दोपहर 12:12 से सुबह 06:40भद्र
06 नवंबर, 2022सुबह 06:22 से शाम 08:23भद्र
10 नवंबर, 2022सुबह 06:41 से दोहपर 12:37कृतिका
14 नवंबर से 15 नवंबर, 2022सुबह 05:12 से सुबह 06:28भद्र
20 नवंबर, 2022सुबह 06:52 से दोपहर 12:36फाल्गुनी
23 नवंबर से 24 नवंबर, 2022रात 09:37 से शाम 07:37स्वाती
27 नवंबर, 2022सुबह 12:38 से शाम 06:59मूल
30 नवंबर से 01 दिसंबर, 2022सुबह 06:59 से सुबह 07:11श्रवण

दिसंबर 2022 में नामकरण मुहूर्त

तिथिशुभ मुहूर्तनक्षत्र
02 दिसंबर से 03 दिसंबर, 2022सुबह 05:44 से सुबह 07:02भद्र
04 दिसंबर से 05 दिसंबर, 2022सुबह 07:03 से सुबह 07:15रेवती
07 दिसंबर, 2022सुबह 10:25 से दोपहर 02:59कृतिका
11 दिसंबर से 12 दिसंबर, 2022शाम 08:36 से रात 11:36आर्द्रा
18 दिसंबर से 19 दिसंबर, 2022सुबह 07:12 से सुबह 10:18हस्त
21 दिसंबर से 22 दिसंबर, 2022सुबह 08:33 से सुबह 11:33विशाखा
25 दिसंबर से 26 दिसंबर, 2022सुबह 07:15 से सुबह 09:16आषाढ़
29 दिसंबर, 2022सुबह 11:44 से शाम 07:18शतभिषा

अपने बच्चे का नामकरण कब करें?

बच्चे का नामकरण संस्कार उसके जन्म के 10वें दिन के बाद किया जाना चाहिए। आप इसे अपने बच्चे के जन्म के 12वें दिन के बाद भी कर सकते हैं। यह शुद्धिकरण होने के बाद या सूतिका चरण के खत्म होने के बाद होना चाहिए। यह अवधि नामकरण संस्कार के लिए अधर्मी मानी जाती है। इसलिए यह आवश्यक है कि आप इन दस दिनों के बाद अपने बच्चे के नामकरण समारोह की योजना बनाएं।

आप इसके लिए कोई भी मुहूर्त या शुभ तिथि चुन सकते हैं। हालाँकि, अधिक विवरण के लिए आप किसी ज्योतिषी या पुजारी से बात कर सकते हैं। साथ ही अपने बच्चे को एक आधिकारिक नाम दे सकते हैं, जो उसके पूरे जीवन उसके साथ रहेगा।

इसके अलावा, आप अपने बच्चे के दो नाम रख सकते हैं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि एक उपनाम और एक आधिकारिक नाम रखने से आपको दो नामों की पहचान रखने में मदद मिलती है। यह मजबूत और बेहतर प्रभाव डालता है। हालाँकि, दो से अधिक नाम रखने से उस नाम की ऊर्जा विभाजित हो जाती हैं। इस प्रकार आपको याद रखना चाहिए कि आपके बच्चे के नामकरण समारोह 2022 के दौरान अपको अपने बच्चे के ज्यादा नाम नहीं रखने चाहिए।

नामकरण के लिए सर्वश्रेष्ठ तिथि, नक्षत्र और दिन

बेशक, वह बच्चा आपका है और आप जब चाहें उसका नाम रख सकते हैं। हालाँकि, यह बेहतर होगा कि आप किसी शुभ तिथि, दिन और नक्षत्र को देखकर और उसकी समीक्षा करने के बाद उसका नाम रखें।

इस प्रकार, हिंदू पंचांग के अनुसार 2022 के नामकरण समारोह के लिए सबसे अच्छी तिथि नवमी, एकादशी, षष्ठी और चतुर्दशी है। नामकरण संस्कार करने के लिए सबसे अच्छे दिन सोमवार, बुधवार और शुक्रवार हैं। गुरुवार को भी नामकरण किया जा सकता हैं। आप वर्ष 2022 में किसी भी महीने के इन दिनों में से किसी एक को चुन सकते हैं।

हालाँकि, हमने उन सभी नक्षत्रों का उल्लेख किया है जो 2022 के बच्चे के नामकरण समारोह के लिए शुभ हैं। कुछ नक्षत्र दूसरों की तुलना में अधिक अनुकूल होते हैं। इस प्रकार अश्विनी, शताभिषक, स्वाति, चित्रा और हस्त नक्षत्र नामकरण के लिए अत्यधिक अनुकूल हैं। इसके साथ ही श्रवण, अनुराधा और रोहिणी को भी 2022 में बच्चे के नामकरण समारोह की योजना बनाते समय सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

2022 में नामकरण मुहूर्त का महत्व

नामकरण संस्कार हिंदू धर्मग्रंथों में पांचवां संस्कार है। आखिरी सांस तक आपको इसी नाम से पुकारा जाएगा। जीवन में जिन लोगों से आप मिलेंगे वह आपको इसी नाम से पहचानेंगे। इस प्रकार नवजात शिशु के जीवन में शिशु नामकरण संस्कार का अत्यधिक महत्व होता है।

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप उसका नाम क्या रखते हैं, मगर फिर भी आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि किसी ज्योतिषी या पुजारी के निर्देशानुसार यह कार्य करें। ऐसा इसलिए है क्योंकि नाम रखने वाली ऊर्जा आपके बच्चे के पक्ष में रहेगी। यह उसे सफल और उसके जीवन को अच्छा बनाने में मदद करेगी। इस प्रकार, बच्चे का नाम बुद्धिमानी से चुनना आपके ही हाथ में है, और नामकरण संस्कार शुभ मुहूर्त 2022 चुनना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

2022 में नामकरण मुहूर्त के दौरान याद रखने योग्य बातें

अपने बच्चे के लिए नामकरण की तैयारी करते समय आपको निश्चित रूप से कुछ सावधानियां बरतनी होंगी। उसी के लिए हमने 2022 में नामकरण समारोह की योजना बनाते समय कुछ सावधानियों को नीचे सूचीबद्ध किया है जिन्हें आपको याद रखना चाहिए:

  • सुनिश्चित करें कि आप उस स्थान को साफ और शुद्ध करें। जहां समारोह आयोजित किया जाना है। आप चाहें तो घर पर या भगवान की कृपा से किसी मंदिर में योजना बना सकते हैं।
  • 2022 में नामकरण समारोह के लिए शुभ मुहूर्त चुनना न भूलें। यह आपके बच्चे के समारोह को उपयुक्त बना देगा।
  • साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि आप नामकरण के दिन अपने घर पर मांसाहारी खाना न ही खाएं और ना ही बनाएं। साथ ही शराब और अन्य अपवित्र गतिविधियों से भी दूर रहें।
  • साथ ही पंडित आपको ठीक से मार्गदर्शन करेंगे। फिर भी आपको नामकरण समारोह 2022 पर कुछ गतिविधियों को याद रखना चाहिए। जैसे पिता को अपनी दाढ़ी और बाल काटने से बचना चाहिए। साथ ही नामकरण वाले दिन आपको सुबह गाय को रोटी देनी चाहिए।

नामकरण शुभ मुहूर्त 2022 के विषय में अधिक जानकारी के लिए, हमारे अनुभवी ज्योतिषियों से ऑनलाइन बात करें।


DAILY HOROSCOPE

मेष

Mar 21 - Apr 19

वृषभ

Apr 20 - May 20

मिथुन

May 21 - Jun 21

कर्क

Jun 22 - Jul 22

सिंह

Jul 23 - Aug 22

कन्या

Aug 23 - Sep 22

तुला

Sep 23 - Oct 23

वृश्चिक

Oct 24 - Nov 21

धनु

Nov 22 - Dec 21

मकर

Dec 22 - Jan 19

कुंभ

Jan 20 - Feb 18

मीन

Feb 19 - Mar 20

निःशुल्‍क ज्योतिष सेवाएं