Author: Aacharya Sagar Ji

Latest Astrology Blog 2020

Get latest Astrology topics on Top Astrology Website in India about News | Horoscope | Sports | Bollywood | Entertainment

Best phone number according to Numerology-Know Here

Best phone number according to Numero...

Nature has everything except for the word NO. Everything that exists in nature and the universe sketches an impression on our lives in one way or another. Similar to planets and their conjunctions, numbers {…}

Read More
मोबाइल नंबर- कैसे नंबर आपको सफलता की ओर ले जा सकते हैं

मोबाइल नंबर- कैसे नंबर आपको सफलता की ...

अंक ज्योतिष में प्रत्येक ग्रह के लिए 1 से लेकर 9 तक अंक है, ज्योतिष के अनुसार यही नौ ग्रह मनुष्य के जीवन पर प्रभाव डालते हैं। साथ ही, इन्ही ग्रहों के प्रभाव के {…}

Read More
काल सर्प दोष- कारण, प्रभाव और निवारण

काल सर्प दोष- कारण, प्रभाव और निवारण

“ काल सर्प दोष / योग कष्ट कारक एवं ऐश्वर्यदायक है “ सामान्य अवधारणा है कि जब कुंडली में राहू और केतु ग्रह के मध्य में या इनके प्रभाव में सभी ग्रह आ जाते {…}

Read More
स्वास्थ्य उपाय क्या होते है? Best Health Remedies

स्वास्थ्य उपाय क्या होते है? Best Hea...

हम अपने जीवन में जाने या अनजाने निरंतर ही उपाय Remedies करते रहते हैं। उपाय हमे कष्टों को सहने की शक्ति मिलती है और हम सकारात्मकता की ओर अग्रसर हो जाते है। यदि हम {…}

Read More
औषधि स्नान- Medical Bath to Please Planets

औषधि स्नान- Medical Bath to Please Pl...

औषधि स्नान का महत्व भारतीय चिकित्सकीय ग्रंथों में मिलता है । प्राचीन आयुर्वेदशास्त्री इस बात की महत्ता को भली-भांति जानते थे। औषधि स्नान ज्योतिष में भी महत्वपूर्ण माना गया है । यदि कोई व्यक्ति {…}

Read More
गुण तो मिले पर शादी टूट गयी- क्यों?

गुण तो मिले पर शादी टूट गयी- क्यों?

जब हम लड़का लड़की के भावी वैवाहिक जीवन के लिए कुंडली मिलान करते है तो आमतौर पर गुण मिलाये जाते है। अधिकतम 36 गुणों में से 18 गुणों के मिलने पर विवाह को स्वीकृति {…}

Read More
सप्ताह के सात दिनों के लिए सात तिलक- जागृत होगा भाग्य

सप्ताह के सात दिनों के लिए सात तिलक- ...

यदि पूर्वजों की माने तो, तिलक यथार्थ सौभाग्य का संचालक। प्राचीन समय में जब लोग शुभ कार्यो के लिए जाते थे या कोई शुभ कार्य शुरू करते थे या फिर प्रतिदिन के कार्यो में {…}

Read More