बुध गोचर 2022ः 25 अप्रैल को होने वाला है वृषभ राशि में बुध ग्रह का बड़ा गोचर, जानें किस राशि को होगा धन लाभ

बुध गोचर
WhatsApp

बुध गोचर 2022ः ज्योतिष शास्त्र में ग्रह बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। क्योंकि इन्हीं ग्रहों के आधार पर जातक के जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण भविष्यवाणी की जाती है। साथ ही जब यह ग्रह एक राशि से निकलकर दूसरी राशि में गोचर करते हैं, तो जातक के जीवन पर इसका सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह के प्रभाव पड़ते हैं। आपको बता दें कि बुध ग्रह को सूर्य का सबसे निकट ग्रह कहा जाता है। इसी के साथ बुध ग्रह किसी जातक की कुंडली में लेखन, व्यापार, वाणी और बुद्धि का कारक कहा जाता है। बता दें कि जब किसी जातक की कुंडली के छठे, आठवें और बारहवें भाव में बुध स्थित होता है, तो जातक को प्रतिकूल परिणाम प्राप्त होते हैं। वहीं बुध ग्रह को संचार का ग्रह भी कहा जाता है। 

आपको बता दें कि अगर किसी जातक की कुंडली में बुध ग्रह मजबूत होता है, तो उस व्यक्ति को सभी क्षेत्रों में सफलता प्राप्त होती है। लेकिन अगर किसी जातक की कुंडली में बुध कमजोर होता है, तो व्यक्ति को नकारात्मक परिणामों का सामना करना पड़ता है।  वहीं 25 अप्रैल 2022 को बुध गोचर होने वाला है, जिसका सभी राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा।

आपको बता दें कि बुध ग्रह 25 अप्रैल 2022 को वृषभ राशि में गोचर करेगा, जिसके कारण सभी राशियों के जातकों को जीवन पर अलग-अलग परिणाम प्राप्त होंगे। साथ ही बुध ग्रह मेष राशि से निकलकर वृषभ राशि में गोचर करेगा। बाकि ग्रहों की तुलना में बुध ग्रह काफी तेज गति से आगे बढ़ता है। यही कारण है कि बुध गोचर की अवधि अन्य ग्रहों की तुलना में काफी कम होती है। वहीं बुध ग्रह प्रत्येक राशि में लगभग 14 दिन तक रहता है। चलिए जानते हैं कि बुध गोचर का सभी राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा- 

ज्योतिष शास्त्र में बुध ग्रह का महत्व

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सभी ग्रहों का अपना अलग-अलग महत्व होता है। वही यह ग्रह सभी राशियों पर अलग-अलग प्रभाव डालते हैं। उसी तरह बुध ग्रह भी ज्योतिष शास्त्र में काफी अहम माना जाता है। क्योंकि बुध गोचर के कारण जातक के जीवन पर विभिन्न प्रभाव पड़ते हैं। जब किसी जातक की कुंडलीं बुध कमजोर होता है, तो उस जातक के परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जब किसी जातक की कुंडली में बुध की दशा अच्छी होती है, तो जातक को काफी लाभ होता है। 

आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में बुध ग्रह को राजकुमार ग्रह कहा जाता है। साथ ही यह ग्रह सूर्य के सबसे निकट स्थित है। साथ ही बुध वाणिज्य, व्यापार, बैंकिंग और कंप्यूटर, सेंटर का कारक होता है।

बुध गोचर का समय

आपको बता दें कि बुध ग्रह मेष राशि से निकलकर 25 अप्रैल 2022 को वृषभ राशि में गोचर करेगा। आपको बता दें कि बुध ग्रह  25 अप्रैल यानी सोमवार को सुबह 12 बजकर 24 मिनट पर मेष राशि से वृषभ राशि में युति करेगा और यह यहां पर 2 जुलाई 2022 तक स्थित रहेगा।

साथ ही बुध ग्रह का शुक्र की वृषभ राशि में गोचर जातक को गणित में अच्छा प्रदर्शन करने और जल्दी निर्णय लेने में सक्षम बनाएगा। आपको बता दें कि बुध की कृपा से जातक को सुख-सुविधापूर्ण अपना जीवन व्यतीत करने का मौका मिलेता है। साथ ही उनके जीवन में खुशियां भी आती है। 

बुध गोचर का सभी राशियों पर प्रभाव

मेष राशि

  • मेष राशि के जातकों के लिए बुद्ध उनके तीसरे, छठे भाव से जातक के दूसरे भाव में संचरण करेगा।
  • जिसके कारण इस राशि वालों को शिक्षा एवं धन आदि का लाभ होगा।
  • दूसरे भाव में बुध गोचर के कारण जातक की वाणी में मधुरता आएगी।
  • साथ ही यह गोचर इन जातकों के लिए कई चुनौतीपूर्ण परिस्थितियां उत्पन्न करेगा।
  • प्रेम जीवन की बात करें, तो आपको अपने प्रेम जीवन पर विशेष ध्यान देना चाहिए।
  • बुध गोचर के दौरान आपको कुछ समय निकालकर अपने जीवन साथी के साथ अच्छे पलों का आनंद लेना चाहिए।
  • इसी के साथ आपका स्वास्थ्य काफी अच्छा रहेगा।
  • आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। लेकिन आपको छोटी-मोटी परेशानियां हो सकती हैं, इसीलिए अपना ध्यान जरूर रखें।

वृषभ राशि

  • बुध वृषभ राशि से पांचवे भाव से होकर प्रथम भाव में विराजमान होगा।
  • जिसके कारण इस राशि वालों के सभी क्षेत्र में काफी परिवर्तन आऐगा। 
  • इसी के साथ इस गोचर के दौरान आप अपने परिवार के साथ अच्छा समय बिताएंगे।
  • साथ ही आप अपने जीवन साथी के साथ भी अच्छे पलों का आनंद लेंगे।
  • वहीं आपको आपके जीवन साथी का पूरा साथ मिलेगा और आप उन्हें समझने की कोशिश करेंगे।
  • साथ ही आर्थिक रूप से आपके जीवन में अनुकूलता आएगी।
  • अगर आप अपना नया घर बनाना या खरीदना चाहते हैं, तो यह समय इसके लिए बिल्कुल सही है।
  • व्यापारियों के लिए बुध गोचर विशेष लाभदायक है ।

मिथुन राशि

  • मिथुन राशि के लिए बुध प्रथम और चौथे भाव का स्वामी है और यह अपने इस गोचर के दौरान द्वादश भाव में संचरण करेगा।
  • जिसके कारण इस राशि वालों के जीवन में कई तरह की परेशानियां आ सकती है।
  • साथ ही अपने पेशेवर जीवन में भी कई मुद्दों से जूझना पड़ सकता है।
  • बुध गोचर के दौरान आपको निवेश करने से बचना चाहिए।
  • साथ ही आपको अपने खर्चों पर भी नियंत्रण करना चाहिए क्योंकि आपके खर्चे अधिक बढ़ सकते हैं।
  • आपको अपने निजी जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड सकता है।
  • आपके और आपके परिवार, जीवनसाथी के बीच वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है।
  • कुल मिलाकर यह गोचर आपके लिए परेशानियों भरा रहेगा।

कर्क राशि

  • बुध गोचर कर्क राशि के एकादश भाव में गोचर करेगा।
  • जिसके कारण आपकी आय पर विशेष प्रभाव पड़ेगा।
  • यह बुध गोचर आपको अनुकूल परिणाम देगा। साथ ही आपकी इच्छाएं भी पूर्ण होगी।
  • इसी के साथ आपके धन क्षेत्र में भी वृद्धि होगी।
  • आपको बता दें कि बुध गोचर के दौरान आप अच्छी नौकरी या उच्च पद प्राप्त कर सकते हैं
  • निवेश करने के लिए यह समय बिल्कुल उत्तम है।
  • साथ ही आप अपने दोस्तों और करीबी मित्रों के साथ अच्छा रिश्ता स्थापित करेंगे।
  • स्वास्थ्य की दृष्टि से यह गोचर आपके लिए फलदाई होगा।
  • कुल मिलाकर इस गोचर का आपको अच्छा परिणाम मिलेगा।

सिंह राशि

  • बुध गोचर सिंह राशि के दशम भाव में होगा।
  • जिसके कारण कार्य क्षेत्र पर आपको अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे।
  • वही कार्य क्षेत्र पर किए गए कार्य आपको शुभ फल देंगे।
  • इस बुध गोचर के कारण आपको मान-सम्मान प्राप्त होगा।
  • साथ ही आपकी रचनात्मक क्षमता में भी वृद्धि होगी।
  • आर्थिक दृष्टि से यह गोचर आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।
  • आप अपने परिवार और जीवन साथी के साथ अच्छे समय का आनंद लेंगे।
  • इस दौरान आप शांतिपूर्ण समय का आंनद लेंगे और आपका मन भी शांत रहेगा।

कन्या राशि

  • कन्या राशि के नवम भाव में बुध गोचर होगा।
  • इस गोचर के कारण आपके करियर पर विशेष प्रभाव पड़ेगा।
  • आपको अपने करियर में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।
  • साथ ही आपको नई नौकरी के अवसर प्राप्त होंगे।
  • आपको सलाह दी जाती है कि आपको अपनी मेहनत कायम रखनी चाहिए। आपको उसका फल जरुर मिलेगा।
  • जो छात्र विदेश जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं, उनके लिए यह  समय बेहद खास हैं और अच्छा रहेगा।
  • इस दौरान आपके  खर्चों में वृद्धि हो सकती है इसलिए सोच समझकर खर्च करें।
  • स्वास्थ्य के लिहाज से आपको छोटी-मोटी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

तुला राशि

  • तुला राशि के अष्टम भाव में बुध गोचर होगा।
  • इसके कारण आपके जीवन में कई प्रकार से उतार-चढ़ाव आएंगे।
  • इस राशि के जातकों के रिश्तो में गलतफहमियां भी उत्पन्न हो सकती हैं।
  • साथ ही आप जल्दबाजी में कई निर्णय लेंगे जिससे आपको बाद में पछताना पड़ सकता है।
  • इसी के साथ आपके परिवार के साथ भी आपके रिश्तो में खटास उत्पन्न हो सकती हैं।
  • वही कार्यस्थल पर आपको अधिक मेहनत करने की आवश्यकता है।
  • इस दौरान आपको आर्थिक रूप से धन और वित्त संबंधी नुकसान होने की अधिक संभावना है।

वृश्चिक राशि

  • वृश्चिक राशि के सप्तम भाव में बुध गोचर होगा।
  • जिसके कारण आपके प्रेम जीवन पर विशेष प्रभाव पड़ेगा।
  • इस गोचर के दौरान आपका और आपके साथी का रिश्ता काफी मजबूत बनेगा।
  • वही आपके मान-सम्मान में भी वृद्धि होगी।
  • इसी के साथ आपको धन लाभ होगा।
  • जो जातक नए व्यापार की योजना बना रहे हैं उनके लिए समय बिल्कुल उत्तम है।
  • वह इस गोचर के दौरान वैवाहिक जातकों के जीवन में किसी प्रकार का कष्ट आ सकता है।
  • साथ ही आपका और आपके साथी का झगड़ा या वाद-विवाद हो सकता है।
  • जो लोग किसी योग्य साथी की तलाश कर रहे है उन्हें एक अच्छे रिश्ते में आने का मौका मिलेगा।
  • इसी के साथ आपको सरकारी माध्यम से लाभ होगा। 

धनु राशि

  • धनु राशि के छठे भाव में बुध गोचर होगा।
  • इस भाव को शत्रु का भाव कहा जाता है।
  • इस दौरान इस राशि के जातकों को अपने व्यापार में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद सफलता प्राप्त होगी।
  • साथ ही आपको इस गोचर में विशेष लाभ होने की भी संभावना है।
  • कार्यस्थल पर आपको पदोन्नति मिलने की अधिक संभावना है।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात जल्दबाजी में किसी भी तरह का निर्णय ना लें। क्योंकि आपको नुकसान हो सकता है।
  • छात्रों को अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • साथ ही आपको जीवन साथी के स्वास्थ्य पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

मकर राशि

  • मकर राशि के पंचम भाव में बुध गोचर होगा।
  • इस भाव को संतान भाव के नाम से जाना जाता है।
  • इस गोचर के दौरान मकर राशि वालों को कार्यक्षेत्र पर सफलता प्राप्त होगी।
  • वही छात्रों के लिए यह गोचर काफी लाभदायक होगा।
  • व्यापारियों को इस दौरान विशेष लाभ होने की अधिक संभावना है।
  • इस राशि को प्रेम जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • इस दौरान आपका स्वास्थ्य बिल्कुल अच्छा रहेगा।

कुंभ राशि

  • बुध कुंभ राशि के चौथे भाव में गोचर करेगा।
  • आपको बता दें कि चौथे भाव को सुख का भाव माना जाता है।
  • इस गोचर के कारण कुंभ राशि वालों के जीवन में कुछ उतार-चढ़ाव आ सकते हैं।
  • कार्यक्षेत्र पर आपको अपने काम पर अधिक ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।
  • व्यापारियों को हर कार्य को करने में अधिक मेहनत करने की जरूरत है।
  • इसी के साथ प्रेम संबंध के लिए यह समय अनुकूल है।
  • आपका और आपके साथी का रिश्ता और भी मजबूत होगा।
  • यह समय आपके लिए लाभदायक रहेगा, और यह समय ससुराल पक्ष के लिए उत्तम रहेगा।
  • इस गोचर के दौरान आपको अपने स्वाथ्य पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। क्योंकि इस दौरान की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

मीन राशि

  • मीन राशि के तीसरे भाव में बुध गोचर होगा।
  • तीसरे भाव को सहज भाव कहा जाता है।
  • इस गोचर के दौरान जातक को संचार कौशल में सुधार देखने को मिल सकता है।
  • आर्थिक क्षेत्र के लिए यह गोचर काफी महत्वपूर्ण है।
  • इसी के साथ आपके तनाव में वृद्धि देखने को मिल सकती है।

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 1,143 

WhatsApp

Posted On - March 29, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 1,143 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation