हनुमान जयंती 2023: जानें बजरंगबली की पूजा विधि से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें और शुभ मुहूर्त

Hanuman Jayanti 2023 हनुमान जयंती 2023, बजरंगबली की पूजा विधि से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें
WhatsApp

हिंदू धर्म में, श्रीराम भक्त हनुमान जी बेहद ही पूजनीय है और हनुमान जंयती को लेकर भक्तों में काफी उत्साह होता है। साथ ही हनुमान जयंती वर्ष में दो बार मनाई जाती है। पहली जंयती चैत्र महीने के शुक्ल पूर्णिमा के दिन और दूसरी बार वैशाख महीने के कृष्ण पक्ष की पंचमी के दिन मनाई जाती है। चैत्र महीने की हनुमान जयंती को बड़ी हनुमान जयंती या चैत्र पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन के अवसर पर, हिंदू धर्म के अनुयायी भगवान हनुमान का पूजन करते हैं और उनके जीवन के महत्वपूर्ण कार्यों के बारे में जानने का प्रयास करते हैं। हर साल की तरह हनुमान जंयती 2023 (Hanuman Jayanti 2023) में भी काफी उत्साह के साथ मनाई जाएगी।

वैशाख महीने की हनुमान जयंती को छोटी हनुमान जयंती या हनुमान जयंती की पंचमी कहा जाता है। इस दिन, भगवान हनुमान के जन्म के अवसर पर, उनका पूजन करना बहुत शुभ माना जाता है और लोग उनके उपासना के लिए जुटते हैं।

यह दो बार हनुमान जयंती का आयोजन करने का मुख्य कारण यह है कि दोनों तिथियां भगवान हनुमान के जीवन के अलग-अलग महत्वपूर्ण कार्यों से संबंधित होती हैं। हनुमान जयंती हिंदू धर्म में एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार होता है। इस दिन भगवान हनुमान जी का जन्मदिन मनाया जाता है और उनकी पूजा-अर्चना की जाती है। साथ ही भगवान हनुमान को भक्तों के बीच एक महान योद्धा और भक्त होने के लिए जाना जाता है। जयंती के दिन लोग भगवान हनुमान जी की पूजा करते हैं और उन्हें फल, फूल, मिठाई और प्रसाद के रूप में अर्पित करते हैं। बता दें क कि भगवान हनुमान की आराधना से लोगों को शक्ति और सामर्थ्य की प्राप्ति होती है।

हनुमान जयंती 2023: शुभ मुहूर्त और तिथि

हनुमान जयंती 2023 6 अप्रैल 2023, गुरुवार
पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ5 अप्रैल 2023 को 09ः19 बजे
पूर्णिमा तिथि समापन6 अप्रैल 2023 को 10ः04 बजे

हनुमान जी की पूजा अत्यंत महत्वपूर्ण होती है और उसमें भक्तों को कई आशीर्वाद मिलते हैं। यह पूजा स्वास्थ्य, धन, सुख, समृद्धि, शांति और समस्त कष्टों से मुक्ति प्रदान करती है। हनुमान जी को भक्तों का संकट हरने वाला देवता माना जाता है और उन्हें अपने शक्तिशाली वरदानों की प्राप्ति के लिए पूजा जाता है। हनुमान जी की पूजा करने से भक्तों को समस्त दुःखों से मुक्ति मिलती है। भक्त इस पूजा के माध्यम से हनुमान जी की कृपा को प्राप्त कर अपने जीवन के सभी क्षेत्रों में सफलता हासिल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि 2023 का पहला दिन, ऐसे करें मां शैलपुत्री की पूजा, मिलेगा आशीर्वाद

हनुमान जी से जुड़ी पवित्र कथा

हिंदू धर्म में पौराणिक ग्रंथो के अनुसार हनुमान जी की कथा बहुत प्रसिद्ध है और हिंदू धर्म के अनुयायी उनके बारे में अधिक जानना चाहते हैं। हनुमान जी की कथा कुछ इस प्रकार है: 

पौराणिक ग्रंथो के अनुसार अंजना नामक एक अप्सरा थीं। हालांकि, उन्हें श्राप के कारण पृथ्वी पर जन्म लेना पड़ा और यह श्राप उनपर तभी खत्म हो सकता था जब वे एक संतान को जन्म देती। भगवान वाल्मीकि रामायण के अनुसार केसरी भगवान हनुमान जी के पिता थे और वे सुमेरू के राजा थे। बता दें कि केसरी भगवान बृहस्पति के पुत्र थे। माता अंजना ने संतान प्राप्ति के लिए 12 वर्षों तक भगवान शिव की घोर तपस्या की और इसके परिणाम स्वरूप उन्हें संतान के रूप में भगवान हनुमान जी की प्राप्ति हुई। ऐसा कहा जाता है कि भगवान हनुमान, शिव जी के ही अवतार हैं।

हनुमान जयंती पर ग्रह दशा

ज्योतिष के अनुसार हनुमान जयंती पर ग्रह दशा बहुत महत्वपूर्ण होती है। हनुमान जयंती के दिन भक्तों को अपनी ग्रह दशा को समझने और संतुलित करने के लिए अत्यंत शुभ मुहूर्त होता है। भक्त इस दिन विशेष उपायों और पूजा विधियों का अनुसरण करके अपनी ग्रह दशा को संतुलित कर सकते हैं।

अधिकतर ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि हनुमान जयंती के दिन सूर्य ग्रह उच्च स्थान में होता है। इस दिन ग्रहों की शुभ चाल बढ़ जाती है और नकारात्मक ऊर्जा कम हो जाती है। इसलिए, भक्तों के लिए यह अत्यंत शुभ मुहूर्त होता है जब वे अपनी ग्रह दशा को संतुलित कर सकते हैं।

इस दिन भक्तों को सूर्य ग्रह की उपासना करनी चाहिए और सभी ग्रहों के शुभ विभावों का ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा, हनुमान जी की पूजा करने से भी ग्रहों की दशा संतुलित होती है और भक्तों को सफलता मिलती है। इसलिए, हनुमान जयंती पर भक्तों को अपनी ग्रह दशा के अनुसार उपाय और पूजा करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि 2023 का तीसरा दिन, जरूर करें मां चंद्रघंटा की पूजा मिलेगा परेशानियों से छुटकारा

इस विधि अनुसार करें बजरंगबली की पूजा

हनुमान जी की पूजा निम्नलिखित विधि से की जाती है:

  • भगवान हनुमान की पूजा शुद्ध और साफ रूप से सजाए गए मंदिर में करनी चाहिए। आप उनकी पूजा अपने घर पर या बाहर मंदिर में जाकर भी कर सकते है। लेकिन ध्यान रखें कि इनकी पूजा का स्थान साफ होना चाहिए।
  • पूजा करने के लिए सबसे पहले आप हनुमान जी की मूर्ति के सामने ध्यान करें और उन्हें वस्त्र, माला, अक्षत और फूल आदि अर्पित करें।
  • इसके बाद अपने हाथों को धोकर आसन पर बैठें और गणपति, कुंडलिनी शक्ति, नवग्रहों और देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करें।
  • पूजा करने के बाद हनुमान चालीसा, हनुमान अष्टक और अन्य मंत्रों का पाठ जरूर करें।
  • अंत में, हनुमान जी के सामने प्रार्थना करें और उनसे आशीर्वाद मांगें।
  • पूजा करने के बाद, पूजा में उपस्थित सभी लोगों को प्रसाद जरूर बांटें।
  • इस विधि के अलावा, हनुमान जी की पूजा करने के लिए अन्य विधियों और रीति-रिवाजों का अनुसरण भी किया जा सकता है।

भगवान हनुमान की पूजा के लाभ

श्रीराम के परम भक्त यानी हनुमान जी की पूजा करने से भक्तों के सबी दुखों का नाश हो जाता है, क्योंकि भगवान हनुमान जा को संकटमोचन कहा जाता है, जो सभी संकट को हर लेते है। भक्त इस पूजा के माध्यम से हनुमान जी की कृपा को प्राप्त कर अपने जीवन के सभी क्षेत्रों में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। बता दें कि जो भी जातक भगवान हनुमान की पूजा करते है उनके सभी दुःखों के नाश, शांति और सकारात्मक ऊर्जा की प्राप्ति, संकटों से मुक्ति, सफलता, समृद्धि और धन की प्राप्ति, स्वास्थ्य की रक्षा, शत्रुओं से रक्षा होती हैं। इसलिए हनुमान जी की पूजा करना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है और भक्तों को इसे नियमित रूप से करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि 2023 का दूसरा दिन, इन विशेष अनुष्ठानों से करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा और पाएं उनका आशीर्वाद

भगवान हनुमान की पूजा से जुड़े ज़रूरी मंत्र 

आप इस हनुमान जयंती पर इन कुछ प्रसिद्ध मंत्रों का जप कर सकते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  • हनुमान चालीसा मंत्र: आप “जय हनुमान ज्ञान गुन सागर। जय कपीश तिहुँ लोक उजागर॥” हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते है।
  • भगवान हनुमान बीज मंत्र: “ॐ हं हनुमते नमः॥”
  • हनुमान गायत्री मंत्र: “श्री हनुमते नमः। दुहित्रे तपसा चरेण च।”
  • भगवान हनुमान ध्यान मंत्र: “श्री हनुमान ध्यानम्।”
  • हनुमान अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्र: “श्री हनुमान अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम्।”

ये मंत्र भक्तों द्वारा हनुमान जयंती पर जप करने के लिए उपयोगी होते हैं। इन मंत्रों का जप करने से हनुमान भक्तों को शक्ति, संकट से मुक्ति, सुख-समृद्धि और समस्त विपत्तियों से रक्षा मिलती है।

हनुमान जयंती 2023 पर इन बातों का रखें विशेष ध्यान

आपको हनुमान जयंती के अवसर पर, कुछ विशेष बातें को ध्यान रखना चाहिए, जो इस पवित्र दिन को और भी शुभ बना सकती हैं। यहां कुछ उल्लेखनीय बातें हैं:

  • भगवान हनुमान की पूजा और भक्ति करना जातक के सुखमय होता है। इसलिए हनुमान जयंती के दिन, लोग भगवान हनुमान का विशेष रूप से पूजन करते हैं। उनके चरणों में फूल, दीपक और प्रसाद चढ़ाते है। आप इश दिन उनकी कथा का पाठ और उनके नाम का जाप कर सकते हैं।
  • हनुमान जयंती के दिन कई लोग धर्मिक कार्यों में अपना सहयोग करते हैं। आप भी दूसरों की सहायता कर सकते हैं जैसे कि अन्नदान, वस्त्रदान या धर्मिक कार्यों में सक्रियता दिखाकर अपना सहयोग दे सकते हैं।
  • इस दिन आपको हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। हनुमान चालीसा भगवान हनुमान की स्तुति का एक प्रसिद्ध ग्रन्थ है। आप इसे पढ़ सकते हैं और इसके माध्यम से हनुमान जी की भक्ति कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि 2023 का पांचवा दिन, मां स्कंदमाता की ऐसे करें पूजा, होगी संतान प्राप्ति

हनुमान जयंती पर करें यह उपाय मिलेगा हनुमान जी का आशीर्वाद

भगवान हनुमान जयंती पर कुछ उपाय निम्नलिखित हैं:

  • भगवान हनुमान की पूजा: हनुमान जयंती के दिन भगवान हनुमान की पूजा करना बहुत शुभ माना जाता है। आप अपने घर में उनकी मूर्ति स्थापित कर सकते हैं और विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर सकते हैं।
  • हनुमान चालीसा का पाठ: हनुमान जी की चालीसा का पाठ करना बहुत शुभ माना जाता है। इससे आपको भगवान हनुमान की कृपा प्राप्त होती है और आपके जीवन में समस्याओं का समाधान होता है।
  • भगवान हनुमान के नाम का जाप: हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी के नाम का जाप करना बहुत शुभ माना जाता है। आप हनुमान जी के नाम का जाप करते हुए अपने मन को शांत रख सकते हैं और उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं।
  • सदाचार: हनुमान जयंती के दिन आप सदाचार करने की कोशिश करें। आप अपनी दिनचर्या में अच्छाई लाएं और दूसरों की सहायता करें।
  • दान: हनुमान जयंती के दिन दान देना बहुत शुभ माना जाता है। आप अन्नदान, वस्त्रदान या किसी अन्य दान भी कर सकते हैं।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 1,221 

WhatsApp

Posted On - March 2, 2023 | Posted By - Jyoti | Read By -

 1,221 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation