वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 कैसे प्रत्येक राशि पर प्रभाव डालेगा?

Mercury Retrograde

वृश्चिक राशि में बुध वक्री एक महत्वपूर्ण घटना है, जिसके कारण जातक के जीवन में कई बदलाव हो सकते हैं।  इस दौरान, संचार, प्रौद्योगिकी और यात्रा का ग्रह, बुध अपनी कक्षा में पीछे की ओर गति करता हुआ प्रतीत होता है, जिसके कारण जातक को भ्रम, विलंब और संचार में परेशानी का सामना करना पड़ता है। जैसा कि वृश्चिक एक जल राशि है, जो अपनी तीव्र और परिवर्तनकारी ऊर्जा के लिए जानी जाती है, यह संयोजन जातक के जीवन में भावनात्मक उथल-पुथल और रिश्तों में विश्वास से संबंधित चुनौतियां ला सकता है। आइए वृश्चिक राशि बुध वक्री 2023 के प्रभावों का पता करें।

यह भी पढ़ें: जानें सिंह राशि में शुक्र गोचर 2023 की तिथि और सभी राशियों पर इसका प्रभाव

वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023: तिथि और समय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 13 दिसंबर 2023 को दोपहर 12ः38 पर बुध वृश्चिक राशि में वक्री होगा। यह संयोजन संचार और प्रौद्योगिकी में चुनौतियां ला सकता है, क्योंकि बुध इन क्षेत्रों पर शासन करता है। इसके कारण जातक के रिश्तों में गलतफहमी पैदा हो सकती है। यह आपके लक्ष्यों और रिश्तों के साथ-साथ आपकी इच्छाओं और आशंकाओं का पुनर्मूल्यांकन करने का भी समय है।

यह भी पढ़ें: जानें तुला राशि में मंगल गोचर 2023 प्रत्येक राशि को कैसे प्रभावित करेगा?

वृश्चिक राशि में बुध वक्री का प्रभाव

बुध वक्री एक महत्वपूर्ण ज्योतिषीय घटना है, जिसका लोगों के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है। इस अवधि के दौरान, बुध पीछे की ओर गति करता हुआ दिखाई देता है, जिससे भ्रम और गलतफहमी उत्पन्न हो सकती है।

  • वृश्चिक एक जल राशि है, जो भावनाओं और परिवर्तन को नियंत्रित करती है। जब बुध इस राशि में वक्री होगा, तो यह उच्च संवेदनशीलता और भावनात्मक रूप से प्रतिक्रियाशील बनने की प्रवृत्ति को जन्म दे सकता है। इसलिए इस अवधि के दौरान व्यक्ति को भावनात्मक प्रतिक्रियाओं और संचार के प्रति सचेत रहना चाहिए।
  • वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 का जातक के व्यक्तिगत और व्यावसायिक संबंधों में गलतफहमियों को जन्म दे सकता है। इस अवधि के दौरान अनुबंधों पर हस्ताक्षर करने, प्रमुख निर्णय लेने या नई परियोजनाओं को शुरू करने से बचने की सलाह दी जाती है। इसके बजाय, मौजूदा परियोजनाओं की समीक्षा और संशोधन पर ध्यान दें।
  • इसके अलावा, यह ज्योतिषीय घटना अतीत के अनसुलझे मुद्दों को सामने ला सकती है। इस अवधि के दौरान स्व-देखभाल पर ध्यान दें।
  • बुध वक्री 2023 तकनीक, यात्रा और परिवहन को भी प्रभावित कर सकता है। सभी महत्वपूर्ण डेटा की जांच करना, यात्रा व्यवस्था की दोबारा जांच करना और इस दौरान किसी प्रकार की बड़ी खरीदारी या निवेश करने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें: जानें कन्या राशि में मंगल गोचर 2023 का प्रत्येक राशि पर प्रभाव

वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 का प्रत्येक राशि पर प्रभाव

मेष राशि 

इस संयोजन के दौरान, मेष राशि के लोगों को संचार और प्रौद्योगिकी से संबंधित चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता हैं। वे खुद को स्पष्ट रूप से व्यक्त करने में संघर्ष कर सकते हैं, जिससे गलतफहमी और संचार में परेशानी हो सकती है। इसके अलावा, मेष राशि के लोगों को अपने कार्यों को पूरा करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता हैं। उन्हें अपनी दिनचर्या में देरी और बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है, जिससे निराशा और तनाव पैदा हो सकता है।

हालांकि, यह अवधि आत्मनिरीक्षण और आत्म-प्रतिबिंब का अवसर प्रस्तुत करती है। मेष राशि के लोग खुद को अपनी प्राथमिकताओं का पुनर्मूल्यांकन करते हुए और अपने लक्ष्यों पर पुनर्विचार करते हुए पा सकते हैं। अपने जीवन और व्यक्तिगत विकास पर विचार करने का यह अच्छा समय है। मेष राशि के जातकों को इस दौरान धैर्य और संयम बरतने की जरूरत है, उन्हें जल्दबाजी में निर्णय लेने और आवेगपूर्ण कार्य करने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे प्रतिकूल परिणाम हो सकते है।

वृषभ राशि

वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 वृषभ राशि वालों पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। इस अवधि के दौरान, वे सहकर्मियों, मित्रों और परिवार के सदस्यों के साथ संचार में परेशानी और गलतफहमी का अनुभव कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, वे प्रौद्योगिकी से संबंधित मुद्दों और यात्रा में अवरोधों का सामना कर सकते हैं। हालांकि, वृषभ इस समय का उपयोग अपने अतीत को प्रतिबिंबित करने, अपने लक्ष्यों और आकांक्षाओं का पुनर्मूल्यांकन करने के लिए भी कर सकते हैं। इस राशि के जातक को महसूस हो सकता है कि उन्हें सफलता प्राप्त करने के लिए अपनी योजनाओं में कुछ समायोजन करने की आवश्यकता है।

वृषभ राशि वालों को इस दौरान धैर्य रखने की जरूरत है, क्योंकि जल्दबाजी में निर्णय लेने से नकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। यह सलाह दी जाती है कि वृषभ अपने वित्त पर अतिरिक्त ध्यान दें और बेवजह की खरीदारी करने से बचें। इस राशि के लोगों को अपने प्रियजनों के साथ संबंधों को मजबूत करना चाहिए।

मिथुन राशि

वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 का मिथुन राशि वालों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ने की उम्मीद है। इस समय के दौरान, मिथुन को संचार, रिश्ते और यात्रा से संबंधित कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। मिथुन राशि को अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक संबंधों में संचार और गलतफहमियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही इन लोगों को यात्रा की योजनाओं में देरी या जटिलताओं का अनुभव हो सकता हैं, इसलिए सभी व्यवस्थाओं की दोबारा जांच करना महत्वपूर्ण है।

इसके अलावा, मिथुन इस समय के दौरान अधिक आत्मविश्लेषी बन सकते हैं, क्योंकि वृश्चिक राशि की ऊर्जा आत्म-प्रतिबिंब और व्यक्तिगत विकास को प्रोत्साहित करती है। मिथुन राशि के लिए अपनी इच्छाओं और प्रेरणाओं को समझने का यह एक अच्छा अवसर है। लेकिन उन्हें अपने विचारों और भावनाओं पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

यह भी पढ़ें: जानिए तुला राशि में शुक्र गोचर 2023 का सभी राशियों पर प्रभाव

कर्क राशि 

बुध वक्री 2023 कर्क राशि पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। इस अवधि के दौरान, संचार और प्रौद्योगिकी में परेशानी आ सकती है, जिससे गलतफहमी और निर्णय लेने में देरी हो सकती है। यह अवधि रिश्तों में चुनौतियों का कारण बन सकती है और कर्क राशि वालों के लिए अपनी भावनाओं को स्पष्ट रूप से व्यक्त करना मुश्किल हो सकता हैं। कर्क राशि वालों को इस दौरान गोपनीयता और आत्मनिरीक्षण की आवश्यकता महसूस हो सकती हैं।

इसके अलावा, किसी प्रकार के अनसुलझे मुद्दों दोबारा से आपको परेशान कर सकते है, जिसके परिणामस्वरूप भावनात्मक उथल-पुथल हो सकती है। कर्क राशि को आत्म-देखभाल पर ध्यान देना चाहिए। इसके अलावा, कर्क राशि को इस अवधि के दौरान किसी परियोजना की साझेदारी पर हस्ताक्षर करने या बेवजह की खरीदारी करने से सावधान रहना चाहिए। यह सलाह दी जाती है कि कोई भी समझौता करने से पहले सभी विवरणों की दोबारा जांच जरूर कर लें।

सिंह राशि

 

वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 सिंह राशि वालों के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। इस अवधि के दौरान, सिंह राशि संचार में परेशानी, गलतफहमी का अनुभव कर सकती है। सिंह राशि वालों को अपने विचारों को स्पष्ट रूप से व्यक्त करने में भी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता हैं। इसके अलावा,  इस समय के दौरान जातक आत्मनिरीक्षण कर सकते है, जिससे उनके रिश्तों, करियर के लक्ष्यों और व्यक्तिगत विश्वासों का पुनर्मूल्यांकन हो सकता है। सिंह राशि को अपने आध्यात्मिक पक्ष पर ध्यान दे सकती है। साथ ही किसी प्रकार के पुराने मुद्दें आपको परेशान कर सकते है। सिंह राशि वालों को इस अवधि के दौरान आवेगी निर्णयों से सावधान रहना चाहिए और किसी भी अनुबंध या समझौते पर हस्ताक्षर करते समय अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए।

कन्या राशि

बुध वक्री 2023 कन्या राशि वालों के लिए कुछ चुनौतियां लेकर आ सकता है। इस अवधि के दौरान, संचार में परेशानी, देरी और गलतफहमी हो सकती है, जिससे निराशा और भ्रम पैदा हो सकता है। इसके अतिरिक्त, तकनीकी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है और जातक को काम में देरी का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि, यह प्रतिबिंब और आत्मनिरीक्षण का समय है, इस दौरान कन्या राशि वालों को अपने लक्ष्यों का पुनर्मूल्यांकन करना चाहिए।

इस समय, कन्या राशि के जातकों को आवेगी निर्णयों से बचते हुए धैर्य और शांत रहने की आवश्यकता हैं। महत्वपूर्ण दस्तावेजों, ईमेल और संदेशों की समीक्षा और दोबारा जांच करके परेशानी से छुटकारा मिल सकता है। कन्या राशि के लोगों को अतीत के अनसुलझे मुद्दें परेशान कर सकते हैं, इसलिए आपको उनका समाधान करना चाहिए।  

तुला राशि

वृश्चिक राशि में बुध का वक्री होना तुला राशि वालों के लिए कुछ अप्रत्याशित चुनौतियां लेकर आ सकता है। इस अवधि के दौरान, संचार में कमी, देरी और तकनीकी कठिनाइयां हो सकती हैं, जिससे जातक की दैनिक दिनचर्या बाधित हो सकती है। नतीजतन, तुला राशि के जातक निराश महसूस कर सकते हैं। तुला राशि वालों को इस दौरान धैर्य रखना चाहिए।

इसके अलावा, उन्हें दूसरों के साथ संचार करते समय अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। महत्वपूर्ण दस्तावेजों, अनुबंधों और समझौतों की दोबारा जांच करने से किसी भी गलतफहमी या परेशानी को रोका जा सकता है। यह आंतरिक प्रतिबिंब और विकास का समय हो सकता है। लेकिन अतीत के कुछ मुद्दों आपको परेशान कर सकते है, जिन्हें आपको सुलझाना चाहिए।

वृश्चिक राशि 

बुध का वक्री होना वृश्चिक राशि वालों पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। इस अवधि के दौरान, वृश्चिक राशि के लोग देरी, गलतफहमी और संचार में अभाव का अनुभव कर सकते हैं, जिससे निराशा और भ्रम पैदा हो सकता है। इस दौरान जातक को आत्म-देखभाल, अपनी मानसिक और भावनात्मक स्थिति पर ध्यान देना चाहिए। इसके अलावा, गलतफहमियों के कारण वृश्चिक राशि के लोगों को व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों तरह के रिश्तों में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता हैं।

वृश्चिक राशि को अपनी संचार शैली में सावधान रहना चाहिए और दूसरों के दृष्टिकोण को सुनना और समझना चाहिए। वृश्चिक राशि में बुध का वक्री होना आत्मनिरीक्षण और प्रतिबिंब के अवसर ला सकता है। वृश्चिक राशि के लोग इस समय का उपयोग अपने अंतर्ज्ञान पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कर सकते है।

धनु राशि

बुध के वक्री होने से धनु राशि पर कई प्रभाव पड़ने की उम्मीद है। इस अवधि के दौरान, धनु संचार में परेशानी, गलतफहमियों और यात्रा की योजनाओं में देरी का अनुभव कर सकता है। इसके अलावा, धनु राशि वालों को अपने विचारों को व्यक्त करने में कठिनाई हो सकती है। धनु राशि वालों को धैर्य रखने की जरूरत हैं और इस अवधि के दौरान किसी गलतफहमियों से बचना चाहिए। इस वक्री चरण के दौरान धनु राशि वालों को अपने वित्तीय निर्णयों को लेकर सावधान रहना चाहिए, क्योंकि अप्रत्याशित व्यय हो सकता है। इसलिए आपको सभी वित्तीय समझौतों की दोबारा जांच करनी चाहिए।

मकर राशि

बुध वक्री 2023 मकर राशि के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। इस अवधि के दौरान, मकर राशि गलतफहमियों और तकनीकी गड़बड़ियों का अनुभव कर सकती है। हालांकि, यह मकर राशि वालों के लिए अपने लक्ष्यों और योजनाओं पर विचार करने का अच्छा समय है। इसके अलावा, ये जातक किसी पुराने प्रोजेक्ट्स या रिश्तों पर ध्यान केंद्रित और अपने मूल्य का पुनर्मूल्यांकन कर सकते हैं। मकर राशि वालों को इस अवधि के दौरान कोई भी बड़ा निर्णय लेने में सावधानी बरतनी चाहिए, खासकर जब अनुबंध पर हस्ताक्षर करने या वित्तीय निवेश करने की बात हो, तो सोच-विचार करके निर्णय लें। वक्री अवधि समाप्त होने तक मकर राशि को किसी भी नई परियोजना को शुरू करने से बचने की सलाह दी जाती है।

कुंभ राशि

बुध का वक्री होना कुंभ राशि को कई तरह से प्रभावित कर सकता है। कुंभ राशि वालों को संचार में अभाव का अनुभव हो सकता है, जिससे मित्रों, परिवार और सहकर्मियों के साथ गलतफहमी हो सकती है। इस अवधि के दौरान, अनावश्यक विवादों से बचने के लिए कुंभ राशि वालों को बोलने से पहले सुनने और सोचने की जरूरत है। वृश्चिक राशि में बुध की वक्री गति कुंभ राशि वालों की दैनिक दिनचर्या में देरी और व्यवधान पैदा कर सकती है, जिससे उनके लिए संगठित और उत्पादक बने रहना मुश्किल हो जाता है। कुंभ राशि को इस समय का उपयोग अपने लक्ष्यों और प्राथमिकताओं की समीक्षा करने और उन्हें प्रतिबिंबित करने के लिए करना चाहिए। वृश्चिक राशि में बुध की वक्री गति अतीत के कुछ मुद्दों को सामने ला सकती है, जिन्हें हल करने की आवश्यकता है। 

मीन राशि

वृश्चिक राशि में बुध वक्री 2023 का मीन राशि के जातकों पर विशेष प्रभाव पड़ेगा। इस अवधि में संचार, यात्रा और तकनीक से जुड़े मामले इनके लिए चुनौतीपूर्ण हो सकते हैं। वे देरी और गलतफहमी का अनुभव कर सकते हैं, जिससे निराशा और तनाव हो सकता है। हालांकि, यह अवधि मीन राशि वालों के लिए अपने अतीत को प्रतिबिंबित करने समय है। 

मीन राशि वालों को धैर्य रखना चाहिए और इस अवधि के दौरान आवेगपूर्ण निर्णय लेने से बचना चाहिए। उन्हें महत्वपूर्ण साझेदारियो की दोबारा जांच करने और अनुबंधों पर हस्ताक्षर करने या बेवजह खरीदारी करने से बचना चाहिए। मीन राशि वालों को दूसरों के साथ संवाद करते समय सतर्क रहना चाहिए, क्योंकि उनके शब्द किसी को ठेस पहुंचा सकते है। साथ ही जातक को प्रियजनों के साथ अपने संबंधों को मजबूत करने पर ध्यान देना चाहिए।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 2,021 

Posted On - May 25, 2023 | Posted By - Jyoti | Read By -

 2,021 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

21,000+ Best Astrologers from India for Online Consultation