आपकी त्वचा में ग्रहों की क्या है भूमिका?

आपकी त्वचा में ग्रहों की क्या है भूमिका?

आपकी त्वचा में ग्रहों की क्या है भूमिका

एक व्यक्ति अपने रूप व त्वचा का काफ़ी ख्याल रखता है। कोई भी नहीं चाहता है, की उनकी त्वचा में किसी भी तरह की दिक्कतें आएं। लेकिन, कुछ लोगों के साथ त्वचा की दिक्कतें बिन बुलाए मेहमान के तरह चिपक जाती हैं। वहीं, कुछ लोगों की त्वचा कभी भी थकी हुई नहीं लगती। वह एकदम साफ़ नज़र आती है। ऐसा क्यों? क्या आपकी त्वचा का ग्रहों से है कोई संबंध?

एक व्यक्ति की खाल का संबंध, पृथ्वी तत्व से होता है। बुध ग्रह शरीर के त्वचा के लिए ज़िम्मेदार होता है। बुध ग्रह त्वचा को नवीन व ताज़ा बनाके रखता है। दो और ग्रह यानी मंगल और सूर्य, त्वचा से सीधा सम्बन्ध रखते हैं। राशियों की बात करें, तो मेष, मिथुन, कन्या राशि भी त्वचा से ही जुड़ी हुई होती हैं। किसी भी राशि के गड़बड़ होने पर, त्वचा से जुड़ी समस्याएं भी होने लगती हैं।

बुध द्वारा त्वचा में समस्या व उसके समाधान

समस्या

बुध द्वारा उत्पन्न की गई समस्या में त्वचा पर झुर्रियां पड़ जाती हैं। कभी-कभी यह रूखी और खराब सी हो जाती है। दानें भी निकल आते हैं। शरीर की खाल पर छोटे छोटे धब्बे आ जाते हैं। बुध ग्रह से मिली यह समस्याएं अमूमन 8 से 20 साल के उम्र और 60 साल के बाद के उम्र के लोगों में ज़्यादा देखी जाती है।

समाधान

  • खान-पान का हमेशा ख्याल रखें। तेल या मसाले वाली चीज़ें या फिर खट्टी चीज़ें काम खाएं।
  • सप्ताह में केवल एक दिन जलीय आहार ही करें।
  • नियमित रूप से, सूर्य को जल अर्पित करें।
  • किसी विद्वान से सलाह लेकर ही, एक माणिक्य या पन्ना धारण करें। लाभ अवश्य मिलेगा।

मंगल ग्रह द्वारा त्वचा में हुए समस्या व उसके समाधान

समस्या

जिसे भी मंगल ग्रह से सम्बन्धित त्वचा की दिक्कतें होती हैं, उन्हें आंतरिक गड़बड़ी होती है। अर्थात, मंगल की त्वचा की समस्या आंतरिक गड़बड़ियों की सूचना है। शरीर में कोई केमिकल बैलंस बिगड़ गया, या पेट बहुत ज़्यादा खराब हो गया, तो ऐसी स्थिति में नहीं त्वचा में दिक्कत आती है। उदहारण के तौर पर, कभी – कभी कोई दवा सूट ना करें, तो शरीर में दाने निकल आते हैं। इससे शरीर में केमिकल बैलेंस बिगड़ता है। यह सब मंगल ग्रह के वजह से होता है। साथ ही, मंगल से मिली दिक्कतों में एक दिक्कत यह भी है, कि शरीर पर दाग व निशान पड़ जाते हैं। किसी दुर्घटना के कारण भी, मंगल शरीर पर निशान दे जाता है। वे निशान समय के साथ ही जा पाते हैं।

समाधान

  • अधिक मात्रा में जल ग्रहण करें। खूब पानी पीना, आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।
  • हर दिन सूर्योदय में 5-10 मिनट के लिए बैठें। इसके साथ ही, उगते सूर्य की किरणों में ही बैठें, तो बेहतर होगा।
  • तांबे के पात्र से जल का सेवन करें।
  • सलाह लेकर आप मूंगा भी धारण कर सकते हैं।
  • जहां भी त्वचा में दाग या निशान हों, वहां नारियल तेल लगा लें।

सूर्य की त्वचा का समस्या व समाधान

समस्या

हर व्यक्ति के शरीर में एक तत्व होता है, जिसका नाम है मेलानिन। सूर्य मेलानिन को नियंत्रित करता है। इससे व्यक्ति के रंग में फ़र्क दिखाई देता है। यदि मेलालिन की मात्रा ज़्यादा हो जाती है, तो व्यक्ति का रंग सांवला हो जाता है। वहीं, अगर कम हो जाती है, तो रंग गोरा हो जाता है। सूर्य द्वारा मिलने वाली दिक्कत की बात करें, तो लोगों का रंग उनके वास्तविक रंग से काला हो जाता है। कई लोग कहते हैं, कि उन्हें सनबर्न हो गया तो कई इसे टैनिंग का नाम देते हैं। सूर्य द्वारा मिली इस समस्या में, शरीर की चमड़ी झुलसी व टूटी हुई सी दिखाई देती है।

समाधान

  • सर्वप्रथम, यह करें कि रोज़ाना उगते हुए सूरज को जल अर्पित करें।
  • गरिष्ठ भोजन या मांसाहार भोजन से परहेज़ करें।
  • रसदार फल या नींबू पानी का प्रयोग करें।
  • सलाह लेने के बाद ही, एक मोती या ओपल धारण करें। ये नहीं, तो एक चांदी का कड़ा या चेन पहनें। चांदी पहनना फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें- Best Astrological Tips For Glowing Skin

 139 total views


Tags: ,

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *