ज्योतिष के अनुसार जानें अप्रैल माह में होने वालें राशि परिवर्तन का क्या होगा प्रभाव

राशि परिवर्तन
WhatsApp

नमस्कार आज मैं अप्रैल महीने में होने वाले चार बड़े ग्रहों के राशि परिवर्तन के बारे में आपको कुछ बताना चाहती हूं। वैसे तो अप्रैल के महीने में सारे ही ग्रह राशि परिवर्तन करने वाले हैं लेकिन जब बड़े ग्रह राशि परिवर्तन करते हैं तो उसका असर ज्यादा होता है अप्रैल के महीना हमारे पूरे विश्व के लिए कुछ खास है क्योंकि 4 बड़े ग्रह शनि, गुरु, और राहु,  केतु यह राशि परिवर्तन करेंगे और अप्रैल में भारत का नया संवत्सर शुरू होगा नया वर्ष भी जिसे कहते हैं ।

इसके साथ ही 14 अप्रैल को सुबह 7:00 बजे सूरह भी 12 राशियों का एक पूरा चक्र पूर्ण करके मेष राशि और अश्विनी नक्षत्र से अपना नया चक्र शुरू करेंगे जो अगले 12 महीने में संपूर्ण होगा हर वर्ष जब सूर्य मेष राशि में प्रवेश करते हैं उस समय एक विश्व की जन्मपत्री बनाई जाती है जिससे पता लगता है कि विश्व में अभी क्या होने वाला है और इस बार जो विश्व की कुंडली बनेगी उसमें सूर्य लग्न में होंगे क्योंकि सूर्य सुबह है राशि परिवर्तन कर लेंगे।

अभी जो बड़ा महायुद्ध दो देशों के बीच चल रहा है रूस और यूक्रेन इसके कारण सबको ऐसा लग रहा है शायद तीसरा विश्वयुद्ध शुरू होगा लेकिन इसके होने के आसार काफी कम है 14 अप्रैल तक लड़ाई का कोई समाधान निकल सकता है और विश्व युद्ध होते होते रुक सकता है क्योंकि ग्रहों की स्थिति थोड़ी ठीक होनी शुरू हो जाएगी।

और अभी जो मंगल और शनि की युति है और आने वाले समय में जब उन दोनों का संबंध 10 डिग्री के अंदर बनेगा तो एक बार को युद्ध काफी तेज हो सकता है और सब तरफ काफी तनाव बढ़ सकता है लेकिन अप्रैल मध्य तक स्थिति बदल सकती है और युद्ध समाप्त होने के आसार बन सकते हैं।

अब हम बात करते हैं भारत के बारे में हमारे देश भारत का नव वर्ष 2 अप्रैल से शुरू होगा इस वर्ष नल नाम का संवत्सर शुरू हो रहा है और शनि इस वर्ष राजा है और गुरु मंत्री राजा शनि होने के कारण देश में अराजकता बढ़ सकती है लड़ाई झगड़े और दंगे होने के आसार हैं लेकिन साथ ही साथ गुरु मंत्री होने के कारण पैदावार अच्छी होगी लोगों में मेहनत करने का जज्बा होगा लेकिन इस वर्ष किसी बड़े नेता या किसी काफी जाने-माने व्यक्ति के साथ कुछ बड़ी दुर्घटना या मृत्यु तुल्य कष्ट हो सकता है।

लेकिन 2022 के आज तक हमारे देश को तरक्की और उन्नति होने का योग है विदेश के साथ संबंध अच्छे होंगे शनि राजा होने के कारण तेल पेट्रोल और विदेश से आयात और निर्यात के अवसर ज्यादा अच्छे बन सकते हैं।

सबसे बड़ी समस्या इस वर्ष अराजकता की है देश में षड्यंत्र होने के भी कुछ लोग हैं। लेकिन लोगों में धर्म कर्म और अध्यात्म की तरफ ध्यान रहेगा और लोगों में आपस में मदद और अपने परिवार और मित्रों के साथ संबंध अच्छे रखने का स्वभाव भी बनेगा जहां एक तरफ पारिवारिक और सांसारिक संबंध अच्छे होंगे वहीं दूसरी तरफ लोगों में षड्यंत्र और अराजकता भी फैलेगी

अगर आप की जन्मपत्री में राहु केतु की दशा चल रही है गुरु और शनि की दशा चल रही है या शनि की साढ़ेसाती चल रही है तो इस समय पर आपके जीवन पर कुछ विशेष प्रभाव पड़ सकता है वह अच्छा और बुरा दोनों तरह का हो सकता है आप की जन्मपत्री में ग्रहों की स्थिति के अनुसार इसलिए हो सके, तो मंत्र जाप अवश्य करें जिस समय ग्रह राशि परिवर्तन कर रहा होता है उस समय उसी ग्रह से संबंधित मंत्रों का जाप करना बहुत अच्छा होता है।

जैसे 14 अप्रैल को सुबह 7:00 बजे जब सूर्य मेष राशि में प्रवेश करेंगे उस समय आप सूर्य नमस्कार करें सूर्य मंत्र का जाप करें आदित्य हृदयम का पाठ करें इससे आपको शुभ फल प्राप्त होते हैं। इसी तरह गुरु शनि राहु केतु सबके मंत्र जाप और कौन सा ग्रह किस समय पर राशि परिवर्तन करेगा इसकी जानकारी भी जरूर कर लें।

बड़ा परिवर्तन होने वाला है पूरे विश्व और पूरे मानव जाति के ऊपर हमारे कर्मों के अनुसार हमें अच्छा और बुरा फल मिलेगा लेकिन लगता है कि विश्व युद्ध नहीं होगा। और भगवान करे ऐसा ही हो धरती पर जीवन सुखी हो और सब पर भगवान की कृपा रहे।

By – Astrologer Annuradhaa

यह भी पढ़े – परीक्षा में सफलता पाने के लिए करें ये अचूक ज्योतिषीय उपाय

अधिक जानकारी के लिए आप AstroTalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 4,701 

WhatsApp

Posted On - March 22, 2022 | Posted By - Astrologer Annuradhaa | Read By -

 4,701 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation