ज्योतिष से जानें व्यापार से जुड़ी समस्या के बारे में

horoscope

हमने देखा है कि प्राय जो लोग अपना खुद का व्यापार करते हैं उनमें से कुछ व्यापार ऐसे होते हैं, जहां ग्राहक रोजाना आते हैं, तो किसी की दुकान पर या किसी किसी के अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान पर तो ग्राहकों की भीड़ लगी होती है और वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके कभी कभार कस्टमर आता है कभी नहीं आता है यानी बहुत कम आना जाना होता है और कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जिनके यहां जब आते हैं तो खूब सारे ग्राहक आते हैं और नहीं आते तो बिल्कुल नहीं आते अब सब लोग क्या समझते कि सब भाग्य की बात है पर ऐसा नहीं है इसको हम ज्योतिष के माध्यम से बड़ी आसानी से समझ सकते हैं।

ज्योतिष में कस्टमर यानी ग्राहक जो है वह आपके सप्तम भाव से देखा जाता है और ग्राहक का खर्चा आपकी आय हैं, तो छठा भाव हुआ सप्तम से बारहवा यानी कस्टमर का खर्चा और आपकी आय अब आइए हम इसी पर फोकस करते हैं कुंडली को देखिए यदि आपके सप्तम भाव का कष्पल सब लॉर्ड मूल कुंडली में यानी लग्न कुंडली में यदि चर राशि में विराजमान है तो आप देखिए कि ग्राहकों की कमी नहीं रहेगी खूब ग्राहक आएंगे लेकिन जब यही षष्टम भाव का कष्पल सब लॉर्ड स्थिर राशि में होता है तो ग्राहकों के दर्शन कभी-कभार होते और जब यह दिवस्भाव राशि में बैठा हो तो आप देखेगे कि कभी खूब ग्राहक आएंगे कभी बिल्कुल नहीं आएंगे। आप यदि ऐसा काम कर रहे हैं तो अपनी-अपनी कुंडलियों में इस स्थिति को देख सकते और पता लगा सकते हैं कि ग्राहकों की आवक कैसी रहेगी इस संबंध में आपका कोई प्रश्न हो तो मुझे कॉल करें।

अधिक जानकारी के लिए आप AstroTalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 5,015 

Posted On - March 21, 2022 | Posted By - Astrologer Shrivastav | Read By -

 5,015 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

21,000+ Best Astrologers from India for Online Consultation