नौकरी मिलने में हो रही है परेशानी तो करें ये अचूक ज्योतिष उपाय, मिलेगी सफलता

नौकरी में रुकावट

ज्योतिष के माध्यम से व्यक्ति के जीवन में विभिन्न समस्याओं का हल ढूंढा जा सकता है। नौकरी ना मिलना बहुत परेशानी भरा होता है। ज्योतिष शास्त्र में नौकरी न मिलने पर विभिन्न उपाय बताए गए हैं, जो नौकरी में रुकावट को दूर करने में मदद कर सकते हैं। इस लेख में आप जानेंगे कि कैसे नौकरी में आ रही रुकावट को दूर कर सकते है और इसके लिए कौन से ग्रह जिम्मेदार हैं। 

यह भी पढ़ें – जानें कैसे बनते है कुंडली में अच्छी नौकरी पाने के योग

क्या ग्रहों के कारण आती है नौकरी में रुकावट?

ज्योतिष शास्त्र में ग्रह बेहद महत्वपूर्ण माने जाते है, क्योंकि इसके माध्यम से जातक के जीवन के सभी  पहलूओं के बारे में अध्ययन किया जा सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सूर्य, चंद्रमा, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहु और केतु नवग्रह नौकरी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में ये ग्रह अशुभ स्थिति में हों, तो जातक को नौकरी में परेशानियों का सामना कर सकता हैः

  • शनि ग्रह: शनि अक्सर बाधाओं, देरी और प्रतिबंधों से जुड़ा होता है। ज्योतिष शास्त्र में इसे कर्म और अनुशासन का ग्रह माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि जातक की जन्म कुंडली में शनि चुनौतीपूर्ण समय और नौकरी में रुकावट ला सकता है।
  • मंगल ग्रह: मंगल ऊर्जा, महत्वाकांक्षा और क्रिया से जुड़ा है। पीड़ित या खराब स्थिति में मंगल आक्रामकता, संघर्ष, आवेग या ध्यान की कमी जैसी चुनौतियां ला सकता है, जो पेशेवर विकास में बाधा बन सकती है।
  • बुध ग्रह: बुध संचार, बुद्धि और अनुकूलता का प्रतिनिधित्व करता है। हालांकि, पीड़ित बुध प्रभावी संचार, गलतफहमियों, देरी या निर्णय लेने में कठिनाइयों के मुद्दों को जन्म दे सकता है। ये चुनौतियाँ किसी के करियर को प्रभावित कर सकती हैं, विशेषकर उन क्षेत्रों में जहाँ स्पष्ट और कुशल संचार की आवश्यकता होती है।

यह भी पढ़ें:  अपनी राशि के अनुसार जानें कैसा होगा आपका प्रेम जीवन?

क्या दोषों के कारण आती है नौकरी में रुकावट?

ज्योतिष के अनुसार भविष्य में होने वाली घटनाओं को जाना और समझा जा सकता है। जातक की जन्म कुंडली में कुछ ऐसे दोष होते है, जो व्यक्ति के करियर में परेशानी देते है, जिनके कारण जातक को नौकरी में देरी का सामना करना पड़ता हैः

  • शनि दोष: शनि दोष तब होता है, जब शनि किसी व्यक्ति के जन्म चार्ट में खराब या पीड़ित स्थिति में होता है। ऐसा माना जाता है कि यह करियर के विकास में बाधाएं, देरी और कठिनाइयां लाता है। शनि दोष वाले व्यक्तियों को अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में असफलताओं या चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। इस दोष के प्रभाव को कम करने के लिए शनि से जुड़े रत्न धारण या शनि देव की पूजा करनी चाहिए।
  • मंगल दोष: मंगल दोष जन्म कुंडली में मंगल की अशुभ स्थिति से जुड़ा है। ऐसा माना जाता है कि यह आक्रामकता, संघर्ष लाता है, जो किसी के करियर पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। मंगल दोष वाले व्यक्तियों को सौहार्दपूर्ण व्यावसायिक संबंधों को बनाए रखने में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, जैसे करियर की प्रगति में देरी या बाधाओं का अनुभव हो सकता है या बार-बार नौकरी में बदलाव का सामना करना पड़ सकता है। इस दोष के प्रभावों का प्रतिकार करने के लिए मंगल से जुड़े कुछ उपाय करने चाहिए। 
  • राहु-केतु दोष: राहु और केतु के कारण भी जातक को नौकरी में रुकावट का सामना करना पड़ता है। यह दोष किसी के पेशेवर जीवन में अचानक परिवर्तन, अनिश्चितता और अस्थिरता ला सकता है। 

यह भी पढ़ें: नाम के पहले अक्षर से जानें कि आपका विवाह कब और किससे होगा?

क्या वास्तु दोष के कारण नौकरी में रुकावट आती है? 

वास्तु शास्त्र एक प्राचीन भारतीय वास्तु प्रणाली है, जिसका उद्देश्य निर्मित वातावरण में सामंजस्य और संतुलन बनाना है। वास्तु शास्त्र मुख्य रूप से सकारात्मक ऊर्जा प्रवाह और कल्याण पर ध्यान केंद्रित करता है। माना जाता है कि अगर जातक का घर वास्तु अनुसार नहीं बना है, तो जातक को करियर में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। उदाहरण के लिए, अगर बोनसाई का पौधा घर में पश्चिम दिशा में रखा है, तो जातक को नौकरी में रुकावट का सामना करना पड़ सकता है।

इसके अलावा, वास्तु शास्त्र भी कुछ निश्चित व्यवस्थाओं से बचने का सुझाव देता है, जो नकारात्मक ऊर्जा पैदा कर सकते हैं या करियर के विकास में बाधा उत्पन्न कर सकते हैं। अगर किसी जातक के कार्यक्षेत्र पर नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न हो जाती है, तो यह व्यक्ति के कार्य को बाधित कर सकती है। साथ ही वास्तु शास्त्र के अनुसार आप अपने डेस्क को सही से व्यवस्थित करके नकारात्मक ऊर्जा से बच सकते है, क्योंकि नकारात्मक ऊर्जा जातक के करियर पर अशुभ प्रभाव डालती है।

यह भी पढ़ें: मेरी जन्मकुंडली से कैसे पता चलेगा कि मेरा ब्रेकअप क्यों हुआ?

नौकरी पाने के लिए ज्योतिषीय उपाय 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ऐसे कई उपाय हैं, जो नौकरी पाने या करियर की संभावनाओं को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। अगर आपको नौकरी मिलने में परेशानी या बार-बार नौकरी बदलनी पड़ रही है, तो आपको यह अचूक उपाय करने चाहिए ताकि आप नौकरी में आ रही रुकावट को दूर कर सकेंः

  • रोज सुबह उगते हुए सूर्य को जल चढ़ाने से करियर संबंधी समस्याओं का समाधान होता है। ऐसा माना जाता है कि यह जातक के जीवन में सकारात्मक ऊर्जा लाता है और करियर के अवसरों को बढ़ाता है। जल अर्पित करते समय, आपको सूर्य से जुड़े एक विशिष्ट मंत्र का जाप करना चाहिए वह मंत्र है, “ॐ सूर्य देवाय नमः।
  • भगवान गणेश को विघ्नहर्ता, बुद्धि और ज्ञान के देवता माना जाता है। इसलिए ज्योतिष में आपको करियर की बाधाओं को दूर करने के लिए भगवान गणेश की पूजा करने की सलाह दी जाती है। नौकरी की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए आपको रोज गणेश जी की पूजा करनी चाहिए।
  • नौकरी में आ रही रुकावटों को दूर करने के लिए पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं।
  • यदि जातक की जन्मकुंडली में कोई ग्रह दोष है और वह ग्रह किसी विशेष रत्न के संबंध रखता है, तो उस रत्न को धारण करने से आपको लाभ हो सकता है।
  • शनिवार के दिन शनि देव के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
  • करियर और सफलता से जुड़े विशिष्ट मंत्रों का जाप लाभदायक माना जाता है। उदाहरण के लिए, नवग्रह मंत्र का जाप करने से सकारात्मक ऊर्जा आती है और नौकरी की संभावनाएं बढ़ती हैं।
  • जरूरतमंदों को दान करने से आपको जीवन में आ रही सभी परेशानियों से राहत मिल सकती है।
  • हनुमान चालीसा पढ़ने और मंगलवार के दिन भगवान हनुमान की पूजा करने से आपको करियर में सफलता मिल सकती है।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 3,353 

Posted On - June 6, 2023 | Posted By - Tanmoyee Roy | Read By -

 3,353 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

21,000+ Best Astrologers from India for Online Consultation