मेडिटेशन और हीलिंग- ज़िन्दगी की उलझनों से निपटने का रस्ता

Meditation And Healing By Yoga

ऋषि मुनि पीर पैगंबर संत महात्माओं ने उलझनों से छुटकारा पाने का एक रास्ता इंसानियत को बताया । वो है मेडिटेशन और हीलिंग कहें या तपस्या या फिर मुजाहदा। अलग अलग धर्म मज़हब और पंथ के रहबरों ने एक ही राह पर काम किया कि किसे इंसान और इंसानियत को अमन का माहौल मुहय्या किया जाए । इसी पर उन्होंने अपनी तमामतर ज़िन्दगी सर्फ़ कर दी ।

तपस्या , मेडिटेशन मुजाहदे का तरीक़ा बेशक जुदा रहा हो लेकिन मक़सद अवामी ख़िदमात और अमन ओ सुकून का माहौल पैदा करना था । सभी ने उसी एक परमात्मा , खुदा गॉड वाहेगुरु से अपनी लो लगाई और मेडीटेशन ।(मुजाहदे ) के ज़रिए ऐसे आला मुक़ाम तक पहुंचे के तमाम आलम ए इंसानियत के लिए मिसाल बन गए और रहती दुनिया तक लोग उनकी के बताए हुवे रास्ते पर फ़लाह हासिल करते रहेंगे ।

मार्यादा परुषोत्तम श्री राम हों या श्री कृष्ण जी , महात्मा बुद्ध हों या भगवान महावीर जी जैन जी , गुरुनानक जी हों या पैगंबर मुहम्मद । सभी ने अपने अपने तरीके से उसी एक मालिक से जुड़ने का रास्ता बताया है जिसने उस रास्ते को अपना लिया उसी ने फ़लाह को पा लिया और हमेशा के लिए अमन के राही हो गए।

आज भी इस फ़न के ऐसे माहिर शख़्स मौजूद हैं जो इस रास्ते से इंसानियत की ख़िदमात अंजाम दे रहे हैं और उनकी परेशानियों का इज़ाला कर रहे हैं यव ऐसा ज़रिया है जिसकी वजह से बड़ी से बड़ी मुश्किलात उपरवाले के हुक्म से हल हो जाती हैं क्योंकि ये रास्ता सीधे उपरवाले से इंसान की डोर को जोड़ता है

कई बार इंसान अपनी कुछ जाती परेशानियों के सबब डिप्रेशन मे चला जाता है लाख इलाज के बावजूद राहत नही मिलती है तब मेडिटेशन ही एक रास्ता बाक़ी रहता है जो इंसान को इंसानियत से जोड़ने का जरिया बनती है

मेडिटेशन और हीलिंग के लाभ

हीलिंग के ज़रिए ख़तरनाक से ख़तरनाक मर्ज़ मे मुब्तिला मरीज़ को भी राहत मिलती है इसके इलावा पेट दर्द , से दर्द , दाढ़ का दर्द और बॉडी पैन मे हीलिंग से तुरंत राहत मिल जाती है ख़ुद मैरा भी अपना तजुर्बा रहा है कि दूर दराज बैठे लोगों को मेरी हीलिंग से तुरंत आराम पहुंचा है

Benefits Meditation And Healing

मैरे वालिद मरहूम ( स्वर्गीय पिता जी) का भी यही मामूल मैंने अक्सर देखा था कि जब कोई पेट दर्द , दाढ़ के दर्द और सर दर्द से तड़पता हुवा मरीज़ आता तो हीलिंग करते औऱ मरीज़ को तुरंत आराम मिल जाता। मैंने भी अपने वालिद मरहूम से जो कुछ सीखा था आज उसी का फ़ैज़ है कि मैं इस मुक़ाम तक पहुंचा हूँ ।

हालिया दौर मे आली जनाब पुनीत गुप्ता जी ने एस्ट्रो टॉक के ज़रिए जो एक शाहकार पेश किया है वो वाक़ई आलमे इंसानियत के लिए फ़लाह का ज़रिया बन रहा है मुल्की व ग़ैर मुल्की सतह पर एस्ट्रो टॉक ने जो मक़बूलियत हासिल की है उसका कोई सानी नही हैं रोज़ाना एस्ट्रो टॉक के ज़रिए दूर दराज बैठे लोगों से बात करके उनकी परेशानियों का इज़ाला ख़ुदा के हुक्म से करने की कोशिश करते हैं और ख़ुदा के हुक्म से उनको राहत भी मिलती है

कई लोग जब अपना अच्छा कमेंट लिखते हैं या शुक्रिया के लिए कमेंट करते हैं तो उस वक़्त दिल को जो मसर्रत हासिल होती है उसका जवाब नही । क़ल्ब को जो सुकून मिलता है वो किसी भी दौलत से बढ़कर होता है और ऐसा महसूस होता है कि शायद यही हमारी निजात का जरिया बन जाए और ख़ुदा मुझ गुनाहगार को भी माफ़ कर दे ।

ना सलीक़ा है कोई आरज़ू का , न बंदगी ही मेरी बन्दगी है
ये सब तुम्हारा करम है आक़ा के बात अब तक बनी हुई है

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैंराशिफल 2021 सभी 12 राशियों के लिए

 395 total views

Consult an Astrologer live on Astrotalk:

Wah🙏
Great explaination in just few words. . Only a person on spritual path who has experienced such things and know it’s worth for the mankind can share it.
May God bless you always and you keep blessing us with your pearls of wisdom🤗
Looking forward to more such knowledge papers 🙏🙏😊

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *