Mool nakshatra: जानें क्या होता है मूल नक्षत्र और इससे जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी

मूल नक्षत्र
WhatsApp

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मूल नक्षत्र( mool nakshatra) को एक अशुभ नक्षत्र के रूप में जाना जाता है। साथ ही इसे अंतरतम कोर या किसी भी चीज का केंद्र माना जाता है। केतु ग्रह के प्रभाव के कारण मूल नक्षत्र भयानक और नकारात्मक हो सकता है। वैदिक ज्योतिषियों के अनुसार मूल नक्षत्र जड़ और जिज्ञासु होने से जुड़ा है। इसी के साथ यह पहला नक्षत्र है, जिससे कोई व्यक्ति अपनी आध्यात्मिक यात्रा शुरू कर सकता है। मूल नक्षत्र को मूलाधार चक्र से समझा जा सकता है, जो कि आधार चक्र है जहां अव्यक्त और कर्म ऊर्जा (प्ररब्ध) की जड़ निवास करती है। इस चक्र में आशीर्वाद और श्राप दोनों विराजमान होते हैं।

मूलाधार चक्र आपका छठा भाव है, जो उपचय है। यह सभी इच्छाओं का केंद्र भी है। केतु वासना को नियंत्रित करता है और भगवान गणेश बेकाबू इच्छाओं को संतुलित करते हैं। यहीं से मूल नक्षत्र चित्र में आता है। यह मूल नक्षत्र है, जो स्वयं वासनाओं के संबंधों को दर्शाती हैं। ये वासना जातक के कर्म से जुड़ी होती है, जो जातक को आगे मोक्ष की ओर ले जाती है। 

वैदिक ज्योतिष में नक्षत्रों ने एक अद्वितीय स्थान प्राप्त किया है। पश्चिमी दुनिया में चंद्र हवेली के रूप में जाना जाता है। नक्षत्रों का विशेष रूप से भविष्यवाणियों के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अतिरिक्त प्राचीन ज्योतिष शास्त्रों में भी नक्षत्र का उल्लेख मिलता है। मूल नक्षत्र जीवन के अंत से जुड़ा है, जो नई शुरुआत का अग्रदूत है। इसे जड़ या आधार के रूप में भी जाना जाता है। जैसा कि हम जानते हैं कि कोई भी पौधा बिना जड़ के पोषण नहीं कर सकता है, उसी तरह दुनिया में होने वाली हर घटना किसी न किसी कारण से जुड़ी होती है। 

ज्योतिष में मूल नक्षत्र ( mool nakshatra)

वैदिक ज्योतिषीय मान्यताओं के अनुसार मूल 27 नक्षत्रों में से 19वां नक्षत्र या है और यह धनु राशि में 0°00 से 13°20′ डिग्री तक है। ‘मूल’ का अर्थ जड़ है और इसका प्रतीक जड़ों के एक समूह से है जो एक साथ बंधे होते हैं। मूल नक्षत्र पर विनाश की देवी यानी देवी महा काली का शासन होती है।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र( mool nakshatra)  के लक्षण

  • वहीं आप दृढ़ निश्चयी, साहसी, मजबूत और आक्रामक हैं। लेकिन कभी-कभी ईर्ष्या भी कर लेते हैं।
  • साथ ही आप प्रतिशोधी और थोड़े स्वार्थी हैं।
  • वहीं आप महत्वाकांक्षी, एक अच्छे योजनाकार और मजबूत दिल वाले हैं।
  • आपके पास सहने की शक्ति है। अत्यधिक दृढ़निश्चयी और शक्तिशाली होने की आपकी क्षमता के साथ आप कठिन समय से आसानी से निकल सकते हैं।
  • आपके विरोधियों या शत्रुओं के लिए आपकी सफलता का मार्ग रोकना बहुत कठिन है।
  • आप अपने साथी या अपने जीवनसाथी के लिए अत्यधिक स्वामित्व वाले हैं।
  • आप एक मेहनती व्यक्ति हैं, जो अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने और अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए लगातार कड़ी मेहनत करते हैं।
  • इस नक्षत्र वाले जातक इस बात की कभी परवाह नहीं करते हैं कि दूसरे आपके बारे में क्या सोचते हैं और आप अपनी इच्छा के अनुसार काम करते हैं।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) की विशेषताएं

इस नक्षत्र की खूबियां अन्वेषक, शांतिप्रिय, अच्छे दिखने वाले, साहसी, राजनीति में अच्छे, उच्च जीवन स्तर, जोड़तोड़ करने वाले, बहादुर, सावधान, दृढ़निश्चयी, चतुर, अच्छे सार्वजनिक बोलने के कौशल, अच्छे भाग्य, विद्वान और आध्यात्मिक हैं।

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र( mool nakshatra)  की कमियां

जिस तरह एक सिक्के के दो पहलू होते है, उसी प्रकार अगर किसी की अच्छाई होती है, तो उसकी कुछ कमियां भी होती हैं। मूल नक्षत्र की भी कुछ खामियां है , जैसे इस नक्षत्र के जातक असुरक्षित, आत्मकेंद्रित, विवाहेतर संबंधों में लिप्त, अनिर्णायक, क्रोध से भरे हुए, समर्थन देने में कमी, रिश्तों में चंचल, स्वार्थी, असहिष्णु और आत्म-विनाशकारी होते हैं।

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

पुरुष से जुड़ी मूल नक्षत्र( mool nakshatra)  की विशेषताएं

  • मूल नक्षत्र के पुरुष सुख की तलाश करते हैं और भौतिक संपत्ति की अधिक चाह रखते हैं।
  • इस नक्षत्र के जातक के चेहरे पर थोड़ा अहंकार है और वे आरक्षित व्यक्ति हैं।
  • उनके पास किसी कारण की जड़ में जाने की प्रतिभा होती है। यह उन्हें भरोसेमंद समस्या समाधानकर्ता बनाता है।
  • अनावश्यक खर्च के कारण वे कर्ज में डूब सकते हैं। हालांकि, वे लापरवाह रवैया रखते हैं और अपने भविष्य में समझदारी से निवेश नहीं करते हैं। लेकिन उन्हें अपने परिवार से ज्यादा सहयोग नहीं मिल पाता है। वे जो कुछ भी हासिल करते हैं, उसे उन्हें अपने दम पर करना होता है।
  • वे एक स्वतंत्र जीवन जीना चाहते हैं, लेकिन वे खुद को एक अप्रिय स्थिति में बंधा हुआ पाते हैं। दरअसल्, ये लोग अकसर खुद को जिम्मेदरियों से बंधा हुआ पाते हैं, जिस वजह से उन्हें अपने सपनों के साथ समझौता करना पड़ता है।
  • इनका वैवाहिक जीवन सुखद रहता है। साथ ही उन्हें जीवनसाथी का सहयोग भी प्राप्त होता है।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

महिलाओं से जुड़ी मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) की विशेषताएं

  • मूल नक्षत्र( mool nakshatra)  की महिलाएं साहसी होती हैं और पढ़ाई के अलावा जीवन में कई चीजों को आजमाना चाहती हैं।
  • ये महिलाएं आधुनिक शिक्षा की शौकीन नहीं होती हैं और किताबों में रुचि नहीं लेती हैं। लेकिन इनकी खूबी ये है कि ये लोग सामाजिक स्तर पर काफी प्रतिष्ठित होते हैं।
  • मूल नक्षत्र की महिलाएं रिश्तों में अधिक भाग्यशाली नहीं हैं। लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि उनके चार्ट में अन्य ग्रह कौन से हैं। आमतौर पर वे एक मुश्किल शादी से गुजरती हैं या फिर इनके पति की असामायिक मृत्यु हो सकती है।
  • इस नक्षत्र में तलाक और अलगाव भी सामान्य घटनाएं होती हैं। इस वजह से उन्हें भावनात्मक उथल-पुथल और सामाजिक पूर्वाग्रहों का सामना करना पड़ता है।
  • मूल नक्षत्र महिलाओं के बारे में कहा जाता है कि वे निश्चित राय और तेज स्वभाव की होती हैं जो उन्हें प्रतिष्ठा के जोखिम में डाल देती हैं।
  • बच्चों से भी उन्हें ज्यादा सहयोग नहीं मिलता है। हालांकि, इस नक्षत्र की महिलाएं काफी मुश्किल समय का सामना करती हैं।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

ज्योतिष अनुसार मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) की अनुकूलता

मूल और चित्रा नक्षत्र

आप आसानी से चित्रा नक्षत्र के जातकों के साथ प्यार में पड़ सकते हैं। वे आमतौर पर मौज-मस्ती और उत्साह के लिए आपकी सभी इच्छाओं और जरूरतों को पूरा करते हैं। वे साहसी और निडर भी होते हैं, जब आपको इसकी आवश्यकता होती है, तो वे वास्तविक सहायता प्रदान करते हैं। वे नहीं चाहते कि आप सख्त और पारंपरिक मान्यताओं का पालन करें। आपके और चित्रा जातकों के बीच का प्रेम अपरंपरागत हो सकता है। वे आपके प्रति आसक्त हुए बिना आपकी सराहना करते हैं और आपका सम्मान करते हैं।

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल और विशाखा नक्षत्र

इसी के साथ मूल और विशाखा नक्षत्र बहुत मजबूत संबंध साझा करते हैं। यह दोनों नक्षत्र बुद्धिमान और मजबूत हैं। हालांकि, वे अपने रिश्तों से नाखुश हैं। विशाखा नक्षत्र के जातक दुनिया के रहस्यों को उजागर करना चाहते हैं, जो आप एक साथ कर सकते हैं। वे आपके क्रोध और कुंठा को प्रेम में बदलने में आपकी सहायता करते हैं। आपके द्वारा अनुभव की जाने वाली कठिनाइयों के बावजूद, आपका रिश्ता जारी रहेगा। यह एक देखभाल और भावनात्मक संबंध है।

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल और पूर्वा आषाढ़ नक्षत्र

वहीं मूल नक्षत्र वाले लोग अपनी भावनाओं को पूर्वा आषाढ़ लोगों के साथ असामान्य तरीके से साझा कर सकते हैं। आप शादी के लिए प्रतिबद्ध नहीं होना चाहते हैं। लेकिन आपको एक-दूसरे के समर्थन की जरूरत है और एक साथ काफी खुश रह सकते हैं। पूर्वा आषाढ़ आपके इस आक्रामक स्वभाव को शांत कर सकता है और आपको इसे सकारात्मक तरीके से उपयोग करने के लिए प्रेरित कर सकता है। वे आपके आध्यात्मिक मार्ग पर चलने में भी आपकी सहायता कर सकते हैं।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल और शतभिषा नक्षत्र

इसी के साथ मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) के जातक शतभिषा जातकों के प्रति आकर्षित हो सकते हैं, फिर भी आप उनसे सावधान रहते हैं। आप मानते हैं कि वे आपके जीवन को नियंत्रित करना चाहते हैं और इस संबंध में आपकी इच्छाओं और जरूरतों को नजरअंदाज किया जा सकता है। अपनी वास्तविक भावनाओं को त्यागने की कोशिश करें और अस्वीकृति के बजाय समर्थन और प्यार की पेशकश करें।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल और रेवती नक्षत्र

साथ ही मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) रेवती नक्षत्र के जातक स्वभाव से बहुत चतुर और दयालु होते हैं। वे बिना किसी अपेक्षा के आपकी सराहना और सम्मान करते हैं। रेवती के प्यार के लिए आप खुद को बदल सकते हैं। वे आपके दर्द और क्रोध को महसूस करते हैं और आपकी आध्यात्मिक यात्रा के लिए उनकी वास्तविक चिंता आपके आंतरिक दर्द को ठीक करती है।

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) जातकों के लिए अनुकुल पेशे

वहीं मूल नक्षत्र के लोगों के लिए जांचकर्ता, खगोलविद, लेखक, फार्मासिस्ट, व्यवसाय, आध्यात्मिक शिक्षक, राजनेता, डॉक्टर, लेखक पेशे कापी अनुकुल हैं।

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) की अनुकूल गतिविधियां

इसी के साथ मूल नक्षत्र के लिए अनुकूल गतिविधियां, डिजाइनिंग, रोपण और बागवानी, ज्ञान इकट्ठा करना, रोमांच, घर खरीदना और बेचना, निर्माण कुछ पसंदीदा गतिविधियां हैं।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) की प्रतिकूल गतिविधियां

धन उधार लेना या उधार देना, दीक्षा या शुरुआत, संतुलन, वित्तीय लेनदेन, विवाह समारोह और चातुर्य या कूटनीति से जुड़ी गतिविधियां मूल नक्षत्र के लिए कुछ प्रतिकूल गतिविधियां हैं।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) पद

  • पहला पद: मूल नक्षत्र का पहला पद मेष नवांश में पड़ता है और मंगल ग्रह द्वारा शासित होता है। इस पद में जन्म लेने वाले जातक को भौतिक इच्छाओं से सावधान रहने की आवश्यकता है। यह जातक को भौतिक जगत की ओर प्रभावित करता है।
  • दूसरा पद: इस नक्षत्र का दूसरा पद वृषभ नवांश में आता है और शुक्र द्वारा शासित होता है। इस पद में जन्म लेने वाले लोग मेहनती होते हैं। वे अपने भौतिक विकास के बारे में बहुत खास हैं।

  • तीसरा पद: मूल नक्षत्र का तीसरा पद मिथुन नवांश में पड़ता है और बुध द्वारा शासित होता है। इस पद में जन्म लेने वाले जातक अत्यधिक बुद्धिजीवी होते हैं। ऐसे जातक बहुत ही संतुलित स्वभाव के होते हैं।
  • चौथा पद: मूल नक्षत्र का चौथा पद कर्क नवांश में पड़ता है और चंद्रमा द्वारा शासित होता है। इस पद में जन्म लेने वाले लोगों का दूसरों की देखभाल करने का आध्यात्मिक और दार्शनिक तरीका होता है।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) से जुड़ी  विशेषताएं

प्रतीक- मूल नक्षत्र का प्रतीक जड़ों का गुच्छा, जो एक साथ बंधा हुआ है

शासक ग्रह- केतु ग्रह

लिंग –महिला

गण- नपुंसक राक्षस

गुण- सत्व/रजस

पीठासीन देवता- निरीति

पशु- नर कुत्ता

भारतीय राशि- 0° – 13°20′ धनु

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) के जातको की  शिक्षा / करियर रुचि / व्यवसाय

आपकी आय और व्यय पर आपका उचित नियंत्रण नहीं है, जो आपको कर्ज में डाल सकता है। आप लोगों को पर्याप्त सलाह देने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। इस तरह की विशेषता आपको धार्मिक सलाह या वित्तीय सलाह के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद करती है। आप उन व्यवसायों को बदलने की संभावना रखते हैं, जो आपके करियर में स्थिरता प्रदान नहीं करेंगे। आपके लगातार बदलते स्वभाव के कारण आपको हमेशा पैसों की जरूरत रहती है। आप अवैध गतिविधियों में लिप्त होकर कभी भी मौद्रिक लाभ नहीं कमाते हैं। आपको दोस्तों के साथ साझेदारी करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे आपको बड़ा आर्थिक नुकसान हो सकता है।

  • सबसे उपयुक्त पेशा के कुछ विकल्प: राजनेता, सार्वजनिक वक्ता, आध्यात्मिक शिक्षक, लेखक, शोधकर्ता, वकील, अन्वेषक, दार्शनिक, वकील, डॉक्टर, मंत्री, फार्मासिस्ट आदि।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र( mool nakshatra)  के जातकों का पारिवारिक जीवन

इसी के साथ मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) के पुरुष होने के कारण आपको अपने माता-पिता से कोई सहायता और समर्थन नहीं मिलता है। आप वास्तव में एक स्व-निर्मित व्यक्ति हैं। आपको एक आनंदमय और अच्छे वैवाहिक जीवन का अनुभव होने की संभावना है। आपको एक अच्छी गृहिणी के सभी गुणों के साथ एक आदर्श जीवनसाथी मिलेगा। यदि आप इस नक्षत्र( nakshatra) की महिला हैं, तो आपका वैवाहिक जीवन संतोषजनक नहीं होगा। आपका अपने साथी से अलगाव हो सकता है। संतान पक्ष की ओर से भी आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा होगा।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) के जातको का स्वास्थ्य


वहीं मूल नक्षत्र ( mool nakshatra) के पुरुष जातक को लगातार पेट दर्द, लकवा या तपेदिक जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। आपके लापरवाह रवैये के कारण 27, 31, 44 और 56 साल की उम्र में भी आपको कुछ गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप इस नक्षत्र की महिला हैं, तो आपको कंधे और पीठ में दर्द और पेट की समस्याओं से पीड़ित होने की संभावना है।

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 2,003 

WhatsApp

Posted On - November 7, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 2,003 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation