Pakua Darpan Benefits: जानें क्या होता है पकुआ दर्पण और इसके लाभ

पकुआ दर्पण
WhatsApp

आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र जातक के जीवन में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, क्योंकि इसी के आधार पर जातक के जीवन में आने वाली परिस्थितियों की गणना की जाती है। साथ ही इसमें जातक के जीवन में चल रही परिस्थितियों का अध्ययन भी किया जाता हैं। आपको बता दें कि पकुआ दर्पण (pakua darpan) आठ कोण वाला दर्पण होता है, जो फेंगशुई वास्तु शास्त्र में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

यह भी पढ़ें-अगर आप भी कर रहे है विवाह की तैयारी, तो नाडी दोष का रखें ध्यान

आपको बता दें कि फेंगशुई वास्तु में पकुआ दर्पण (pakua darpan)  और बागुआ  दर्पण के नाम से जाना जाता है, इसमें अष्टकोण है और इसमें शीशा लगा होता है। जिसके 8 किनारे होते हैं सभी आठ किनारे पर तीन तीन फेंगशुई की लकीरें होती है, इसमें से कुछ छोटी और कुछ लकीरें बड़ी होती हैं। आपको बता दें कि यह लाल, पीले, काले, नीले, हरे जैसे उज्जवल रंगों को जोड़कर लकड़ी का एक फ्रेम बनाया जाता हैं। 

इसी के साथ फेंगशुई वास्तु शास्त्र में पकुआ दर्पण (pakua darpan) के बहुत से लाभ होता है, इस दर्पण को लगाने का मुख्य स्थान घर के द्वार पर माना जाता है। बता दें कि जो भी व्यक्ति पकुआ दर्पण का इस्तेमाल अपने घर में करता है, उसके जीवन में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। साथ ही साथ यह बुरी नजर से उसके घर की रक्षा भी करता है।

यह भी पढ़ेंःविवाह शुभ मुहूर्त 2023: जानें साल 2023 में विवाह के लिए शुभ मुहुर्त और तिथि

क्या होता है पकवा दर्पण(bagua darpan)?

आपको बता दें कि पकुआ दर्पण 8 कोण वाला एक दर्पण होता है, जिसे पकुआ दर्पण और बागुआ दर्पण के नाम से भी जाना जाता है। इसमें अष्टकोण शीशे लगे होते हैं जिसके 8 किनारे होते हैं।वहीं इस शीशे के सभी आठ किनारों पर तीन-तीन फेंगशुई की लकीरे बनी होती है, इनमें से कुछ लकीर छोटी, तो कुछ बड़ी होती है। वही कई रंगो को जोड़कर एक लकडी का फेम तैयार किया जाता है। 

इसी के साथ पकुआ दर्पण (bagua darpan) को घर के मुख्य द्वार पर लगाया जाता है, जिससे घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश नहीं करती है। साथ ही इसे घर के द्वार पर लगाने से घर को किसी की भी बुरी नजर भी नहीं लगती है। साथ ही यह दर्पण फेंगशुई शास्त्र में काफी महत्वपूर्ण होता है और यह काफी लाभदायक होता है।

यह भी पढ़े- vastu tips 2022: जानें क्या कहता है दुकान का वास्तु शास्त्र और व्यापार में वृध्दि के अचूक ज्योतिष उपाय

पकुआ दर्पण (pakua darpan) के लाभ

पकुआ दर्पण (pakua darpan)  

आपको बता दें कि फेंगशुई पकुआ दर्पण (bagua darpan)  में गणपति पकुआ भी अष्टकोण में होते है। और पकुआ और गणपति पकुआ में यह अंतर होता है कि इसमें मध्य भाग में य गणेश जी बने होते हैं। इस दर्पण से रसोई में उत्पन्न वास्तु दोषों को दूर किया जाता है, इसको रसोई की दीवारों या गेट पर लगाना शुभ माना जाता है।

नकारात्मक ऊर्जा

आपको बता दें कि पकुआ दर्पण को घर के मुख्य द्वार पर लगाने से घर में नकारात्मक उर्जा उत्पन्न नहीं होती। साथ ही घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

नजर दोष

पकुआ दर्पण(pakua darpan)  नजर दोष को ख़त्म करने में कारगर उपाय माना जाता है। इसके कारण घर को किसी की भी बुरी नजर नही लगती है और यह शीशा घर को नकारात्मक ऊर्जा से घर की रक्षा करता है। अगर किसी घर को बुरी नजर लग जाती है, तो उस घर के मुख्य द्वार पर पकुआ दर्पण लगाना काफी लाभदायक साबित होता है इसके कारण व्यक्ति को लाभ होता है।

दिशा

आपको बता दें कि फेंगशुई वास्तु के अनुसार सकारात्मक उर्जा हमेशा पूर्व से पश्चिम की दिशा में और उत्तर से दक्षिण की दिशा की ओर चलती है। और इस दर्पण का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको इस शीशे को हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की दीवार पर लगाना चाहिए। इससे देखने वाले का चेहरा हमेशा पूर्व या उत्तर की ओर होना चाहिए। इसका यह कारण है कि दक्षिण-पश्चिम की दीवारों पर लगे पकुआ दर्पण (pakua darpan) उल्टी दिशा से आ रही ऊर्जा को वापस कर देते हैं।

घर और ऑफिस

बता दें कि पकुआ दर्पण को कभी भी घर के अंदर या ऑफिस के अंदर नहीं लगाना चाहिए। यह हानिकारक होता है और पकुआ दर्पण हमेशा घर के बाहर की दीवार पर या बालकनी के बाहर की तरफ लगाना चाहिए ताकि बाहर से आने नेगेटिव एनर्जी दूर रहे।

पकुआ दर्पण (pakua darpan) का आकार

आपको बता दें कि यह दर्पण फेंगशुई शास्त्र में काफी महत्वपूर्ण होता है इसीलिए इसका आकार भी उतना ही महत्वपूर्ण माना जाता है। बता दें कि फेंगशुई अनुसार शीशा जितना बड़ा और हल्का होता है यह उतना ही शुभ माना जाता है। 

यह भी पढ़ें-अगर आप भी कर रहे है विवाह की तैयारी, तो नाडी दोष का रखें ध्यान

दर्पण से जुड़े कुछ नियम

  • जब भी आप अपने घर के बाहर पकुआ दर्पण(pakua darpan)  लगाएं, तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उस का शीशा टूटा हुआ ना हो।
  • साथ ही शीशा गंदा नहीं होना चाहिए। इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • अगर पकुआ दर्पण (pakua darpan)  का शीशा टूटा या गंदा है, तो यह आपको लाभ नहीं देगा।
  • यह दर्पण कभी भी घर के अंदर या ऑफिस के अंदर नहीं लगाना चाहिए।
  • इस दर्पण का उपयोग तभी करना चाहिए जब नकारात्मक ऊर्जा जातक के घर को प्रभावित करें।
  • इसी के साथ पकुआ दर्पण (pakua darpan) का रंग नीला, काला, लाल, गुलाबी और नारंगी नहीं होना चाहिए।
  • साथ ही आपको आसमानी, हरा, सफेद, ऑफ वाइट रंग का फ्रेम इस्तेमाल करना चाहिए।
  • जब भी पकवा दर्पण (pakua darpan) अपने घर लाएं, तो इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उसका फ्रेम टूटा हुआ ना हो। अगर फ्रेम टूटा है, तो उसे ठीक करवाना चाहिए। जिससे आपको इस दर्पण का पूर्ण लाभ मिल सकें।

यह भी पढ़े- ज्योतिष शास्त्र से जानें मन और चंद्रमा का संबंध और प्रभाव

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 856 

WhatsApp

Posted On - April 25, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 856 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation