vastu tips 2022: जानें क्या कहता है दुकान का वास्तु शास्त्र और व्यापार में वृध्दि के अचूक ज्योतिष उपाय

दुकान का वास्तु
WhatsApp

वास्तु शास्त्र के अनुसार दिशाओं का काफी अधिक महत्व होता है। अगर जातक सही दिशा में घर, दुकान नहीं बनवाते है, तो उसके कारण जातक को परेशानी का सामना करना पड़ता है। आज हम दुकान का वास्तु किस प्रकार होना चाहिए इस बारे में चर्चा करेंगे। वास्तु शास्त्र के अनुसार जातक अगर अपनी दुकान सही दिशा में बनाता है, तो उस से धन लाभ होता है और उसके व्यापार में बढ़ोतरी होती है। लेकिन अगर जातक वास्तु शास्त्र का ध्यान नहीं रखता है, तो उसे परेशानियों का अनुभव करना पड़ता है।

दुकान का वास्तु शास्त्र जातक के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। इसीलिए दुकान बनाते या फिर खरीदते समय दुकान की दिशा का ध्यान अवश्य रखना चाहिए। अन्यथा आपको वास्तु दोष का सामना करना पड़ेगा और वास्तु दोष के कारण जातक के व्यापार और धन पर विशेष प्रभाव पड़ता है। वास्तु दोष के कारण जातक को धन की हानि शुरू हो जाती है इसके कारण जातक को कई तरह की परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है।

अगर जातक अपने घर दुकान आदि चीजों को बनवाते या खरीदते समय वास्तु दिशाओं का ध्यान रखता है उसके जीवन में सुख-समृद्धि धन आदि में वृद्धि होती है। लेकिन अगर वह इन चीजों का ध्यान नहीं रखता, तो उसे परेशानी का अनुभव करना पड़ता है। चलिए जानते हैं कि वास्तु शास्त्र के अनुसार दुकान खरीदे या बनवाते समय किस दिशा का चुनाव करना चाहिए-

यह भी पढ़ें-महावीर जयंती 2022: कब है 2022 में महावीर जंयती और इसका महत्व

वास्तु शास्त्र का महत्व

आपको बता दें कि जिस तरह किसी व्यक्ति के भविष्य या अतीत की गणना करने के लिए ज्योतिष उस जातक की कुंडली और ग्रह का अध्ययन करता है, उसी प्रकार जातक के जीवन में नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करने के लिए वास्तु शास्त्र अहम भूमिका निभाता है। अगर व्यक्ति वास्तु शास्त्र के अनुसार कार्य करता है, तो उसे अपने जीवन में परेशानियों का अनुभव नहीं होता है और उसे काफी लाभ होता है।

लेकिन अगर जातक अपने जीवन में वास्तु शास्त्र के अनुसार कार्य नहीं करता है, तो उसे अपने जीवन में परेशानियों का अनुभव करना पड़ता है। साथ ही उसे जीवन के सभी क्षेत्रों में और असफलता का सामना भी करना पड़ता है। इसीलिए वास्तु शास्त्र जातक के लिए काफी अहम होता है। और जातक वास्तु शास्त्र के नियमों को अपनाकर अपनी सभी परेशानियों को दूर कर सकता है। साथ ही वास्तु के नियमों के साथ अपने घर और दुकान की दिशा निर्धारित करके स्वास्थ्य और कई परेशानियों से छुटकारा पा सकता है।

यह भी पढ़ें-Chaitra Navratri 2022: इस चैत्र नवरात्रि बन रही है ग्रहों की ऐसी दशा, होगा इन राशि के जातकों को विशेष लाभ

दुकान का वास्तु शास्त्र

आपको बता दें कि दुकान बनाते या खरीदते समय दुकान का वास्तु शास्त्र को ध्यान में रखना काफी महत्वपूर्ण होता है। अगर जातक वास्तु शास्त्र का ध्यान नहीं रखता, तो उसे वास्तु दोष का सामना करना पड़ता है। जिसके कारण उसे अपने जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। वहीं जातक के जीवन में नकारात्मकता आ जाती है और उसे हर क्षेत्र में असफलता का सामना करना पड़ता है। वहीं जातक के खर्च भी बढ़ जाते हैं। साथ ही घर की सुख-शांति खत्म हो जाती है। यही कारण है कि वास्तु दोष जातक को पूरी तरह बर्बाद कर देता है इसीलिए वास्तु दोष का सामना ना करना पड़े, तो आपको वास्तुशास्त्र के नियमों का पालन करना चाहिए।

 जो जातक वास्तुशास्त्र के नियमों का पालन करता है उसके जीवन में सफलता आ सकती है। वह अपने जीवन में सुख और आय क्षेत्र में भी वृद्धि करता है और परिवार में खुशी का माहौल बना रहता है। आप दुकान खरीदते समय या बनाते समय दुकान का वास्तु शास्त्र अवश्य ध्यान रखें। क्योंकि अगर आप वास्तु नियमों का पालन नहीं करेंगे, तो आपके व्यापार में वृद्धि नहीं हो पाएगी जिसके कारण आपको कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा। इसीलिए दुकान बनाते समय सभी दिशाओं का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है और वास्तु की दिशा अनुसार दुकान जातक के लाभदायक होती है। चलिए जानते हैं कि क्या कहता है दुकान का वास्तु शास्त्र-

यह भी पढ़ें-महावीर जयंती 2022: कब है 2022 में महावीर जंयती और इसका महत्व

दिशा और दुकान का वास्तु शास्त्र

  • आपको बता दें कि आपकी दुकान की दिशा पूर्व मुखी है, तो दुकान समय पर खोलनी चाहिए। इससे आपका उत्पाद जल्दी बिकेगा। और आपको लाभ होगा।
  • साथ ही अगर आपकी दुकान ईशान दिशा में है, तो दुकान के मुख पर यानी द्वार पर वजन नहीं रखना चाहिए।
  • इसी के साथ उत्तर दिशा में दुकान का होना बहुत अच्छा होता है, तो व्यापारिक स्थिति अच्छी बनी रहती है और जातक को काफी लाभ होता है
  • अगर आपकी दुकान पश्चिम मुखी है, तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए। जो व्यक्ति दुकान खोलता है वही व्यक्ति दुकान को बंद भी करें।
  • अगर आपकी दुकान पश्चिम मुखी है, तो सड़क से दुकान थोड़ी ऊंची होनी चाहिए।
  • इसी के साथ सड़क के सामने गड्ढे है, तो उसे भर दें आपकी दुकान के सामने की सड़क या गली साफ-सुथरी होनी चाहिए।
  • साथ ही आपकी दुकान का शटर या दरवाजे का रंग सफेद होना चाहिए। और भीतर भी अधिकतम रंग सफेद ही होना चाहिए।
  • इसी के साथ दुकान का मुख पूर्व की ओर होता है, तो वह दुकान जातक के लिए लाभदायक होती है। ऐसी दुकान जातक को अधिक लाभ देती है।

यह भी पढ़े- ज्योतिष शास्त्र से जानें गौरी शंकर रुद्राक्ष का महत्व और फायदे

वास्तु अनुसार दुकान का आकार

  • आपको बता दें कि जिन दुकानों का आकार आगे से बड़ा और पीछे से छोटा होता है, तो वास्तु के हिसाब से यह अच्छा नहीं माना जाता।
  • साथ ही अगर दुकान आगे से दुकान छोटी और पीछे से बड़ी है, तो भी वास्तु अनुसार यह दुकान का आकार सही नहीं माना जाता।
  • अगर किसी दुकान की सभी दिशाओं में बराबर चौड़ी है या आयताकार या वर्गाकार है, तो इन दुकान का आकार शुभ माना जाता है। ऐसी दुकानों में कमाई में बरकत होती है और जातक को काफी लाभ होता है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार दुकान का रंग

  •  दुकान ईशान कोण में है, तो हल्का नीला, भूरा और हरा रंग का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • इसी के अनुसार आप चाहे, तो अपनी दुकान में सामान्य रंगों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • यदि आपकी दुकान दक्षिण पूर्व में है, तो आप लाल, पिंक, ऑरेंज, वॉयलेट कलर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसी के साथ अगर आपकी दुकान उत्तर पश्चिम दिशा में है, तो आप सिल्वर, वाइट, मैटेलिक लाइट शेड्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

दुकान में ग्राहकों की संख्या बढ़ाने के लिए उपाय

  • दुकान में कमाई में वृद्धि करने के लिए आपको साफ-सफाई जरूर रखनी चाहिए।
  • साथ ही आपका काउंटर उत्तर पूर्व दिशा में और माता लक्ष्मी गणेश जी की प्रतिमा होनी चाहिए।
  • इसी के साथ आप की दुकान की दीवार पर शुभ लाभ और स्वास्तिक का चिन्ह अवश्य होने चाहिए।
  • दुकान का कैश काउंटर उत्तर दिशा की तरफ रखे और कभी भी से खाली नहीं रखना चाहिए।
  • इसी के साथ दुकान में रोज इष्टदेव या देवी देवताओं को आप पूजते हैं या मानते हैं उनका ध्यान आपको सुबह शाम जरूर करना चाहिए।

दुकान के लिए वास्तु नियम

  • वास्तु नियम के अनुसार अपनी दुकान का कचरा कभी भी दूसरी दुकान के सामने नहीं डालना चाहिए। ऐसा करने से खुद की दुकान में बरकत में कमी होती है।
  • इसी के साथ दुकान के पास के चौराहे पर कचरा कभी भी ना डालें। ऐसा करने से उसी जगह की सभी दुकानों की कमाई पर असर पड़ता है।
  • साथ ही जब आप दुकान में बैठे हैं तब आपका मुंह हमेशा उत्तर की ओर होना चाहिए और आप पूर्व की ओर बैठे होने चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 2,049 

WhatsApp

Posted On - April 11, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 2,049 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation