शनि की साढ़ेसाती 2020- Humongous Impact of Saturn Transit

शनि की साढ़ेसाती 2020
WhatsApp

२४ जनवरी २०२० को शनि ग्रह २९ वर्षों बाद स्वगृही राशि मकर राशि में प्रवेश करेंगे। सवेरे 9:५२, २४ जनवरी को शनि धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे व १७ जनवरी २०२३ तक मकर राशि में रहेंगे। साथ ही, कुछ समय के लिए २९ अप्रैल २०२२ से १२ जुलाई २०२२ तक कुंभ राशि में भ्रमण करेंगे। शनि का स्व राशि में भ्रमण ज्योतिषीय दृष्टि से बेहद महत्व पूर्ण है, शनि की साढ़ेसाती 2020 Saturn Transit का हर राशि पर इसका प्रभाव दिखाई देगा।

हालांकि, कुछ राशियों पर इसका प्रभाव अधिक दिखाई देगा। शनि एक मंद गति से घूमने वाला ग्रह है। शनि की यह साढ़े साती कई राशि के जातकों के लिए शुभ साबित होगी, कुछ राशियों के लिए मध्यम रहेगी और कुछ के लिए हानिकारक रहेगी।

इस साल वृषभ राशि पर शनि की ढैय्या खत्म हो जाएगी। साथ ही, इस राशि के जातकों पर का प्रभाव कम ही रहेगा जिसके कारण सफलता और स्वास्थ्य लाभ होंगे।

साथ ही, लम्बे समय से चल रही वृश्चिक राशि पर शनि की साढ़ेसाती उतर जाएगी।

वर्ष 2020 में शनि की साढ़ेसाती से प्रभावित होने वाली राशियां-

ज्योतिष के अनुसार, शनि ग्रह को एक आध्यात्मिक, क्रूर, और फिर भी न्यायाधिपति ग्रह माना जाता है। इस वर्ष धनु ,मकर और कुंभ राशि शनि की साढ़ेसाती से प्रभावित रहेंगी। इन राशियों पर इसके प्रभाव कुछ इस प्रकार हैं-

शनि की साढ़ेसाती

– धनु राशि

धनु राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती का आखिरी चरण रहेगा,जो इस राशि के जातकों के लिए शुभ रहेगा। व्यापार में सफलता,धन संपत्ति लाभ। लेकिन, घरेलू जीवन में कुछ तनाव रह सकता है। इस कारण, इस राशि के सभी जातको के लिए आवश्यक है कि वह धैर्य और वाणी पर संयम रखें।

– मकर राशि

साढ़ेसाती का दूसरा चरण मकर राशि के जातकों पर रहेगा। शनि एक ऐसा ग्रह है जो जातकों को कड़ी मेहनत करने की मांग करता है और आदेश देता है। यथा, इस वर्ष यह ग्रह मकर राशि के जातकों को अधिक परिश्रम करवाएगा। साथ ही,जातकों के जीवन में भूमि और जायदाद संबंधित कोई विवाद हो सकता है।

– कुंभ राशि

साढ़ेसाती का प्रथम चरण इस राशि के जातकों पर रहेगा। इसके कारण, मानसिक तनाव व चिंता रह सकती है औरअधिक परिश्रम व कम लाभ की स्थिति रहेगी। हलाकि, हालांकि, उज्ज्वल पक्ष को देखते हुए, सभी कार्य और भ्रमड़ संभंधित यात्राएं फलित रहेंगी।

2020 में शनि की ढैय्या से प्रभावित होने वाली राशियां

मिथुन, कन्या और तुला राशि के जातक पूरे वर्ष शनि की ढैय्या से प्रभावित रहेंगे। साथ ही, इसके प्रभाव कुछ इस प्रकार हैं-

– मिथुन राशि

ढैय्या का प्रभाव पूरे वर्ष इस राशि के जातकों पर रहेगा ,अती व्यय ,ग्रह क्लेश उच्च अधिकारियों से परेशानी व गलत निर्णय हो सकते है।

– तुला राशि

शनि की ढैय्या का प्रभाव पूरे वर्ष रहेगा। इस राशि के जातक लाभ की स्थिति में रहेंगे, पदोन्नति ,व्यापार में सफलता,संतान संबंधित सुख ,मांगलिक कार्य और भूमि भवन सुख मिलेगा।

– कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों पर शनि की का प्रभाव २३ जनवरी २०२० तक रहेगा। हालांकि, इसका कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होगा। जातकों को हर क्षेत्र में लाभ प्राप्ति होगी।

शनि की साढ़ेसाती के अशुभ प्रभाव से बचने के उपाय

शनि की साढ़ेसाती व ढैया के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए निम्न उपाय अवश्य करे –

  • प्रत्येक शनिवार को तेल में मुंह देख कर छाया दान (उस तेल का दान) किसी भी मंदिर अथवा गरीब को करें।
  • प्रत्येक शनिवार को पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और दीप जलाएं।
  • साथ ही, सात बार पेड़ की परिक्रमा करें।
  • शनिवार को घोड़े की नाल की अंगूठी बनवाएं और इसे उसी दिन धारण करें।
  • दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में हर रोज श्री हनुमान चालीसा का पाठ करके सात बार परिक्रमा करें।
  • शनि मंत्र के से शनि ग्रह के अशुभ प्रभाव कम होते हैं। इस कारण से “ऊँ शं शनैश्चराय नमः” का जप करें।
  • दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ करें।

साथ ही आप पढ़ना पसंद कर सकते हैं डिप्रेशन और चिंता को दूर करने के ज्योतिषीय उपाय

शनि की साढ़े साती के नकारात्मक प्रभाव से छुटकारा पाने के लिए प्रतिष्ठित ज्योतिषी उषा जैन भटनागर से यहां संपर्क करें

 1,247 

WhatsApp

Posted On - January 21, 2020 | Posted By - Astrologer Usha | Read By -

 1,247 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation