Shani gochar 2023: होने वाला है शनि गोचर 2023, जानें किस राशि की चमकेगी किस्मत और किस राशि को उठाना होगा परेशानियों का बड़ा भार

शनि गोचर 2023 | Saturn transit 2023
WhatsApp

वैदिक ज्योतिष में शनि को न्याय करने वाला ग्रह माना जाता है और यह आपके कर्मों का फल देता है और इसलिए इसे कर्म का ग्रह भी माना जाता है। शनि गोचर 2023(Shani gochar 2023) 17 जनवरी 2023 को मकर राशि से कुंभ राशि में होगा। यदि इसके समय की बात करें, तो यह 17 जनवरी 2023 को शाम 5 बजकर 04 मिनट पर होगा। और शनि मकर राशि से गोचर करके कुंभ राशि में प्रवेश करेगा और पूरे वर्ष इसी राशि में स्थित रहेगा।

वहीं शनि ग्रह 2023 (Shani gochar 2023) की इस घटना के कारण धनु राशि के जातक शनि की साढ़ेसाती के दुष्प्रभाव से मुक्त हो जाएंगे और मकर राशि के जातकों के लिए सुरक्षित साढ़े का दूसरा चरण भी समाप्त हो जाएगा और फिर तीसरा चरण शुरू होगा। कुंभ राशि का पहला चरण भी समाप्त होगा और उसके बाद दूसरा चरण शुरू होगा। साथ ही मीन राशि के लिए शनि साढ़ेसाती का पहला चरण भी शुरू होगा। तुला और वृश्चिक राशि वालों को शनि ढैय्या से मुक्ति मिलेगी। इसी तरह कर्क राशि के जातकों की कंटक शनि ढैय्या शुरू होगी।

शनि ग्रह का महत्व

ज्योतिष अनुसार शनि ग्रह व्यक्ति को जीवन में अनुशासित रहना और न्याय का सम्मान करना सिखाता है। जैसे एक शिक्षक हमें अपनी ऊर्जा को सही दिशा में उपयोग करने के लिए तैयार करता है और यदि हम अपने जीवन में कोई गलती करते हैं, तो पहले हमें प्यार से सुधारें और फिर दंड देकर ठीक उसी तरह शनि भी व्यक्ति को जीवन में अनुशासित बनने में मदद करता है। यह ग्रह हमें सिखाता है उसके आशीर्वाद से ही इंसान मर्यादा में रहकर काम करना सीखता है। 

साथ ही शनि के कुम्भ राशि में गोचर करने से हम समझेंगे कि जब शनि कुछ कठिन निर्णय लेगा, तो उसका क्या परिणाम होगा और जिन जातकों को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, उन पर शनि की कितनी कृपा होगी। यह विचार हमारे जीवन में और हमारे करियर में भी स्थिरता लाता है। कुम्भ राशि में शनि के गोचर के कारण हमें अपने लक्ष्यों के प्रति जागरूक होना चाहिए। तभी हम अपने सामर्थ्य के अनुसार अपने उद्देश्यों को प्राप्त कर सकते हैं। आइए समझते हैं कि कुम्भ राशि 2023 में शनि का गोचर (shani gochar 2023 in kumbh rashi) जीवन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे आपके व्यवसाय, नौकरी, विवाह, को कैसे प्रभावित करेगा। 

शनि गोचर 2023 (Shani gochar 2023) का समय और तिथि

साल 2023 में यह 30 जनवरी रात्रि 12 बजकर 02 मिनट से 30 जनवरी 2023 रात्रि 11 बजकर 36 मिनट तक अस्त अवस्था में रहेगा।

इसके बाद 17 जून 2023 को रात 10 बजकर 48 मिनट से वक्री होकर 4 नवंबर 2023 को सुबह 8 बजकर 26 मिनट से पुनः मार्गी गति में आ जाएगा।

साल 2023 में शनि ग्रह मकर राशि से निकलकर 17 जनवरी 2023 रात 8 बजकर 2 मिनट पर कुंभ राशि मे प्रवेश करेगा।

शनि का कुम्भ राशि में गोचर 17 जनवरी 2023 को होगा। यह मकर राशि से कुम्भ राशि में रात 08:02 बजे प्रवेश करेगा। दिलचस्प बात यह है कि यह शनि गोचर 2023 में 30 साल बाद हो रहा है और एक योग बनाता है- शश महापुरुष योग (महा योगों में से एक)।

ज्योतिष में यह महा योग प्रत्येक राशि के जीवन को अपने तरीके से प्रभावित करेगा। आइए जानें कैसे!

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

सभी राशियों पर शानि गोचर 2023(Shani gochar 2023) का प्रभाव

मेष राशि 

  • मेष राशि में दसवें और ग्यारहवें भाव का स्वामी शनि है, यह मेष राशि से एकादश भाव में गोचर करेगा। इस राशि परिवर्तन के कारण एकादश भाव, जिसे आय का भाव माना जाता है। शनि गोचर का प्रभाव इस साल आपको काफी कुछ दे सकता हैं।
  • इस गोचर से आपकी आय में अप्रत्याशित वृद्धि होने की संभावना रहेगी और इस वर्ष आपको किसी विश्वसनीय स्रोत से आमदनी भी प्राप्त होगी। 
  • आपने अब तक जो भी चुनौतियां झेली हैं और जितनी मेहनत की है, अब आपको उसका पूरा फल मिलेगा। 
  • साथ ही आपकी सभी इच्छाएं और महत्वाकांक्षाएं पूरी होंगी। आपकी अधूरी योजनाएं भी पूरी होंगी और आपका आत्मविश्वास बढेंगा। 
  • प्रेम संबंधों में यह समय ईमानदारी और योजना बनाकर अपनी भूमिका निभाने का होगा। 
  • आपको अपनी स्वास्थ्य समस्याओं के प्रति सावधान रहना होगा। 
  • वहीं अचानक धन लाभ होने के भी योग बन रहें है। 

वृषभ राशि 

  • शनि गोचर 2023 के अनुसार आप व्यवसाय करें या नौकरी, दोनों ही क्षेत्रों में आपको अपार सफलता मिलेगी। 
  • करियर में स्थिरता का समय रहेगा। नई योजनाओं से नौकरी और व्यापार में प्रमोशन और इंक्रीमेंट की संभावना भी बढ़ेगी और व्यापार में वृद्धि के योग बनेंगे। 
  • कामकाज को लेकर विदेश यात्रा की संभावनाएं प्रबल होंगी और आप विदेश जाकर व्यापार को और आगे बढ़ा सकेंगे। 
  • पारिवारिक जीवन में कुछ तनाव रहेगा, क्योंकि परिवार के लिए समय कम रहेगा। काम को लेकर आप काफी व्यस्त रहेंगे। 
  • दांपत्य जीवन में आ रही दिक्कतों पर आपकी नजर पड़ेगी। लेकिन आप उन्हें नजरअंदाज करने की कोशिश करते नजर आएंगे। जीवनसाथी के लिए कुछ करने का समय मिलेगा।

मिथुन राशि 

  • आपके पिता के साथ आपके संबंध प्रभावित होंगे और यह समय उनकी सेहत के लिए खराब रहेगा। 
  • आपको अपनी मेहनत से अपना भविष्य बनाने का मौका मिलेगा, इसलिए याद रखें कि आप जितनी मेहनत करेंगे, उतना ही अधिक फल आपको इस समय मिलेगा। 
  • आप अपनी नौकरी बदल सकते है। आमदनी में अच्छी बढ़ोत्तरी हो सकती है। लेकिन उसके लिए आपको कड़े प्रयास करने होंगे। 
  • व्यापार में जोखिम उठाने के लिए यह एक अच्छा समय होगा। कर्ज कम होगा और आप उसे कम करने के लिए भरपूर प्रयास करेंगे और आपको सफलता भी मिलेगी। साथ ही आपको अपने विरोधियों पर विजय प्राप्त होगी।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

कर्क राशि 

  • शनि गोचर 2023 के अनुसार शनि कर्क राशि में सप्तम और अष्टम भाव का स्वामी ग्रह है और कर्क राशि से अष्टम भाव में गोचर करेगा। इस वर्ष आपको कंटक शनि की ढैय्या का प्रभाव मिलेगा। 
  • आपको अपने ससुराल पक्ष की मदद करने का मौका मिलेगा। कामकाज में कुछ चुनौतियां आएंगी। लेकिन अगर आप पूरे प्रयास करेंगे, तो सफल हो सकते हैं। 
  • काम को लेकर कुछ दबाव के साथ कुछ मानसिक तनाव भी रहेगा। लेकिन आप अपनी मेहनत और चतुराई से हर परेशानी से निकलने में भी कामयाब रहेंगे। 
  • अचानक धन लाभ होने के योग बनेंगे। आपको अपने ससुराल से धन या सुख का कोई स्रोत मिल सकता है। 
  • आपको अपनी संतान को लेकर कुछ चिंता महसूस हो सकती है। प्रेम संबंधों में उतार-चढ़ाव रहेगा। 
  • छात्रों को अपनी शिक्षा के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है। 

सिंह राशि 

  • शनि सिंह राशि में छठे और सातवें भाव का स्वामी होकर सिंह राशि से सप्तम भाव में गोचर करेगा। 
  • आप अपने वैवाहिक जीवन को लेकर काफी व्यवस्थित महसूस करेंगे। 
  • आपको अपने जीवन साथी का सहयोग मिलेगा और आप साथ मिलकर कोई नया व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। 
  • आपको व्यापार में सफलता मिलने के योग बन रहे है और आपकी कार्यकुशलता आपको सफलता दिलाएगी। 
  • अपने स्वास्थ्य के प्रति व्यस्तता और लापरवाही से बचना चाहिए, क्योंकि यह आपके लिए बेहद ज़रूरी है, अन्यथा कुछ स्वास्थ्य समस्याएं आपको परेशान कर सकती हैं।

एस्ट्रोलॉजर से बात करने के लिए: यहां क्लिक करें

कन्या राशि

  • आपके विरोधियों के लिए यह समय कठिन रहेगा, क्योंकि यहां शनि की उपस्थिति आपको मजबूत बनाएगी और आप अपने शत्रुओं को परास्त करने में सक्षम होंगे, चाहे वे कितनी भी कोशिश कर लें, वे आप पर हावी नहीं हो पाएंगे। 
  • इस दौरान आपको अपने कर्ज को मैनेज करने की जरूरत होगी, क्योंकि शनि आपको सिखाएगा कि जब तक बहुत ज्यादा आर्थिक परेशानी न हो, तब तक आपको कर्ज नहीं लेना चाहिए और इस दौरान आपको कर्ज चुकाने पर ध्यान देना चाहिए। 
  • शनि की यह स्थिति आपकी नौकरी के लिए काफी मददगार साबित होगी। आप अपने काम में माहिर बनेंगे और नौकरी में आपकी स्थिति मजबूत होगी।
  •  इस दौरान आप अपनी आर्थिक स्थिति को स्थिर करने के लिए काफी मेहनत करते हुए भी दिखाई देंगे, जिससे शारीरिक परेशानी आपको परेशान कर सकती है।

तुला राशि

  • शनि तुला राशि में चतुर्थ और पंचम भाव का स्वामी ग्रह है और तुला राशि से पंचम भाव में गोचर करेगा। इस साल आपकी शनि की ढैय्या का असर पूरी तरह से खत्म हो जाएगा और आपको राहत मिलेगी। 
  • पंचम भाव में शनि का गोचर प्रेम संबंधों के लिए परीक्षा का समय होगा। अगर आप अपने रिश्ते में ईमानदार और वफादार हैं, तो आपका रिश्ता बहुत खूबसूरत बनेगा 
  • छात्रों को पढ़ाई में चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। लेकिन अगर वे नियमित रूप से अध्ययन करें और एक कार्यक्रम बनाएं, तो वे सफलता प्राप्त करने में सक्षम होंगे। 
  • अगर आप किसी को पसंद करते हैं और उससे शादी करना चाहते हैं, तो इस दौरान आपको सफलता मिल सकती है और प्रेम विवाह हो सकता है। 

वृश्चिक राशि 

  • आपके चतुर्थ भाव में शनि के प्रभाव के कारण आपके और आपके परिवार के बीच दूरियां बढ़ेंगी। 
  • आपको अपना वर्तमान निवास बदलना होगा और आप इससे दूर जा सकते हैं। 
  • यह समय परिवार से दूर जाने का हो सकता है, इसलिए आप थोड़ा भावुक और मानसिक रूप से भी महसूस करेंगे। परिवार और घर की चिंता आपको तनाव में रखेगी और परिवार के सदस्यों की हर जरूरत को आप पूरा करते हुए नजर आएंगे। 

धनु राशि

  • अगर आप नौकरी करते हैं, तो दफ्तर में आपके सहकर्मी भी आपका पूरा सहयोग करेंगे और उनकी वजह से आप अपने कार्यक्षेत्र में अच्छे पद पर आसीन हो पाएंगे।
  • आपके साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी। व्यापार में भी जोखिम लेने की प्रवृत्ति को बढ़ाकर आप अपने व्यवसाय की अपेक्षित वृद्धि को बढ़ाने में सफल हो सकते हैं। 
  • प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगी। आप अपने प्यार के लिए सीमाओं को लांघने के लिए तैयार रहेंगे। 
  • यह समय आपकी संतान के लिए उन्नति का रहेगा। विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में भी अच्छे परिणाम मिलेंगे और उनकी मेहनत अच्छे परिणाम में बदलेगी। 

एस्ट्रोलॉजर से चैट करने के लिए: यहां क्लिक करें

मकर राशि

  • मकर राशि में शनि मकर राशि और दूसरे भाव का स्वामी ग्रह होकर मकर राशि से दूसरे भाव में गोचर करने जा रहा है। आपकी शनि साढ़े साती का दूसरा चरण समाप्त हो रहा है और तीसरा और अंतिम चरण शुरू होगा।
  • आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होने लगेगी। पूर्व में आपने जो भी मेहनत की है, उसका इस दौरान आपको बेहतरीन परिणाम मिलेगा और आपका बैंक बैलेंस स्थिर होने लगेगा। 
  • आप धन संचय करने में सफल रहेंगे। प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त से भी आपको अच्छा मुनाफा होगा। 
  • परिवार की जरूरतों को पूरा करने में आप खुद को सीमित रखेंगे और परिवार के लोगों के सामने आपका स्थान ऊंचा रहेगा। 
  • हालांकि, आप न केवल अपने परिवार के साथ अच्छे संबंध स्थापित कर पाएंगे बल्कि अपने जीवनसाथी के परिवार यानी अपने ससुराल पक्ष के साथ भी अच्छे रहेंगे और जरूरत पड़ने पर आप उनकी मदद भी करेंगे। 
  • इस दौरान आपका सामाजिक स्तर भी ऊंचा रहेगा। व्यापार में आपको सोच-समझकर निवेश करना होगा और नौकरी में आपको अच्छे पद की प्राप्ति होगी।

कुंभ राशि 

  • कुम्भ राशि में 12वें और 1लें भाव का स्वामी ग्रह होने के कारण शनि कुम्भ राशि में ही गोचर करेगा। कुंभ राशि के जातकों की शनि साढ़ेसाती का पहला चरण समाप्त होकर दूसरा चरण शुरू होगा। 
  • आपकी राशि में शनि के प्रभाव के कारण आपको अपने कार्यों को सही दिशा में करना होगा। 
  • यह समय आपके करियर के लिए बहुत ही अच्छा रहेगा। अगर आप व्यापार करते हैं, तो उसका विस्तार होगा। 
  • विदेश व्यापार करने में भी आपको सफलता मिल सकती है। नौकरी में भी आपके पद में वृद्धि होगी और आपके व्यक्तित्व में निखार आएगा। 
  • आपका व्यक्तित्व मजबूत होगा और आप जो काम करेंगे उसमें स्थिरता आएगी। भाई-बहनों का सहयोग आपके साथ रहेगा। लेकिन किसी तरह की शारीरिक समस्या उन्हें परेशान कर सकती है। 
  • दांपत्य जीवन के लिए यह समय बहुत अच्छा नहीं रहेगा और काम के सिलसिले में आपको अपने जीवनसाथी से कुछ समय के लिए दूर भी रहना पड़ सकता है। लेकिन आप इस समय का भरपूर फायदा उठा पाएंगे और रिश्तों में आपसी तालमेल बना पाएंगे।

मीन राशि

  • साल 2023 में मीन राशि में शनि का गोचर, एकादश और बारहवें भाव का स्वामी ग्रह होने के कारण मीन राशि से बारहवें भाव में गोचर करेगा। 
  • मीन राशि के जातकों के लिए साढ़े साती का पहला चरण शुरू होगा। शनि के बारहवें भाव में गोचर के कारण आपको अपने स्वास्थ्य पर बहुत अधिक ध्यान देना होगा। 
  • शनि के इस गोचर के दौरान आपको पैरों में दर्द, टखनों में दर्द या पैर में किसी तरह की चोट या मोच आ सकती है। 
  • इसके अलावा, आपको आंखों से पानी आना, आंखों में दर्द या आंखों की रोशनी कम होने जैसी शिकायतें भी हो सकती हैं।
  • इस अवधि में आपके अंदर आलस्य बढ़ेगा और आपको नींद भी अधिक आएगी। लेकिन आपको इससे बाहर निकलकर अपने काम पर ध्यान देना होगा। 
  • अगर आप विदेश जाना चाहते हैं, तो यह सबसे अच्छा समय है। विदेश जाने से आपको कोई अच्छा पद मिल सकता है। 

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 6,457 

WhatsApp

Posted On - December 13, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 6,457 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation