Surya gochar 2022: होने वाला है कर्क राशि में सूर्य गोचर, जानें किस राशि की चमकेगी किस्मत

कर्क राशि में सूर्य गोचर
WhatsApp

सूर्य ऊष्मा और प्रकाश का ग्रह माना  जाता है। कहा जाता है कि अगर सूर्य का प्रकाश नहीं होता, तो पृथ्वी एक बड़े और काले होल के सामान होती। वैदिक ज्योतिष में सूर्य को सर्वोच्च माना जाता है और यह जातक की आत्मा का निर्माण करता है। यह राजाओं और उच्च अधिकार और स्थिति के लोगों का ग्रह माना जाता है। सांसारिक ज्योतिष के अनुसार इसे सरकार और मंत्रिपरिषद के रूप में माना जाता है। गूढ़ विज्ञान के अनुसार सूर्य काफी शक्तिशाली है। इसी के साथ साल 2022 के जुलाई माह में कर्क राशि में सूर्य गोचर(Sun transit in cancer 2022) सभी राशियो के लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योकि इस गोचर के कारण जातकों को लाभ और हानि दोनों का सामना करना पड़ सकता है। चलिए जानते है साल 2022 में सूर्य गोचर(surya gochar 2022) का समय और तिथिः

यह भी पढ़े- vastu tips 2022: जानें क्या कहता है दुकान का वास्तु शास्त्र और व्यापार में वृध्दि के अचूक ज्योतिष उपाय

कर्क राशि में सूर्य गोचर 2022(Sun transit in cancer 2022) का समय

उग्र ग्रह को पिता के कारक के रूप में जाना जाता है। एक अच्छी तरह से स्थित सूर्य जातक को पिता से लाभ देता है और एक बीमार व्यक्ति पिता के अस्तित्व पर एक चारा है। सूर्य द्वैत राशि से गतिमान राशि में गोचर करेगा। यह अपने मित्र की राशि चंद्र यानि कर्क में गोचर करेगा। आग और पानी का यह संयोजन जातक के जीवन में भारी बदलाव लाने की क्षमता रखता है।

सूर्य का कर्क राशि में गोचर 16 जुलाई 2022 को रात 10 बजकर 50 मिनट पर होगा। और सूर्य इस राशि में 17 अगस्त 2021 तक सुबह 7 बजकर 14 मिनट तक रहेगा। जब तक कि वह अपनी ही राशि सिंह में नहीं चला जाएगा। आइए जानते हैं कि इस गोचर का सभी राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा-

यह भी पढ़ें- गुरु पूर्णिमा 2022ः जानें ज्योतिष अनुसार गुरु पूर्णिमा का महत्व और शुभ मुहूर्त

कर्क राशि में सूर्य गोचर 2022 (Sun transit in cancer 2022) का सभी राशियों पर प्रभाव

मेष राशि

आपको बता दें कि मेष राशि के जातकों के लिए सूर्य प्रेम, रोमांस और संतान के पांचवें भाव का स्वामी है और सुख, आराम के चौथे भाव में गोचर करेगा। आपके केंद्र में सूर्य का यह गोचर अनुकूल परिणाम लाएगा

पेशेवर जीवन में  सैनिक विशेष रूप से जो सरकारी विभागों में है। इस अवधि के दौरान विकास और सफलता प्राप्त करेंगे। जो लोग उच्च पद की नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उन्हें इस समय के दौरान प्रयास करना चाहिए क्योंकि मनचाहा पद मिलने की संभावना है। यह अवधि व्यवसाय के लिए भी सफलता लाएगी क्योंकि वे बाजार में अपनी प्रतिष्ठा विकसित करने में सक्षम होंगे और अपने उत्पादों के लिए एकाधिकार भी बना सकते हैं।

निजी जीवन के मामले में आप ऊर्जावान और आक्रामक रहेंगे। आपको अपने परिवार में कुछ संघर्षों का सामना करना पड़ सकता है, जो निराशाजनक होगा। यदि आप निजी उपयोग के लिए किसी प्रकार की संपत्ति पर निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो समय अनुकूल है क्योंकि आप एक अच्छा सौदा करने में सक्षम होंगे। स्वास्थ्य के मामले में आपको सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि इस अवधि के दौरान आपको हीट स्ट्रोक, कोलेस्ट्रॉल की समस्या और एसिडिटी होने का खतरा रहेगा।

गोचर के लिए उपाय– आपको रोज सुबह 108 बार गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए। इस उपाय से आपको काफी लाभ होगा और आपको हर काम में सफलता भी प्राप्त होंगी।

यह भी पढ़े- ज्योतिष शास्त्र से जानें मन और चंद्रमा का संबंध और प्रभाव

वृषभ राशि

साथ ही वृषभ राशि के जातकों के लिए सूर्य भूमि और संपत्ति के चौथे भाव का स्वामी होता है। इस गोचर अवधि के दौरान यह संचार और भाई-बहनों के तीसरे भाव में रहेगा। यह गोचर काल आपके अंदर शक्ति और जीवन शक्ति लाएगा।

पेशेवर जीवन के संदर्भ में नौकरीपेशा जातकों को इस अवधि के दौरान अपनी नौकरी बदलने या स्थानांतरण प्राप्त करने की संभावना है। मूल रूप से काम के स्थान में परिवर्तन इस अवधि के दौरान आपके कार्ड पर है। व्यवसाय के मालिक अपने उत्पाद के विपणन और बिक्री के लिए नई रणनीतियों को लागू करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे। आपको अपने प्रयासों में सफलता मिलने की संभावना है। साथ ही आप बाजार में स्थिर स्थिति बनाने में सक्षम होंगे। जो लोग खेल से जुड़े हैं उन्हें इस दौरान काफी लाभ होगा।

व्यक्तिगत मोर्चे पर आप अपने निर्णय लेने में आत्मविश्वासी और निडर रहेंगे। इस समय के दौरान आप अपने भाई-बहनों और दोस्तों पर शासन करेंगे। अपनों से आपकी संवादहीनता हो सकती है, जिससे उन्हें कई बार चोट भी लग सकती है। इस अवधि के दौरान आपको अपने दोस्तों और परिचितों के साथ एक छोटी साहसिक यात्रा पर जाने की संभावना है।

गोचर के लिए उपाय–  इस गोचर काल में घर से निकलने से पहले अपने पिता का आशीर्वाद लें। इससे आपको बेहद लाभ होगा और आपके बिगडे काम बन जाएंगे।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों के लिए सूर्य शक्ति, यात्राओं और भाई-बहनों के तीसरे भाव का स्वामी है। यह आपके धन, परिवार और वाणी के दूसरे भाव में संचार करेगा। आर्थिक दृष्टि से यह समय आपके लिए लाभकारी रहेगा।

पेशेवर जीवन में यह अवधि नौकरीपेशा जातकों के लिए वेतन वृद्धि और अच्छे प्रोत्साहन लाने की संभावना है। जो लोग सरकारी परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं, उन्हें इस अवधि में कुछ अच्छे लाभ की उम्मीद हो सकती है। दोस्तों की मदद से आपको कुछ धन लाभ हो सकता है। साथ ही अतीत में अटका हुआ कुछ धन वापस मिलने की भी संभावना है।

निजी जीवन में यह अवधि जीवन शक्ति और शक्ति की कुछ कमी लाएगी। आप अपनी बात में सीधे-साधे रहेंगे और इससे आपको घर में टकराव और लड़ाई-झगड़े का सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान आपको आंखों की समस्या और मुंह में छाले होने का खतरा रहेगा इसलिए खान-पान में सावधानी बरतें। साथ ही खुद को सीधी धूप से भी बचाएं।

गोचर के लिए उपाय–   गायों को प्रतिदिन गेहूं और गुड़ खिलाएं। इस उपाय से आपको काफी लाभ होगा।

यह भी पढ़ें- सावन सोमवार व्रत 2022: जानें सावन सोमवार व्रत का महत्व और तिथि

कर्क राशि

वहीं कर्क राशि के जातकों के लिए सूर्य परिवार और वित्त के दूसरे भाव का स्वामी होता है। इस दौरान गोचर की अवधि कर्क राशि के जातकों के प्रथम भाव से गोचर करेगी। यह गोचर कमान के लोगों के लिए अनुकूल रहेगा।

पेशेवर क्षेत्र में इस दौरान अपने प्रोफाइल में कुछ पदोन्नति और उत्थान की उम्मीद कर सकते हैं। जो लोग सरकारी सेवाओं के माध्यम से प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें भाग्यशाली होने की संभावना है। व्यवसाय के मालिक एक कमांडिंग स्थिति में होंगे और अपने काम करने की शर्तों को निर्धारित करेंगे। जो लोग पारिवारिक व्यवसाय से जुड़े हैं उनका समय शुभ रहेगा। आपको अच्छा लाभ होगा।

व्यक्तिगत मोर्चे पर आप अपने प्रियजनों के साथ अपने व्यवहार में कठोर होंगे, आपका स्वभाव भी गर्म रहेगा। आप छोटी-छोटी बातों पर चिंतित या अधीर हो सकते हैं। आप अपने परिवार के प्रति संवेदनशील रहेंगे और घर के सदस्यों पर प्रतिबंध लगाने का प्रयास कर सकते हैं। आप जुनून के साथ अपने लक्ष्यों की ओर काम करेंगे और अधिक पाने का नजरिया रखेंगे। स्वास्थ्य के मामले में आप बेचैनी महसूस करेंगे और बीपी और चिंता की समस्या से पीड़ित हो सकते हैं।

गोचर के लिए उपाय–  आपको सूर्योदय के समय तांबे के बर्तन में जल लेकर सूर्य को अर्घ्य दें, उसमें कुमकुम डालकर सूर्य को अर्पित करें।

सिंह राशि 

सिंह राशि के जातकों के लिए सूर्य इस राशि का स्वामी है और अपने बारहवें भाव से व्यय, हानि और विदेशी भूमि में गोचर करेगा। सिंह राशि के जातकों के लिए सूर्य का गोचर बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उस विशेष समय के लिए उनके मार्ग को परिभाषित करता है।

पेशेवर क्षेत्र में जो सैनिक विदेशी ग्राहकों के साथ काम कर रहे हैं या बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम कर रहे हैं, उनके लिए अनुकूल अवधि होगी। आप अंतरराष्ट्रीय ग्राहक से अपनी कंपनी के लिए अच्छा व्यवसाय हासिल करने में सक्षम होंगे। यह आपके लिए प्रशंसा और उपहार नकद और वस्तु के रूप में लाएगा। व्यापार मालिकों को सतर्क रहने की सलाह दी जाती है क्योंकि आपके प्रतियोगी नकारात्मक प्रचार के साथ आपकी छवि खराब करने का प्रयास करेंगे। हालाँकि, यदि आप निर्यात उद्योग में हैं, तो आप ऑर्डर की संख्या में वृद्धि के साथ अपने व्यवसाय में कुछ वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं।

व्यक्तिगत  जीवन में आपको कुछ यात्रा योजनाएँ बनानी पड़ सकती हैं जो आराम करने के बजाय थकाऊ होंगी। आपको इस अवधि के दौरान अपने सामान का ध्यान रखने की सलाह दी जाती है क्योंकि चोरी या सामान खोने की संभावना अधिक है। आप प्रतिरक्षा और सहनशक्ति में कम महसूस कर सकते हैं इसलिए आपको स्वस्थ आहार लेने की सलाह दी जाती है।

गोचर के लिए उपाय–  रोज सुबह ‘ ओम सूर्याय नमः‘ का 108 बार जाप करें।

कन्या राशि

आपको बता दें कि कन्या राशि के जातकों के लिए सूर्य आपके बारहवें भाव में हानि और यात्रा का स्वामी है। इस गोचर के दौरान सूर्य आपके लाभ और लाभ के एकादश भाव में रहेगा। धन के भाव में सूर्य आमतौर पर शुभ परिणाम लाता है।

पेशेवर जीवन के लिहाज से यह समय उन लोगों के लिए अनुकूल रहेगा जो सार्वजनिक क्षेत्र में नौकरी की उम्मीद कर रहे हैं। पर्यावरणविद और परोपकारी के रूप में काम करने वाले कर्मचारियों को भी कुछ पहचान मिलेगी। व्यवसायियों को सावधान रहने की सलाह दी जाती है क्योंकि कोई भी नया निवेश करने के लिए समय बहुत जोखिम भरा है। इस अवधि के दौरान संसाधनों का डायवर्जन और आपके उत्पादों का विविधीकरण अच्छा काम करेगा।

निजी जीवन के मामले में आप सामाजिकता और नए दोस्त बनाने के लिए सुर्खियों में रहेंगे, आपका पीआर बेहतर होगा और आप अपने समाज में लोकप्रिय होंगे। प्रेमियों के लिए यह समय अनुकूल नहीं है क्योंकि उनके बीच तीखी बहस और विवाद हो सकता है। आपको खान-पान में सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है, क्योंकि आपको पाचन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

गोचर के लिए उपाय– इस दौरान भगवान राम की कथा पढ़ें और रामचरितमानस के श्लोकों का पाठ करें।

यह भी पढ़े-गणपति आराधना से चमकेगी भक्तों की किस्मत, होगा विशेष लाभ

तुला राशि

इसी के साथ तुला राशि के जातकों के लिए सूर्य उनके आय और लाभ के ग्यारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर के दौरान सूर्य आपके पेशे और कर्म के दशम भाव में रहेगा। इस भाव में सूर्य को दिग्बल मिलता है इसलिए यह आपको असाधारण परिणाम देने में सक्षम है।

व्यावसायिक जीवन में यह अवधि उन लोगों के लिए शीघ्र सफलता लेकर आएगी जो नए सिरे से शुरुआत करने की योजना बना रहे हैं। इस अवधि के दौरान सेवादारों को उनके संगठन में प्रशंसा और प्रसिद्धि मिलेगी। व्यवसायियों को अपने व्यवसाय में प्रतिष्ठा और ख्याति प्राप्त होगी। विपणन और बिक्री के लिए नई रणनीतियां शुरू करने के लिए यह अवधि अनुकूल है। आधिकारिक लोगों से आपकी मुलाकात होगी और उनकी मदद से आपका भला होगा।

व्यक्तिगत मोर्चे पर आपके पिता के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे और आपको अपने सभी प्रयासों में उनका सहयोग प्राप्त होगा। आप इस अवधि के दौरान वाहन खरीदने में निवेश कर सकते हैं। आपकी मां के साथ आपका बंधन बहुत सहज नहीं हो सकता है और आपका उनसे विवाद हो सकता है।

गोचर के लिए उपाय– मंदिर में गुड़ और गेहूं का आटा दान करें। आपको काफी लाभ होगा।

वृश्चिक राशि 

साथ ही वृश्चिक राशि के जातकों के लिए सूर्य कर्म और पेशे के दशम भाव का स्वामी होता है। जिस समय सूर्य कर्क राशि में गोचर करेगा, वह इस अवधि के दौरान आपकी चंद्र राशि में धर्म और भाग्य के नौवें भाव में प्रवेश करेगा। वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह एक शुभ गोचर है क्योंकि यह उनके जीवन में भाग्य और समृद्धि लाएगा।

पेशेवर जीवन में आपके लिए शुभ समय रहेगा। नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं तो समय अनुकूल है। यह अवधि उन लोगों के लिए भी संभावित है जो उद्योग में एक ब्रेक की तलाश में हैं क्योंकि आप अपने सपनों की नौकरी पाने के लिए भाग्यशाली होंगे। जो लोग अचल संपत्ति और यात्रा उद्योग में हैं, उनके पेशे में उछाल देखने को मिलेगा। व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए भूमि में निवेश की प्रबल संभावनाएं हैं।

निजी जीवन के मामले में यह अवधि आपके लिए अच्छी प्रतिष्ठा और प्रसिद्धि लेकर आएगी। आप किसी धर्मार्थ और गैर-लाभकारी संगठन से जुड़े रहेंगे। आप आध्यात्मिक मूल के स्थान की पारिवारिक यात्रा पर जा सकते हैं।

गोचर के लिए उपाय– रविवार के दिन ब्राह्मण या पुजारियों को भोजन कराएं। इससे गोचर के अशुभ प्रभावों से बचने में आपको काफी सहायता मिलेगी।

यह भी पढ़ें-अगर आप भी कर रहे है विवाह की तैयारी, तो नाडी दोष का रखें ध्यान

धनु राशि

आपको बता दें कि धनु राशि के जातकों के लिए सूर्य प्रसिद्धि और भाग्य के नवम भाव पर शासन करता है और यह इस अवधि के दौरान उत्तराधिकार और असंगति के आठवें भाव में रहेगा। सूर्य का यह स्थान अनुकूल नहीं माना जाता है।

पेशेवर जीवन में इस दौरान जोखिम कारक अधिक रहेगा इसलिए जो लोग सट्टा व्यवसाय में हैं उन्हें सलाह दी जाती है कि वे सावधान रहें। नौकरीपेशा जातकों को अपनी नौकरी से संबंधित असुरक्षा होगी और उन्हें अपने वरिष्ठों के साथ व्यवहार में सावधानी बरतने की जरूरत है। आप अपने कार्यस्थल पर किसी गंदी राजनीति या साजिश से पीड़ित हो सकते हैं।

निजी जीवन के लिहाज से यह अवधि शोधार्थियों और पीएचडी करने वालों के लिए फायदेमंद रहेगी। आपका गहन शोध और अवलोकन आपके लिए उपकार लाएंगे। यह समय उन लोगों के लिए भी अनुकूल रहेगा जिनका मनोगत विज्ञान में रुझान है क्योंकि आप कुछ नई चीजें सीखेंगे। स्वास्थ्य के कीटाणुओं में यह अवधि कम है क्योंकि आप ऊर्जा की कमी महसूस करेंगे और बुखार और फ्लू होने का खतरा रहेगा।

गोचर के लिए उपाय-अपनी ऊर्जा के उत्थान और शक्ति प्राप्त करने के लिए आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें।

यह भी पढ़ेंःविवाह शुभ मुहूर्त 2023: जानें साल 2023 में विवाह के लिए शुभ मुहुर्त और तिथि

मकर राशि

वहीं मकर राशि के जातकों के लिए सूर्य संक्रमण और गहराई के आठवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल में सूर्य आपकी संगति, साझेदारी और विवाह के सप्तम भाव में स्थित होगा। विवाह के भाव में सूर्य का प्रभाव बहुत शुभ नहीं होता है।

पेशेवर तौर पर यह अवधि उन लोगों के लिए अनिश्चितता लाएगी जो व्यवसाय में हैं, खासकर यदि आप साझेदारी फर्मों में हैं। आपको सतर्क रहने की सलाह दी जाती है क्योंकि आपके शत्रु आपकी सार्वजनिक छवि को खराब करने का प्रयास करेंगे। जो लोग खनन या बीमा उद्योग में हैं, उनके लिए तुलनात्मक रूप से बेहतर अवधि होगी। अपने वरिष्ठों के उदासीन व्यवहार के कारण सैनिकों को कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ेगा।

व्यक्तिगत जीवन के लिए यह अवधि विवाहित जातकों के जीवन में कुछ संघर्ष ला सकती है। आप अपने साथी के रवैये से निराश महसूस कर सकते हैं। एकल लोगों को थोड़ी देर प्रतीक्षा करने की आवश्यकता है क्योंकि यह अवधि उनके न्यायालय में सर्वोत्तम हितों और प्रस्तावों को नहीं लाएगी।

गोचर के लिए उपाय–  प्रतिदिन सुबह और शाम को हनुमान चालीसा का पाठ करें। आपको शुभ फल की प्राप्ति होगी।

कुंभ राशि

साथ ही कुंभ राशि के जातकों के लिए सूर्य विवाह और साझेदारी के सप्तम भाव का स्वामी होता है। सूर्य इस अवधि के दौरान प्रतियोगिता, रोग और लड़ाई के छठे भाव में रहेगा। छठे भाव में स्थित सूर्य व्यक्ति में शक्ति और गतिशीलता लाता है।

व्यावसायिक जीवन के संदर्भ में यह अवधि उन लोगों के लिए उत्साहवर्धक होगी जो मुकदमेबाजी, न्यायपालिका और कर विभाग जैसी पेशेवर सेवाओं में हैं। व्यवसायियों को सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि विकास या विस्तार के लिए धन उधार लेना फलदायी नहीं होगा। जो लोग सरकारी सेवाओं में हैं, उनका समय अनुकूल रहेगा क्योंकि आप अपने कनिष्ठों पर अच्छी कमान संभालने में सक्षम होंगे।

व्यक्तिगत जीवन के लिए यात्रा की योजना या जीवनसाथी के खराब स्वास्थ्य के कारण यह अवधि विवाहित जोड़े के रिश्ते में कुछ दूरी ला सकती है। जो लोग प्रेम संबंध में हैं उन्हें सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि आपके प्रिय के साथ बार-बार झगड़े और संघर्ष हो सकते हैं। इससे आपके रिश्ते में बाधा आ सकती है और उनके साथ आगे बढ़ने के लिए आपके मन में दोहरे विचार होंगे।

गोचर के लिए उपाय– रविवार के दिन मंदिर में लाल वस्त्र दान करें। आपके जीवन में खुशियां ही खुशियां होंगी।

मीन राशि

इसी के साथ कर्क राशि में सूर्य गोचर से मीन राशि के जातकों के लिए सूर्य सेवा, प्रतिस्पर्धा और लड़ाई के छठे भाव पर शासन करता है। यह आपके संतान, प्रेम के पंचम भाव में गोचर करेगा। यह अवधि आपके लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगी।

पेशेवर जीवन के मामले में जो लोग स्वयं के व्यवसाय में हैं उन्हें इस अवधि में कुछ उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा। इस दौरान किसी भी तरह का निवेश आपको कर्ज में डाल सकता है। जो लोग शिक्षा के क्षेत्र में हैं उनके लिए समय प्रबल है क्योंकि आपको अपने सपनों की नौकरी मिलने की संभावना है।

व्यक्तिगत जीवन पर छात्रों के लिए यह समय अनुकूल रहेगा। वे परीक्षा में उत्तीर्ण होंगे और उड़ते हुए रंगों में स्नातक होंगे। फ्रेशर छात्रों को कुछ प्लेसमेंट ऑफर मिलने की प्रबल संभावनाएं हैं। प्रेम जीवन के लिए यह समय अनुकूल नहीं रहेगा। अगर आप किसी को प्रपोज करने की योजना बना रहे हैं तो आपको सलाह दी जाती है कि आप कुछ समय इंतजार करें। इस दौरान आपके बच्चों के साथ आपके संबंध भी थोड़े तनावपूर्ण रहेंगे।

गोचर के लिए उपाय– रविवार के दिन सफेद वस्त्र जरूरतमंदों को दान करें। आपको विशेष लाभ होगा।

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 2,305 

WhatsApp

Posted On - June 14, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 2,305 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation