जानिए गंगाजल के चमत्कारी लाभ तथा महत्व

जानिए गंगाजल के चमत्कारी लाभ तथा महत्व

गंगाजल

हिंदू धर्म के मानने वाले श्रद्धालु गंगा को नदी नहीं, बल्कि माँ की तरह पूजते हैं। गंगाजल को स्पर्श करने मात्र से पापों से मुक्ति मिलती है तो वहीं दर्शन मात्र से जीवन के कष्टों से उद्धार हो जाता है। ऐसे कई वैज्ञानिक दावे भी इस बात की पुष्टि करते हैं कि गंगा के जल में औषधीय गुण हैं। गंगाजल से स्नान करने अथवा इसके सेवन से कई रोगों से मुक्ति मिलती है। गंगा का जल व्यक्ति के जीवन में सकारात्मकता लेकर आता है, यही वजह है कि धर्म कर्म के कार्यों में इसे शामिल किया जाता है।

मगर इस बात की जानकारी बहुत कम लोगों को है कि वास्तु के अनुसार गंगाजल व्यक्ति के जीवन की सभी समस्याओं को दूर कर सकता है। लोगों के लिए गंगाजल किसी वरदान से कम नहीं है। जानते हैं गंगा का जल आपके जीवन में चल रही समस्याओं को कैसे दूर कर सकता है।

◆ गंगाजल के धार्मिक महत्व

●गंगा नदी में स्नान करने मात्र से पापों का नाश होता है तथा अनंत पुण्यफल की प्राप्ति होती है। इस दिन गंगा नदी में स्नान करना चाहिए, ऐसा न कर सकते तो घर में ही पानी में गंगाजल डालकर नहाना चाहिए। गंगा स्नान करने से 10 तरह के पाप खत्म हो जाते हैं।

●राजा भागीरथ की तपस्या से प्रसन्न होकर स्वर्ग से देवी गंगा धरती पर अवतरित हुई थीं। मान्यता है कि घर में गंगाजल रखने से पूरा परिवार बुरे समय से बचा रहता है।

●गंगाजल देवताओं को भी अपनी ओर आकर्षित करता है। पुराणों के अनुसार भगवान को आकर्षित करने के लिए रोज सुबह-शाम पूजा करें और पूजा के साथ ही घर के सभी कमरों में गंगाजल का छिड़काव करें। घर का वास्तु दोष दूर करने के लिए भी यह उपाय आजमा सकते हैं। इससे घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो सकती है। घर को बुरी शक्तियों और नजर दोष से बचाए रखने के लिए हर दिन घर में गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए।

◆ घर के कलह क्लेश होंगे दूर

वास्तुदोष के कारण कई बार घर परिवार में कलह रहती है और लड़ाई-झगड़े होते रहते हैं। इसकी वजह से जीवन में तनाव बना रहता है। आप घर ही नहीं, अपने दुकान, कारखाने अथवा दफ्तर में रोज सुबह पूजा के पश्चात् गंगाजल का छिड़काव करें। आपको खुद बदलाव महसूस होगा।

◆ गुस्सा रखे शांत

यदि घर में कोई सदस्य ऐसा है जो बात बात में उग्र हो जाता है और जिसकी वजह से माहौल गरम हो जाता है तो घर की स्त्री को घर तथा परिवार के सदस्यों के ऊपर गंगा जल का छिड़काव करना चाहिए। ऐसा नियमित तौर पर करें। इस उपाय से व्यक्ति का मन शांत होगा और घर परिवार में भी सुकून बना रहेगा।

◆ सेहत के लिए लाभकारी

विज्ञान भी ये स्वीकार कर चुका है कि गंगाजल से स्नान अथवा इस पवित्र जल का सेवन करने से बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। इसके चमत्कारी गुण बुद्धि तेज करने और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

◆ बुरे सपनों से राहत

अगर आप रात में बुरे और डरावने सपनों से परेशान रहते हैं तो ऐसे में सोने से पहले अपने बिस्तर पर गंगाजल का छिड़काव कर लें। आप चैन की नींद सो सकेंगे और बुरे सपनों से भी छुटकारा मिलेगा।

◆ ग्रह दोष का निवारण

ग्रह-नक्षत्र की स्थिति ठीक न होने पर व्यक्ति को जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर कोई ग्रह दोष से परेशान है तो उसे हर सोमवार के दिन शिवजी की पूजा करनी चाहिए और उन्हें गंगाजल चढ़ाना चाहिए। साथ ही, शनिवार के दिन पानी में थोड़ा सा गंगाजल मिलकर पीपल के वृक्ष पर चढ़ाएं। आपकी समस्या का समाधान होगा।

◆ बुरी नजर के असर को करे कम

आमतौर पर छोटे बच्चों को बुरी नजर बहुत जल्दी लग जाती है। अगर घर के किसी सदस्य या बच्चों को नजर लग जाए तो उस पर गंगाजल के छींटे मारें। जल्द ही बुरी नजर का प्रभाव उतर जाएगा।

◆ खुलेंगे तरक्की के दरवाजे

अगर जीवन में मेहनत करने के बावजूद आपको कामयाबी नहीं मिल पा रही है तो इसका कारण घर या दफ्तर का वास्तु दोष हो सकता है। आप पीतल की बोतल लें और उसमें गंगाजल भरकर घर की उत्तर-पूर्वी दिशा में रख दें। आप रसोईघर या फिर अपने पूजा स्थल में भी गंगाजल रख सकते हैं। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का आगमन होगा।

यह भी पढ़ें- इन वजहों से नहीं मिलता पूजा-पाठ, यज्ञ और जप-तप का उचित फल

 145 total views


Tags:

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *