जानें कैसे बनता है कुंडली में मंगल शुक्र योग

मंगल शुक्र योग
WhatsApp

ज्योतिष शास्त्र में ग्रह बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। क्योंकि इन्हीं ग्रहों के आधार पर व्यक्ति के जीवन में आने वाली घटनाओं के बारे में भविष्यवाणी की जाती है। साथ ही इन ग्रहों की युति के कारण ही जातक के जीवन में कई बदलाव होते हैं। आपको बता दें कि जब दो या दो से अधिक ग्रह एक ही स्थान पर होते हैं, तो उसे युति कहते हैं। और इन्हीं ग्रह परिवर्तनों के कारण कई योग बनते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही योग यानि मंगल शुक्र योग के बारे में बताएंगे।

आपको बता दें कि ज्योतिष विज्ञान में मंगल और शुक्र ग्रह को काफी खास माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शुक्र का संबंध भावना और रिश्तो से होता है। इसी के साथ शुक्र को शारीरिक संबंध तथा आकर्षक का कारक भी माना जाता है। मंगल ग्रह के शुक्र के साथ होने से शुक्र ग्रह के गुणों में वृद्धि हो जाती है। और इस योग के कारण व्यक्ति को कई तरह से लाभ प्राप्त होता है।

यह भी पढ़े – क्यों झड़ते हैं बाल, जानें कुंडली में बाल झड़ने के योग

वही यह ग्रह अपनी जगह बदलते रहते हैं, जिसके कारण व्यक्तियों के जीवन में बदलाव आते रहते हैं। शुक्र ग्रह के कारण व्यक्ति को कई प्रकार से नुकसान भी झेलना पड़ता है और इन्हीं ग्रहों की युति के कारण ही व्यक्ति को लाभ प्राप्त होता है। जब ग्रह युति करते हैं, तब व्यक्ति को सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्रभावों का सामना करना पड़ता है। चलिए जानते हैं की मंगल शुक्र योग से जुड़ी सारी जानकारी – 

यह भी पढ़ें –Vasant Panchami 2022: जानें क्यों होती है वसंत पंचमी पर मां सरस्वती की पूजा?

मंगल शुक्र योग क्या है?

आपको बता दें कि मंगल ग्रह अग्नि और तेज का प्रतीक माना जाता है। वहीं शुक्र प्रेम, सौंदर्य, यौन इच्छा का प्रतिनिधित्व करता है। और जब इन दोनों ग्रहों का मिलन होता है, तब व्यक्ति के अंदर यौन इच्छा की भावनाएं बढ़ जाती हैं। वहीं कुंडली के अलग-अलग भावों के अनुसार अलग-अलग परिणाम प्राप्त होते है।

मंगल शुक्र योग तब बनता है, जब मंगल और शुक्र दोनों ग्रह एक साथ आते हैं। इन दोनों ग्रह के साथ आने से व्यक्ति में यौन इच्छा बढ़ जाती है। और कई बार व्यक्ति अपनी इस इच्छा को नियंत्रण करने में सक्षम नहीं होते है। यदि दोनों ग्रह में से शुक्र ग्रह कमजोर हो और मंगल ग्रह बलवान हो, तो इस योग से व्यक्ति दुष्कर्मी बन सकता है। क्योंकि मंगल व्यक्ति को अतिचारी बना देता है। 

यह भी पढ़ें –Mauni Amavasya 2022: जानें कब है मौनी अमावस्या की तिथि, समय और शुभ मुहूर्त

मंगल शुक्र योग का प्रभाव 

  • यदि किसी जातक की कुंडली में मंगल और शुक्र ग्रह दोनों साथ में हो और दोनों ग्रह सामान्य अवस्था में हो, तो जातक की यौन इच्छाएं बढ़ जाती हैं। लेकिन जातक अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण करने में सक्षम होता है।
  • अगर किसी जातक की कुंडली में मंगल और शुक्र दोनों साथ में हो और यह काफी प्रबल अवस्था में हो, तो जातक अपनी यौन इच्छाओं पर नियंत्रण करने में सक्षम नहीं होता।
  • अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में शुक्र प्रभावी हो और मंगल कमजोर हो, तो व्यक्ति यौन इच्छा के अलावा अपने प्रेम पर अधिक बल देता है।
  • आपको बता दें कि जिस भी जातक की कुंडली में शुक्र और मंगल संतुलित अवस्था में मौजूद होते हैं। उन लोगों के अधिक विपरीत लिंग के मित्र पाए जाते हैं।

यह भी पढ़े- अपनी हाथ की रेखाओं से कैसे जाने की कितनी संतान होगी

मंगल शुक्र योग का राशियों पर क्या प्रभाव पड़ता है

मेष राशि

  • मेष राशि वालों के लिए यह योग काफी फायदेमंद साबित होता है। 
  • इनके प्रेम संबंध अपने साथी के साथ काफी अच्छे बनते हैं।
  • साथ ही यह अपने साथी के साथ अच्छा समय बिता पाते हैं।
  • इतना कि नहीं मंगल और शुक्र के कारण मेष राशि के जातक कई नए रिश्ते बनाने में भी सक्षम होते हैं।

वृषभ राशि 

  • यह योग वृषभ राशि वालों के लिए काफी लाभदायक होता है। क्योंकि इस योग के बनने से इस राशि के लोगों के जीवन में कई बदलाव होते हैं।
  • वृषभ राशि के लोग बाकी लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब होते हैं।
  • साथ ही इस योग से इस राशि के लोगों के स्वभाव में भी काफी बदलाव आता है।

मिथुन राशि

  • इस योग के कारण मिथुन राशि वाले अपने प्रेम को लेकर काफी संवेदनशील हो जाते हैं।
  • इतना ही नहीं कई बार इनके रिश्तो में गलतफहमियां भी पैदा हो जाती हैं।
  • साथ ही यह अपने साथी से लड़ाई झगड़ा आदि भी करने लग जाते हैं।

कर्क राशि

  • इस योग के कारण कर्क राशि वाले लोग काफी आकर्षित लगने लगते हैं।
  • साथ ही इनका अपने साथी के साथ वाद विवाद होने की भी संभावना अधिक बढ़ जाती है।
  • वहीं इनके रिश्ते में तनाव जैसी स्थिति भी उत्पन्न हो जाती है। और कभी कभी यह स्थिति गंभीर रूप भी ले लेती है।

सिंह राशि

  • मंगल शुक्र योग से सिंह राशि वालों के रिश्ते में कड़वाहट आ जाती है।
  • वहीं इनके दांपत्य जीवन में कई तरह की परेशानियां भी आनी शुरू हो जाती हैं।
  • साथ ही यह अपने साथी के साथ रोजाना लड़ाई झगड़े आदि जैसी गतिविधियों में जुड़ जाते हैं।

कन्या राशि

  • कन्या राशि वाले इस योग के कारण अपने प्रेम जीवन में काफी सफलता प्राप्त करते है।
  • वहीं कन्या राशि वाले अपने साथी के साथ अच्छे समय का आनंद लेते हैं।
  • इतना ही नहीं इस राशि वालों के स्वभाव में भी काफी  बदलाव हो जाता है।
  • वही हर चीज में इन्हें इनके साथी का साथ मिलता है।

तुला राशि

  • इस योग के कारण तुला राशि के जातक एक बार नहीं बल्कि कई बार प्रेम में पड़ जाते हैं।
  • साथ ही इनके पारिवारिक जीवन पर भी इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है।
  • इनके पारिवारिक जीवन में खुशियां नहीं रहती और वाद-विवाद जैसी स्थिति उत्पन्न होती है।
  • साथ ही इन्हें तनाव आदि का सामना करना पड़ता है।

वृश्चिक राशि

  • इस योग के कारण वृश्चिक राशि वालों के जीवन में ऐसे बहुत से लोग होते हैं, जिन्हें यह पसंद होते हैं।
  • इस राशि वालों को उनके परिजनों का पूरा साथ मिलता है।
  • साथ ही इनके जीवन में काफी खुशियां आती हैं। और यह अपने परिवार के साथ अच्छे समय का आनंद लेते हैं।

धनु राशि

  • धनु राशि के लिए यह योग बिल्कुल भी सही नहीं होता है।
  • इस योग के कारण धनु राशि वाले के पारिवारिक जीवन पर उसका असर साफ दिखाई देता है।
  • इन्हे अपने दांपत्य जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 
  • साथ ही इनका प्रेम रिश्ता टूटने की कगार तक पहुंच जाता है।
  • यह योग धनु राशि वालों के लिए कई तरह की परेशानियां लेकर आता है।

मकर राशि

  • इस योग के कारण मकर राशि वाले जातकों के स्वभाव में काफी बदलाव होता है।
  • इसी के साथ इन्हें अपने प्रेम संबंधों में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा सकता है।
  • वहीं इनके पारिवारिक जीवन में भी किसी तरह की परेशानियां आ जाती हैं।

कुंभ राशि

  • कुंभ राशि वालों के स्वभाव में बदलाव होता है।
  • साथ ही यह जातक कई लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करने लगते हैं।
  • इतना ही नहीं इन्हें अपने प्रेम संबंधों के कारण कई तरह की परिस्थिति से भी गुजरना पड़ सकता है।

मीन राशि

  • मंगल और शुक्र के एक साथ होने से मीन राशि वालों का मन भटकना शुरू हो जाता है।
  • इसी के साथ इनके दांपत्य जीवन में भी कई तरह की परेशानियां आने लगती हैं।
  • इनके जीवन में आ रही परेशानियों के कारण इन्हें तनाव का सामना करना पड़ता है।
  • वही मीन राशि के लोगों को अकेले रहना ज्यादा पसंद आने लगता है।

अधिक जानकारी के लिए आप AstroTalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 1,463 

WhatsApp

Posted On - January 25, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 1,463 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation