जानें कैसे करें सुखी वैवाहिक जीवन के उपाय

WhatsApp

शादीशुदा रिश्तों की डोर काफी कमजोर होती है और इसे बनाए रखना बेहद ही मुश्किल होता है। कई बार छोटी – सी गलती के कारण भी रिश्तों में दरार आ जाती है। और यह दरार रिश्तों के टूटने का बड़ा कारण बनती है। इसीलिए  रिश्तों को संभाल कर रखना थोड़ा मुश्किल होता है। बहुत से लोग सुखी वैवाहिक जीवन के लिए बहुत जतन करते हैं। लेकिन उसके बाद भी उनके शादीशुदा जीवन में परेशानी बनी रहती है। आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र की सहायता से इन परेशानियों को दूर किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें – इन दिशाओं में कैलेंडर लगाना होता है बेहद शुभ, साल भर मिलेगी तरक्की

वहीं सुखी वैवाहिक जीवन के लिए जातक को कुछ उपाय करने की जरूरत होती है। जिनके कारण वह अपने वैवाहिक जीवन को सुचारू रूप से चला पाता है। लेकिन सबसे पहले यह जानना बेहद जरूरी होता है कि वैवाहिक जीवन में परेशानियां क्यों उत्पन्न होती हैं? आपको बता दें कि कुछ बनाने की कोशिश में कुछ बिगड़ जाता है। इसीलिए अपने रिश्ते को लेकर कोई उपाय करने से पहले आपको समस्या को समझना बेहद जरूरी है। चलिए जानते हैं कि कुंडली मिलान और जांच परख के बाद भी वैवाहिक जीवन में परेशानियां क्यों उत्पन्न होती हैं। और कैसे ज्योतिष उपाय से अपने वैवाहिक जीवन को सुखी रखा जा सकता है – 

यह भी पढ़ें – अपने नाम के पहले अक्षर से जानें अपने व्यक्तित्व का राज

सुखी वैवाहिक जीवन में क्यों आती है परेशानियां

  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जातक की कुंडली में शुक्र और बृहस्पति ग्रह के कमजोर होने के कारण वैवाहिक जीवन में परेशानियां आती हैं।
  • साथ ही कभी-कभी जाने अनजाने में हुई छोटी मोटी गलतियां भी वाद-विवाद का बड़ा कारण बनती हैं। और रिश्तों में दरार आ जाती हैं।
  • कई बार दो लोगों के बीच विचारों का ना मिलना तथा महत्वाकांक्षाओं में टकराव रिश्तों में परेशानी का बड़ा कारण होती है।
  • कई बार किसी तीसरे का रिश्ता के बीच में आ जाना भी वैवाहिक जीवन के लिए बाधा उत्पन्न करता है।
  • बृहस्पति ग्रह शादीशुदा रिश्तो में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसीलिए जब किसी जातक की कुंडली में बृहस्पति कमजोर होता है, तो उसे अपने रिश्तों में परेशानी का सामना करना पड़ता है।
  • बृहस्पति ग्रह के अशुभ होने से विवाह में कई परेशानियां उत्पन्न होती हैं। 
  • साथ ही वाद – विवाद जैसी स्थिति भी उत्पन्न हो जाती हैं। 
  • आपको बता दें कि जातक की कुंडली में विवाह के लिए सप्तम भाव बहुत महत्वपूर्ण होता है।
  • वहीं सप्तम भाव को देखकर ही विवाह का विचार किया जाता है।
  • यदि जातक की कुंडली में सप्तम भाव में कोई क्रूर ग्रह हो या क्रूर ग्रह की दृष्टि हो और द्वादश भाव में भी क्रूर ग्रह मौजूद हो, तो विवाह में परेशानियां उत्पन्न होती हैं।
  • वहीं अगर कुंडली के सप्तम भाव में पाप योग बनता है, तो जातक को अपने शादीशुदा जीवन में कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है।
  • साथ ही अगर सप्तम भाव में कोई पाप ग्रह नीच राशि में बैठा हो, तो वैवाहिक जीवन में संघर्ष की स्थिति पैदा होती है।

यह भी पढ़ें – अगर कठिन परिश्रम के बाद भी नहीं मिल रहा है नौकरी में प्रमोशन, तो करें ये उपाय

सुखी वैवाहिक जीवन के उपायों से जुड़ी सावधानी

  • अगर आप अपने सुखी वैवाहिक जीवन के लिए कोई उपाय करने वाले हैं, तो आपको कुछ सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए।
  • एक साथ कई उपाय ना करें। क्योंकि एक साथ केवल एक या दो उपाय ही सफल होते हैं। और जातक को उन्हीं का फल प्राप्त होता है।
  • किसी एक उपाय को शुरू करने के बाद कम से कम 27 दिनों तक उस उपाय को पूरा करें।
  • एक उपाय खत्म करने के बाद ही दूसरा उपाय करना चाहिए।
  • अगर परेशानी अधिक है, तो आप किसी अनुभवी ज्योतिष से सलाह जरूर करें।
  • इसके लिए आप एस्ट्रोटॉक के अनुभवी ज्योतिषियों की मदद भी ले सकते हैं।
  • वह आपको आपके वैवाहिक जीवन से जुड़ी सारी समस्याओं का समाधान प्रदान करते हैं।

यह भी पढ़ें – अगर कुंडली में है राहु दोष, तो ऐसे करें राहु शुभ

सुखी वैवाहिक जीवन के उपाय 

बेडरूम

  • आपको बता दें कि पत्नी को पति के बाई और सोना चाहिए।
  • पति और पत्नी को सोने के लिए हमेशा एक लंबे तकिए का ही प्रयोग करना चाहिए।
  • पति – पत्नी को सोने के लिए अलग-अलग गद्दो और तकियों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

बेडरूम के रंग 

  • साथ ही अपने बेडरूम का रंग हल्का गुलाबी या हल्का हरा रखना चाहिए।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात अपने बेडरूम में गहरे रंगों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • साथ ही पीले रंग या इससे मिलते जुलते रंगों का प्रयोग बेडरूम में नहीं करना चाहिए। यह शुभ नहीं माना जाता।

फूलों की खरीदारी 

  • शुक्रवार के दिन पति और पत्नी को एक साथ फूलों की खरीदारी करनी चाहिए।
  • शुक्रवार को आपको गुलाब और सफेद फूल की खरीदनी करनी चाहिए।
  • रात को सोते समय उन फूलों को अपने बिस्तर के सिरहाने पर रखना चाहिए।

दिशा

  • आपको बता दें कि पति और पत्नी को सोते समय पूर्व या दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके सोना चाहिए।
  • साथ ही पैरों की तरफ आपको बहते हुए जल वाली तस्वीर अपने कमरे में लगानी चाहिए।
  • वही आपको अपने बेडरूम में देवी – देवताओं की प्रतिमा या चित्र लगाने से बचना चाहिए।

परफ्यूम 

  • किसी भी शुक्रवार के दिन हल्की सुगंध वाला परफ्यूम या इत्र खरीदना चाहिए।
  • साथ ही पति-पत्नी को उसी परफ्यूम या इत्र का प्रयोग करना चाहिए।
  • याद रखें कि तीखी सुगंध वाले परफ्यूम या इत्र का इस्तेमाल न करें।

देवी देवताओं 

  • सुखी वैवाहिक जीवन के लिए आपको शुक्रवार के दिन देवी को सफेद मिठाई का भोग लगाना चाहिए।
  • साथ ही आपको उस मिठाई को प्रसाद की तरह ग्रहण करना चाहिए।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात शुक्रवार के दिन आपको खट्टी चीजों का प्रयोग करने से बचना चाहिए।

पूजा करें

  • सुखी वैवाहिक जीवन पाने के लिए आपको गुरुवार के दिन पूजा स्थल पर पीला आसन बिछाकर बृहस्पति भगवान की पूजा करनी चाहिए।
  • अपने रिश्ते की कड़वाहट को मिटाने के लिए पति – पत्नी दोनों को मिलकर बृहस्पति की पूजा करनी चाहिए।
  • साथ ही आपको शुद्ध देसी घी के दीपक भी जलाने चाहिए।
  • बृहस्पति की कृपा से पति – पत्नी के रिश्ते में आई सभी कड़वाहट दूर हो जाती हैं। और उन्हें सुखी जीवन का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

व्रत रखें

  • अगर पति-पत्नी के रिश्तों में मधुरता नहीं है, तो आपको लगातार 11, 21 या 51 गुरुवार को व्रत रखने चाहिए।
  • साथ ही आपको भगवान विष्णु और केले के वृक्ष की पूजा करनी चाहिए। इससे पति-पत्नी के रिश्ते में मधुरता आती है।
  • आपको बृहस्पति देव की कथा पढ़नी या सुननी चाहिए।
  • माना जाता है कि बृहस्पति देव के प्रसन्न होने से दांपत्य जीवन में आ रही सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं।

गुरु को मजबूत करें 

  • अपनी कुंडली में गुरु को मजबूत करने के लिए आपको भीगे हुए चने और मक्का भगवान विष्णु को भोग के रूप में अर्पित करें।
  • इस उपाय को करने से आपकी कुंडली में बृहस्पति आपको शुभ फल प्रदान करेगा।
  • साथ ही गुरुवार के दिन किसी ब्राह्मण को पीले रंग के वस्त्र दान करना काफी शुभ माना जाता है।
  • किसी ब्राह्मण को पीले वस्त्र दान करने से दांपत्य जीवन में आ रही है, सारी परेशानी दूर हो जाती हैं।

जल करें अर्पित 

  • गुरुवार के दिन केले या पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाना शुभ होता है।
  • माना जाता है कि इस उपाय को करने से विवाह में आ रही सारी बाधाएं भी दूर होती जाती हैं।

अधिक जानकारी के लिए आप AstroTalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 1,598 

WhatsApp

Posted On - January 31, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 1,598 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation