नाग पंचमी 2020- जीवन में खुशहाली के लिए अपनी राशि के अनुसार करें ये उपाय

Posted On - July 14, 2020 | Posted By - Jiyaiman | Read By -

 587 

नाग पंचमी पर जीवन में खुशहाली के लिए अपनी राशि के अनुसार करें ये उपाय

श्रावण मास में पड़ने वाला नाग पंचमी का त्योहार हिंदुओं का एक बहुत महत्वपूर्ण पर्व है। यह पर्व हरितालिका तीज के एक दिन बाद मनाया जाता है। बता दें कि इस बार 25 जुलाई 2020 को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाएगा। इस दिन काल सर्प दोष के निवारण के लिए भी पूजा की जाती है। वैसे यह दिन नाग देवता को समर्पित है। इसलिए नाग पंचमी के दिन वासुकी नाग, शेषनाग और तक्षक नाग की पूजा की जाती है। इस दिन जब कोई व्यक्ति नागों की पूजा करता है तो शिव भगवान उससे अत्यधिक प्रसन्न होते हैं और जब यह पूजा राशि के अनुसार की जाती है तो इसके शुभ लाभ मिलते हैं।

मेष राशि के जातक

अगर मेष राशि के जातकों को राहु की पीड़ा है तो उन्हें चाहिए कि वह नाग पंचमी के दिन रुद्राष्टाध्यायी का पाठ करें। ‌ऐसा करने से उनको राहु की पीड़ा से मुक्ति मिल जाएगी।

वृष राशि जातक

वृष राशि वाले जातकों को राहु का प्रभाव कम करने के लिए नाग पंचमी के दिन से 40 दिनों तक लगातार एक तांबे का टुकड़ा लेकर उस को बहते जल में प्रवाहित करना चाहिए। इस उपाय के द्वारा निश्चय ही राहु का प्रभाव कम हो जाएगा।

मिथुन राशि जातक

अगर मिथुन राशि वाले जातकों के ऊपर अशोक ग्रह के प्रभाव है तो उन्हें चाहिए कि जिस दिन नाग पंचमी हो उससे 40 दिनों तक हर रोज किसी कुष्ठ रोगी को मूली का दान कर दें। इस दान के द्वारा मिथुन राशि के जातक के ऊपर और उपग्रह की बाधा दूर हो जाएगी।

कर्क राशि जातक

जिन लोगों की राशि कर्क है उन लोगों को चाहिए कि वह नाग पंचमी के दिन से लेकर लगातार 8 दिनों तक बहते हुए पानी में नारियल को प्रवाहित करें। यह उपाय राहु के कष्ट को दूर करने के लिए काफी लाभदायकत है।

सिंह राशि जातक

जिन लोगों की राशि सिंह है उनको यदि अपने ऊपर से अशुभ ग्रह का प्रभाव दूर करना हो तो वह नाग पंचमी के दिन यह आसान सा उपाय करें। जिस दिन नागपंचमी हो उस दिन और उसके बाद जो पहला शनिवार पड़े, तब एक लाल कपड़े में चार बादाम और एक नारियल बांध ले। इसको किसी गड्ढे में दबा दें।

कन्या राशि जातक

कन्या राशि वाले लोगों को यदि किसी प्रकार का मानसिक कष्ट हो तो उससे छुटकारा पाने के लिए नाग पंचमी के दिन से 6 दिन तक लगातार यह उपाय करें। किसी गरीब व्यक्ति को 10 ग्राम धनिया दान में दे दे। आप नाग पंचमी के दिन से लगातार छह दिनों तक इस उपाय को करेंगे तो आपके मानसिक कष्टों से आपको निजात मिल जाएगी और आपके जीवन में भी खुशहाली आएगी।

तुला राशि जातक

तुला राशि वाले लोग अपने घर में सुख समृद्धि लाने के लिए नाग पंचमी के पहले की रात को थोड़े से जौं के दाने लेकर उन्हें अपने सिरहाने रख कर सो जाएं। अगले दिन जब वह सो कर उठेंगे तो नाग पंचमी का दिन होगा। अपने सिरहाने पर रखे हुए जौं के दानों को अब पक्षियों को डाल दें। बता दें कि इस दिन दान करना भी आपके लिए शुभ रहेगा। आपके घर की दरिद्रता बिल्कुल दूर हो जाएगी।

वृश्चिक राशि जातक

वृश्चिक राशि वाले लोगों को चाहिए कि इस दिन वह नागों की पूजा करने के साथ-साथ गणेश जी की पूजा भी अवश्य करें। पूजा में लड्डुओं का भोग लगाना चाहिए। यह उपाय आपके रोजगार के रास्तों को खोल देगा। इसलिए अपने जीवन में व्यापार और नौकरी से संबंधित परेशानियों का हल करने के लिए इस उपाय को अवश्य करें।

धनु राशि जातक

धनु राशि के लोगों को चाहिए कि वह नाग पंचमी के दिन थोड़ा सा आटा लेकर उसमें चीनी मिलाएं। आटे और चीनी के मिश्रण को चीटियों को खिला दे। इस उपाय को करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होने के साथ-साथ शनि की वक्र दृष्टि से भी राहत मिलती है।

मकर राशि जातक

अगर मकर राशि वाले लोगों को मेहनत करने का पूरा फल नहीं मिलता और उनकी आर्थिक स्थिति भी कमजोर है तो वह नाग पंचमी हर शनिवार को 11 दिनों तक इस आसान से उपाय को करें। उपाय यह है कि जो के दाने और तिल लेकर उनको दान कर दे। उपाय आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने में काफी मददगार होगा।

कुंभ राशि जातक

कुंभ राशि के लोग यदि शनि देव को प्रसन्न करना चाहते हैं तो उसके लिए उनको चाहिए कि नाग पंचमी के दिन बहते हुए पानी में कोयले को बहा दे। यह उपाय शनि देव को प्रसन्न तो करेगा ही इसके अलावा यह आपकी सेहत को भी ठीक रखेगा। ‌

मीन राशि जातक

मीन राशि वाले जातकों को अपने घर में शांति और खुशहाली लाने के लिए नाग पंचमी के दिन अपने हाथ में अष्ट धातु से बना हुआ एक कड़ा पहनें। यह घर में शांति लाने के लिए बहुत ही उत्तम तरीका है जिसकी सहायता से घर के क्लेश से मुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें- महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग – पौराणिक कथा तथा महत्व

 588 

Our Astrologers

1400+ Best Astrologers from India for Online Consultation

Copyright 2021 CodeYeti Software Solutions Pvt. Ltd. All Rights Reserved