पिरामिड बचाता है इन सब कष्टों से, जानकर होंगे हैरान !

पिरामिड बचाता है इन सब कष्टों से, जानकर होंगे हैरान !

पिरामिड का सच

पिरामिड का उल्लेख पुराने ग्रंथों में मिलता हैं,परंतु हिंदू धर्म के अधिकतर ग्रंथ विदेशी आक्रमणकारियों  ने या तों जला दिये या नष्ट कर दिये अथवा लुटकर अपने साथ ले गये | इसी लिये पिरामिडों से लाभ विदेशियों  ने ही ज्यादा उठाया हैं| विदेशों मे मरने के बाद शव पर विभिन्न द्रवों का लेप करके पिरामिडों में रखने का उल्लेख मिलता हैं| इससे ये शव , हजारों साल बाद भी सुरक्षित पाये जाते हैं|

यह सब पिरामिडों‌  की देन हे , क्योंकी पिरामिड ब्रम्हांड से नकारात्मक अंशो को सकारात्मक अंशो में परिवर्तित करते हैं|  और यह परिवर्तन अणु की गति से होता हैं|आजकल यह पुनः प्रचलन में आ रहा है| तथा इसके प्रभाव को अधिक प्रतिभा संपन्न लोग , जैसे डाक्टर या विशेषज्ञ अधिक समझ पा रहे हैं | इनको घर में रखने से घर के अंदर के दूषित प्रभाव नष्ट होकर अच्छे परिणाम देता हैं| इस से हमारे जीवन में नवीन उत्साह का संचार होता हैं |

पिरामिड से उत्पन्न  होने वाली शक्ती में इतनी ‘ताकद’ होती हैं की, उससे पिरामिड अपने रोज की दिनचर्या में बहुत उपयुक्त  है| उससे भरपूर लोगों का जीवन सुधरते हुंये पाया हैं |

दर्द पर असरदार- 

पिरामिड में पानी भर कर रखने से इसके अंदर की चुंबकीय शक्ती उस पानी में परावर्तीत होती रहती हैं| इससे पिरामिड में भरा हुआ पानी पिने से बहुत सारे लाभ होते हैं | स्नायु ओं का दर्द , शरीर का दर्द,हात पैर का सूजना इत्यादी दर्द तुरंत ठीक होते हैं|

सुती वस्त्र को पिरामिड के अंदर रखे पानी में भिगौं कर रखे| और दर्द होने वाले अंग पर उसे दिन में दो बार बांधकर रखे | पिरामिड में प्रतिदिन पानी भर कर रखे और उसे हर दिन पिना चाहिए| अनेक प्रकारों के त्वचा रोग, जले हुये अंग आदी बातों पर इस में भरा हुंआ पानी गुणकारी रहता है|

रोग दूर करने में सहायता

अल्सर, मधुमेह, हृदयविकार, अर्धांगवायू आदि विकारों पर भी  pyramid में भरा हुंआ पानी उपयुक्त रहता है| शारिरीक और मानसिक दोनों ही बिमारिया दुर कर सकता है |इसके अलावा यह पानी पेडों देने से वह अच्छी तरह से बहरते हैं |

पिरामिड धारण करने से भी अनेक प्रकार के रोग दूर होने में मदद होती हैं | पिरामिड धार्मिक जगहों पर अलग अलग धातू ओं में भी उपलब्ध रहते हैं | छोटे-बडे आकार के फायबर से बने हूये सफेद रंग में भी मिल जाते हैं | बडे पिरामिड आधे घंटे तक माथे पर  रखने से सर्दी, जुकाम, सिर् दर्द, दातों का दुखना, छोटी – बडी जखम, आँखें जलने की तकलिफे, मुह आना, अपचन इत्यादी रोगों पर बडी जल्दी आराम मिलता हैं | इस के उपयोग से वजन भी घटा सकते हैं| तुटी हुयी हड्डिया जुडने में और देह की रोग प्रतिकारक शक्ती बढाने में भी बडी सहायता होती हैं |

दैनिक जीवन में लाभ

घर के अंदर कमरों में पिरामिड रखने से झगडे रुक कर शांती प्रस्थापित होती हैं |इस सोने के वक्त बाजू में रखने से शांत ध्यान युक्त नींद आती है | पिरामिड को कई लोग उनके ऑफीस में भी रखते है ताकी काम पर focus बना रहे| यह Meditation में भी बहुत सहायक है |

बालों के लिये उत्तम औषधी-

इस में भरा हुंआ पानी बालों के लिये उत्तम टॉनिक के स्वरूप हैं | डँड्रफ दूर करने में, बालों का कालेपन बढाने हेतू , टक्कल रोखने के लिये, चेहरा सतेज बनाने आदी विषयों में उपयुक्त ठरता हैं |

वास्तुदोष नष्ट करने हेतु पिरामिड-

घर बनवाने से पहले जगह की शुध्दता करना आवश्यक रहता है | इसलिये जगह के चार ही कोनों‌ में   नौ- नौ पिरामिड और मध्य में भी नौ पिरामिड दफनाए | मगर ये सभी पिरामिड ९ या १२ इंच के होने चाहिए | घर का निर्माण कार्य शुरु करने से पहले घर की नींव में यह रखवा देने से जगह दोषमुक्त होकर शुध्द हो जाती है| ऐसी जगह पर घर बनवाने से वह वास्तुदोष से मुक्त रहता है|यह हमे कभी नुकसान नही पहुंचाते बल्की फायदा ही पहुंचाते हैं|

यह भी देखिये – धन से जुड़़ी हर समस्या के समाधान के लिए अपनाएं भगवान शिव का यह उपाय*

 201 total views


Tags: , , , , , ,

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *