शुक्र गोचर 2022ः करने वाला है शुक्र गोचर, इन राशियों के जीवन में होगा बड़ा बदलाव

शुक्र गोचर
WhatsApp

वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह बेहद खास माना जाता है। यह ग्रह रिश्ते, विवाह, बच्चों से संबंधित होता है। साथ ही यह ग्रह जातक के प्यार का कारक माना जाता है। आपको बता दें कि शुक्र वृषभ और तुला राशि पर शासन करता है और मीन राशि में उच्च होता है। हालांकि, कन्या राशि में यह ग्रह जातक को कुछ प्रतिकूलता और कठिन समय का सामना करवाता है। इसी के साथ अगर शुक्र बुध, केतु और शनि के साथ युति करता है, तो जातक को लाभ होता है और राहु, सूर्य, चंद्रमा के साथ युति होने पर जातक को कष्टों का सामना करना पड़ता है। इसी के साथ शुक्र गोचर (Shukra Gochar) से जातक के जीवन पर भी सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं।

आपको बता दें कि सभी ग्रहों का अपना अलग-अलग महत्व होता है। साथ ही सभी ग्रहों की अलग-अलग विशेषता होती है और उसी के आधार पर जातक को अच्छे और बुरे परिणाम प्राप्त होते हैं। कुछ ग्रह जातक के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं और कुछ ग्रह जातक के जीवन में नकारात्मक प्रभाव डालते हैं। ज्योतिष शास्त्र में ग्रह के आधार पर जातक के जीवन में चल रही गतिविधि और आने वाले भविष्य की गणना की जाती है। आपको बता दें कि जब ग्रह एक राशि से निकलकर दूसरी राशि में जाता है, तो उससे जातक पर काफी प्रभाव पड़ता है कभी-कभी इस गोचर का जातक पर नकारात्मक प्रभाव होता है, तो कभी इस गोचर से जातक के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव होता है। आपको बता दें कि मई महीने की 23 तारीख को शुक्र गोचर (Shukra Gochar 23 May 2022) होने वाला है जिसका सभी राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा।

यह भी पढ़े- vastu tips 2022: जानें क्या कहता है दुकान का वास्तु शास्त्र और व्यापार में वृध्दि के अचूक ज्योतिष उपाय

शुक्र ग्रह का महत्व

शुक्र ग्रह जातक के जीवन में विवाह, संबंध, संतान के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। इसके अलावा शुक्र ग्रह को व्यक्ति के जीवन में विवाह का कारक ग्रह भी माना जाता है। बता दें कि जातक की कुंडली में शुक्र ग्रह की स्थिति के आधार पर जातक के व्यवसाय से जुड़ी भविष्यवाणियां की जाती हैं। बृहस्पति शासित मीन राशि में यह उच्च होता है और बुध शासित कन्या राशि में शुक्र नीच होता है। शुक्र की कुछ निश्चित क्षेत्रों में युति होने से जातक को सकारात्मक परिणाम मिलते हैं। लेकिन कुछ क्षेत्रों में युति से जातकों पर नकारात्मक परिणाम प्राप्त होते हैं। वही शनि, बुध और केतु शुक्र के मित्र ग्रह माने जाते हैं और सूर्य, चंद्रमा और राहु शुक्र के शत्रु ग्रह माने जाते हैं।

वैदिक ज्योतिष के अनुसार शुक्र ग्रह को दानव के तौर पर संबोधित किया जाता है। वही शुक्र ग्रह 23 दिनों में एक राशि से दूसरी राशि में गोचर करता है। यही वजह है कि शुक्र ग्रह सभी 12 राशियों से गोचर करने में मात्र 276  दिनों का समय लेता है।

शुक्र गोचर का समय

साथ ही शुक्र गोचर 23 मई 2022 को होने वाला है, जिसके कारण सभी 12 राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा। आपको बता दें कि शुक्र ग्रह एक राशि से दूसरी राशि में युति करने में 23 दिनों का समय लेता है और जातक कुंडली में सभी राशियों को 276 दिनों में समाहित कर लेता है। इसी के साथ पहले महीने में यह ग्रह धनु राशि में था और फरवरी में यह धनु राशि से मकर राशि में गोचर किया और शुक्र गोचर 2022 इस ग्रह के दिसंबर के अंत में मकर राशि में अंतिम यात्रा समाप्त  करेगा। इसी के साथ 23 मई 2022 को शुक्र ग्रह मीन राशि से निकलकर मेष राशि में गोचर करेगा। और यह गोचर शाम 8 बजकर 39 मिनट पर होगा।

इन राशियों को होगा शुक्र गोचर से लाभ

मेष राशि

इस गोचर के कारण मेष राशि वाले अपने लक्ष्य को पूर्ण करने में सफल रहेंगे। साथ ही यह शुक्र गोचर आपके लिए काफी लाभदायक रहेगा। क्योंकि आपको अपना उद्योग आगे बढ़ाने में कई नए अवसर प्राप्त हो सकते है। जिससे आपको काफी लाभ होगा। साथ ही व्यवसाय क्षेत्र में भी आपको सफलता प्राप्त होगी। आपको बता दें कि शुक्र गोचर मेष राशि के जातकों के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

वृषभ राशि

इस राशि वालों के लिए शुक्र गोचर काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि वृषभ राशि में शुक्र गोचर लग्न में होगा। और यह गोचर जातकों की जीवन शैली में कई बड़े बदलाव करेगा। आपको बता दें कि नौकरीपेशा जातकों के लिए गोचर अनुकूल सिद्ध हो सकता है। इस दौरान आपको कार्य क्षेत्र में कई अवसर प्राप्त होंगे, जिससे आप अपने मान-सम्मान में वृद्धि कर पाएंगे।

मिथुन राशि

आपको बता दें कि मिथुन राशि वालों के लिए यह गोचर काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है। क्योंकि इस दौरान आपके कार्य क्षेत्र में वृद्धि होगी। साथ ही विदेशी ग्राहकों से काम करने का मौका मिलेगा और आपका व्यापार भी आगे बढ़ेगा। वहीं आपको कई ऐसे अवसर प्राप्त करेंगे जो आपके लिए लाभदायक होंगे। साथ ही इस दौरान आप सफलता प्राप्त करेंगे और शुक्र गोचर उन छात्रों के लिए काफी महत्वपूर्ण है जो विदेश संस्थान में दाखिला लेना चाहते हैं।

कन्या राशि

कन्या राशि वालों के लिए यह गोचर काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि शुक्र कन्या राशि के आठवें भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आप नौकरी में बदलाव कर सकते हैं या आपको नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। साथ ही जो जातक अपने खुद का व्यवसाय करना चाहते हैं उनके लिए यह समय काफी अनूकूल हो सकता है। यह समय आपके लिए काफी लाभदायक होगा। 

मकर राशि

शुक्र गोचर मकर राशि के जीवन में कई अवसर लेकर आएगा। इसके कारण आप अपने करियर में उन्नति और प्रगति करेंगे। साथ ही आप अधिक रचनात्मक हो सकते है, जिससे आप अपने कार्य क्षेत्र पर और अच्छा करने के लिए प्रेरित होंगे। शुक्र के गोचर के दौरान आपका पारिवारिक जीवन काफी सुखद रह सकता है। आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ अच्छा समय बिताएंगे। इसी के साथ निजी इस्तेमाल किया कोई नया वाहन खरीद सकते हैं।

 शुक्र गोचर के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए अपनाएं ये उपायों  

  • आप शुक्रवार का व्रत रख सकते है और कन्याओं को दूध, चावल, मिठाई दान करें।
  • इसी के साथ आपको शुक्रवार के दिन नवविवाहित कन्यओं को श्रृंगार का सामान दें।
  • शुक्र गोचर के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए आपकों देवी लक्ष्मी को गुलाबी फूल चढ़ाना चाहिए और “श्री सूक्तम” का पाठ करना चाहिए।
  • आपको कन्याओं को वस्त्र एवं आभूषण दान करने चाहिए। 

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 1,092 

WhatsApp

Posted On - April 19, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 1,092 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation