सूर्य देवता को अर्ध्य देते समय पानी में मिलाएं ये 5 चीजें, पाएंगे कई लाभ

सूर्य देवता को अर्घ्य
WhatsApp

सूर्य देवता को सभी देवताओं में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। जो व्यक्ति नियमित रूप से सूर्य देव को जल चढ़ाता है तो इससे उसको बहुत लाभ मिलते हैं। हर दिन सुबह के समय सूर्य को अर्घ्य देने से सभी शारीरिक रोगों का नाश होता है तथा व्यक्ति की आयु में भी बढ़ोतरी होती है। परंतु सूर्य देव को जल चढ़ाने के समय कुछ नियम और बातों का पालन करना चाहिए ताकि इसके पर्याप्त लाभ मिल सके।

रोली का प्रयोग

एक तांबे का लोटा लेकर उसमें लाल रंग की रोली डालकर सूर्य को जल चढ़ाने से सूर्यदोष में काफी कमी आती है। सूर्य देव को अर्ध्य देने से आपके शारीरिक स्वास्थ्य में भी सुधार आता है और ब्लड सरकुलेशन को बढ़ाने में लाल रंग का काफी महत्व होता है।

चावल का प्रयोग

चावल को अत्यधिक शुभ माना जाता है। हिंदू धर्म में चावल को बहुत अधिक महत्व दिया गया है इसीलिए जब भी कोई शुभ कार्य किया जाता है तो उसमें चावल का प्रयोग किया जाना आवश्यक होता है। सूर्य देवता को जल चढ़ाते समय पानी में दो-तीन दाने चावल के डालने से जीवन में सभी तरह की सुविधाएं मिलती हैं।

मिश्री का प्रयोग

सूर्य को जल चढ़ाते समय अपने पानी के लोटे में थोड़ी सी मिश्री भी डाल लीजिए। आपके पास मिश्री नहीं हो तो आप मिश्री की जगह चीनी का प्रयोग भी कर सकते हैं। इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि आप पानी के लिए तांबे का लोटा ही लें और उसने फिर मिश्री डालें।

तांबे का लोटा

इस बात का विशेष ध्यान रखें कि सूर्य को जिस लोटे से आग जल चढ़ाएं वह केवल तांबे का ही होना चाहिए। तांबे को सूर्य से जोड़ा जाता है इसलिए यदि तांबे के बर्तन में जल लेकर सूर्य देव को चढ़ाया जाएगा तो इसके अनेकों लाभ आपको मिलेंगे। इसके अलावा इस बात का भी ध्यान रखें कि जब आप सूर्य को अर्घ्य दे तो आप पर जल जमीन पर नहीं देना चाहिए बल्कि तुलसी के पौधे पर गिरे। यह जल क्योंकि पवित्र माना जाता है इसलिए इसका जमीन पर गिरना ठीक नहीं होता।

मंत्र उच्चारण

जिस समय आप सूर्य देव को जल अर्पित करें तो उस समय आपको सूर्य मंत्र का उच्चारण भी करना बहुत आवश्यक होता है। इसके लिए आप कोई भी मंत्र पढ़ सकते हैं। यदि आपको सूर्य मंत्र नहीं आता तो आप गायत्री मंत्र का उच्चारण भी कर सकते हैं। गायत्री मंत्र भी सूर्य देव को जल अर्पित करते समय पढ़ना श्रेष्ठ होता है।

सूर्य देवता को अर्ध्य देने के लाभ

  • जो व्यक्ति प्रतिदिन सूर्यदेव को अर्घ्य देता है उसके जीवन की सभी परेशानियां दूर होकर उसके जीवन में सुख संपन्नता आती है।
  • अगर आपके जीवन में किसी प्रकार की कोई ऐसी बाधा आ रही है जो लाख कोशिश करने के बाद भी दूर नहीं हो रही तो आप इसके लिए हर रोज़ सूर्यदेव को अर्घ्य दें। इससे आपके जीवन में आने वाली परेशानी निश्चित ही दूर हो जाएगी।
  • सूर्य देव को जल चढ़ाने से ग्रह दोष भी दूर होते हैं और इसके सारे नकारात्मक प्रभाव भी दूर हो जाते हैं। इस वजह से जीवन में समृद्धि और खुशहाली आती है। घर में सुख शांति और सकारात्मक माहौल बना रहता है।

सूर्य देवता को अर्घ्य देने से नौकरी में भी मिलती है उन्नति

  • यदि आप अपनी नौकरी में उन्नति और लाभ चाहते हैं तो आप प्रतिदिन सूर्य देवता को अर्ध्य दें। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य को जल देने से शुभ फल की प्राप्ति होती है क्योंकि सूर्य को राजा, पिता और नौकरी में अधिकारी का कारक माना जाता है। अगर आप कोई सरकारी नौकरी हासिल करना चाहते हैं तो इसके लिए भी आप हर दिन सूर्य को जल चढ़ाते रहें इससे आपका आत्मबल भी बढ़ेगा और आपका कार्य भी संपन्न होगा।

स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक

  • यह हृदय के स्वास्थ्य को ठीक बनाए रखने में भी लाभदायक होता है क्योंकि सूर्य का संबंध सीधा हमारे हृदय से होता है। इसलिए अगर आप यह चाहते हैं कि आपका हृदय स्वस्थ बना रहे तो इसके लिए आप हर दिन सूर्य को जल चढ़ाने की आदत डाल लें।
  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य का संबंध पिता से भी बताया गया है इसलिए यदि आपका आपके पिता के साथ तालमेल ठीक नहीं है या आपस में बनती नहीं है। तो आप सुबह के समय उगते हुए सूरज को पानी चढ़ाएं। आपके पिता के साथ आपके संबंध मधुर हो जाएंगे और यदि कोई पैतृक संपत्ति का भी विवाद चल रहा है तो वह भी हल हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के उपाय

 1,579 

WhatsApp

Posted On - June 28, 2020 | Posted By - Jiyaiman | Read By -

 1,579 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation