वक्री बुध 2022ः होने वाला है बुध वक्री, इन राशि वालों को रहना होगा सावधान

शनि जयंती 2022
WhatsApp

आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में किसी ग्रह का वक्री होना एक ऐसी गति मानी जाती है, जिसमें पृथ्वी से देखें जाने पर वह ग्रह पीछे की दिशा में चलता हुआ प्रतीत होता है। सरल शब्दों में कहें, तो यह एक प्रकार छल है। किसी ग्रह की वक्री होने की प्रक्रिया मुख्य रूप से उसकी गति के कारण होती है, इसीलिए जाहिर सी बात है कि उस ग्रह की तीव्रता और चाल अधिक होगी। साथ ही किसी ग्रह के वक्री होने पर उसके प्रभावों और परिणामों में तीव्रता देखी जाती है। आपको बता दें कि 10 मई 2022 को वक्री बुध (Budh Vakri) होने वाला है।

वक्री बुध (Vakri Budh) जातक के संचार कौशल पर सबसे ज्यादा प्रभावशाली होता है। इसी के साथ वक्री बुध के प्रभाव से आपको किसी चीज को समझाने में और अपनी बात को सही तरीके से रखने के लिए काफी अधिक प्रयास करने पड़ते हैं। इसी के साथ वक्री बुध के कारण जातक के रिश्तो में भी कई परेशानियां आती हैं। साथ ही व्यक्ति को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। वही इसके कारण स्वभाव में चिड़चिड़ापन भी आ जाता है। व्यक्ति को किसी भी चीज को लेकर असुरक्षा महसूस होने लगती है। आपको बता दें कि अगर आप सट्टा बाजार जैसे शेयर मार्केट आदि में निवेश करते हैं, तो वक्री बुध आपकी आर्थिक स्थिति पर भी प्रभाव डाल सकता है। चलिए जानते हैं कि 10 मई 2022 को होने वाले वक्री बुध का राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा-

यह भी पढ़ें-अगर आप भी कर रहे है विवाह की तैयारी, तो नाडी दोष का रखें ध्यान

 वृषभ राशि में वक्री बुध का समय

आपको बता दें कि 10 मई 2022 को शाम 5 बजकर 16 मिनट पर वृषभ राशि में बुध वक्री होगा। इसके बाद 3 जून 2022 को यह मार्गी हो जाएगा। वक्री बुध के परिणाम आमतौर पर कुंडली में बुध की स्थिति और स्थान पर निर्भर करते हैं।

यह भी पढ़े- ज्योतिष शास्त्र से जानें मन और चंद्रमा का संबंध और प्रभाव

चलिए जानते हैं कि वक्री बुध का जातक के जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है

वक्री बुध और मेष राशि (Vakri Budh aur Mesh Rashi)

आपको बता दें कि मेष राशि के दूसरे भाव में वक्री बुध होगा। इसके कारण व्यक्ति की वाणी में सुधार होने की अधिक संभावना है। साथ ही आपके स्वभाव में भी बदलाव आ सकता है। वक्री बुध के कारण आपको आर्थिक क्षेत्र से जुड़ी कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान किसी प्रकार की गलतफहमी या मतभेदों का सामना भी करना पड़ सकता है।

साथ ही जो व्यक्ति नौकरी पेशा है उन्हें अपने सहकर्मी और पेशेवर मित्रों के साथ को समस्याओं का अनुभव करना पड़ सकता है। वही यह अवधि बैंकर्स और अकाउंटेंट के लिए उत्तम है। इस राशि के छात्रों के लिए यह समय अच्छा रहने वाला है।

उपाय: आपको अपने रिश्तेदारों के साथ अच्छे संबंध बनाने चाहिए और उन्हें किसी तरह का तोहफा देना चाहिए।

वक्री बुध और वृषभ राशि (Vakri Budh aur Vrishabh Rashi)

वक्री बुध वृषभ राशि के लिए आर्थिक रूप से काफी अच्छा साबित होने वाला है। आपको बता दें कि वृषभ राशि के जातकों के लिए बुध उनके लग्न भाव में वक्री होगा। इसी के साथ आपकी चीजों का विश्लेषण करने की क्षमता में सुधार होगा साथ ही आप अपनी चीजों की गणना और योजना बनाने में अच्छे हो सकते हैं।

जो व्यक्ति आगे की पढ़ाई के लिए योजना बना रहा है उनके लिए यह अवधि अनुकूल होगी। साथ ही आप अपने कौशल से किसी भी परीक्षा को पास कर सकते है। इस दौरान आप अपने दैनिक जीवन में अधिक सक्रिय रहेंगे और कई तरह के काम करना पसंद करेंगे।

उपाय: बुधवार के दिन कन्याओं को हरे वस्त्र और चूड़ियां दान करना आपके लिए शुभ रहेगा।

मिथुन राशि (Vakri Budh aur Mithun Rashi)

आपको बता दें कि मिथुन राशि के जातकों के लिए बुध उनके बारहवें भाव यानी कि वह हानि और यात्रा के भाव में वक्री होगा। साथ ही यह समय आपके स्वास्थ्य के लिए अनुकूल नहीं है। इस दौरान आपको किसी तरह की छोटी-मोटी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही आपको अनिंद्रा का भी अनुभव करना पड़ सकता है। अतीत की बीमारी दोबारा आपको परेशान कर सकती है इसीलिए आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए।

वहीं इस दौरान आपके बिजली के उपकरण खराब हो सकते हैं या फट सकते से है। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि अपने मोबाइल, टेलीविजन, स्पीकर आदि से सावधान रहें और चार्ज करते समय उनकी विद्युत धारा का ध्यान रखें।

उपायः आपको तांबे के बर्तन में हरी दाल भरकर किसी सुनसान जगह पर दफना देना चाहिए।

यह भी पढ़े- vastu tips 2022: जानें क्या कहता है दुकान का वास्तु शास्त्र और व्यापार में वृध्दि के अचूक ज्योतिष उपाय

कर्क राशि (Vakri Budh aur Kark Rashi)

आपको बता दें कि कर्क राशि के जातकों के लिए बुध उनके ग्यारहवें भाव में वक्री होगा। यह समय आपके आर्थिक क्षेत्र के लिए काफी ज्यादा लाभदायक होने वाली है।

इसी के साथ जो व्यक्ति विदेश बाजारों के साथ साझेदारी का काम कर रहे हैं। वह इस दौरान अपने व्यवसाय में वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं। वहीं आपके कुछ पुराने ग्राहकों से अच्छे संबंध स्थापित होने की संभावना है। साथ ही कुछ पुराने दोस्तों के साथ संबंध में सुधार होने की संभावना है। आपका आपके भाई-बहनों के साथ रिश्ते में विवाद हो सकता है

उपायः आर्थिक संपन्नता और जीवन में खुशहाली पाने के लिए आपको चांदी की चेन में सोने का पेंडल पहनने चाहिए। 

सिंह राशि (Vakri Budh aur Singh Rashi)

वक्री बुध सिंह राशि वालों के जीवन में कई तरह के बदलाव कर सकता है। आपको बता दें कि जो व्यक्ति व्यवसाय क्षेत्र में है उन्हें कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान अगर आप साझेदारी के व्यवसाय में है, तो आपको सलाह दी जाती है कि अपने साझेदारों सहयोग से सावधान रहें। क्योंकि कुछ गतिविधियां आपके व्यवसाय की छवि खराब कर सकती है। साथ ही आपके घर में सुख-शांति भंग होने की आशंका है। आपके घर के सदस्यों के बीच मतभेद हो सकता है। कुल मिलाकर यह वक्री बुध आपके लिए कई तरह की परेशानियां लेकर आएगा। आपको सावधानी बरतनी चाहिए

उपायः आपको गाय को हरा चारा खिलाना चाहिए। इससे आपको उत्तम फल मिलेगा

कन्या राशि (Vakri Budh aur Kanya Rashi)

इस दौरान जो व्यक्ति नौकरी पेशा क्षेत्र में है उनके संबंध उनके बॉस के साथ खराब हो सकते है और उनकी छवि खराब होने की भी अधिक संभावना है। कार्य क्षेत्र में कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान परिवार के साथ भी आपके संबंध अच्छे नही होंगे। साथ ही आपको मेहनत करते रहना चाहिए। क्योंकि आपको इसका फल अवशय मिलेगा।

उपायः आपको तुलसी का पौधा लगाना चाहिए और उसकी सही से देखभाल करनी चाहिए

तुला राशि (Vakri Budh aur Tula Rashi)

आपको बता दें कि यह समय आपके स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं रहेगा। क्योंकि इस दौरान आपको किसी तरह की एलर्जी, तनाव, तंत्रिका तंत्र से जुड़े किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए और नियमित जांच करवानी चाहिए।

तुला राशि के छात्र जो मनोवैज्ञानिक और शोध कार्य से जुड़ी पढ़ाई कर रहे हैं उनके लिए यह समय अनुकूल है। साथ ही इस दौरान आपके खर्चे भी बढ़ सकते हैं।

उपायः जरूरतमंद लोगों और बच्चों को स्टेशनरी व दवाएं दान करनी चाहिए।

यह भी पढ़े-गणपति आराधना से चमकेगी भक्तों की किस्मत, होगा विशेष लाभ

वृश्चिक राशि (Vakri Budh aur Vrishchik Rashi)

आपको बता दें कि वृश्चिक राशि के जातकों के लिए वक्री बुध सातवें भाव में होगा। जिसके कारण आपको आपके जीवन में कई तरह के उतार-चढ़ाव का अनुभव करना पड़ सकता है। जो जातक एकल जीवन व्यतीत कर रहे हैं उनके लिए इस दौरान कुछ अच्छे प्रस्ताव आ सकते हैं। साथ ही अतीत के कुछ प्रस्तावों की दोबारा आने की भी अधिक संभावना है।

आपको बता दें कि जो जातक साझेदारी से जुड़े हैं उन्हें इस दौरान थोड़ी सावधानी बरती चाहिए। क्योंकि आपके किसी प्रकार की साजिश के शिकार होने की आशंका है

उपायः बुधवार के दिन आपको हरे वस्त्र धारण करने चाहिए, इससे आपको लाभ होगा

धनु राशि (Vakri Budh aur Dhanu Rashi)

आपको बता दें कि धनु राशि के जातकों के लिए बुध उनके छठे भाव पर वक्री होगा। इसके कारण आपके वैवाहिक जीवन में कुछ विवाद हो सकते हैं। और आपको तनाव का भी सामना करना पड़ सकता है। इसी के साथ जो जातक साझेदारी के व्यवसाय से जुड़े हैं उनके लिए समय अच्छा रहेगा और उनके व्यवसाय में बढ़ोतरी होगी। साथ ही उन्हें काफी लाभ प्राप्त होगा

उपायः अपने रिश्ते में सुख शांति लाने के लिए मंदिर में हरी दाल का दान करना आपके लिए फलदायी होगा।

मकर राशि (Vakri Budh aur Makar Rashi)

आपको बता दें कि मकर राशि के जातकों के लिए बुध उनके पांचवें भाव में वक्री होगा। जो छात्र प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उन्हें सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना। स्वास्थ्य के लिहाज से यह समय आपके बच्चों के लिए सही नही है। जिसकी वजह से आप परेशान हो सकते हैं। आपको अपने बच्चों का ध्यान रखना चाहिए।

उपायः प्रतिदिन सुबह मां दुर्गा की पूजा करें और दुर्गा सप्तशती का पाठ करना आपके लिए लाभदायक होता है।

कुंभ राशि (Vakri Budh aur Kumbh Rashi)

आपको बता दें कि वक्री बुध आपके जीवन में कई बदलाव करने वाला है। आप इस दौरान निवेश करने की योजना बना सकते हैं। इससे आपको लाभ होगा। साथ ही जो जातक अपने परिवार से दूर रह रहे हैं उन्हें घर वापस आने की प्रबल संभावना है। स्वास्थ्य के लिहाज से इस दौरान आपकी मां को कुछ परेशानी समस्या का सामना करना पड़ सकता है, जिसके कारण आपको तनाव का सामना करना पड़ेगा। आपको अपनी माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए

उपायः प्रतिदिन सुबह 108 बार ओम नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करना आपके लिए काफी लाभदायक साबित होगा

मीन राशि (Vakri Budh aur Meen Rashi)

बुध वक्री आपके तीसरे भाव यानी कि साहस, लघु यात्रा और भाई बहन के भाव में होगा। यह आपके लिए आपके पुराने दोस्तों और दूर के भाई बहनों से मिलने के अनुकूल समय होगा। इस दौरान आप अच्छे समय का आनंद लेंगे और किसी प्रकार की यात्रा कर सकते हैं। जो जातक मीडिया पर्यटन और संचार क्षेत्र में कार्यरत है उनके लिए यह समय अनुकूल सिद्ध होगा। आप अपने साथी के साथ अपने विचार साझा करने में कठिनाई का अनुभव कर सकते हैं, जिसकी वजह से आपके संबंध में कुछ समस्या आने की संभावना है

उपायः प्रतिदिन आपको विष्णु सहस्रनाम का पाठ का करना चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए आप Astrotalk के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।

अधिक के लिए, हमसे Instagram पर जुड़ें। अपना साप्ताहिक राशिफल पढ़ें।

 528 

WhatsApp

Posted On - April 18, 2022 | Posted By - Jyoti | Read By -

 528 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation