ये ज्योतिषीय उपाय भूल कर भी न करें – रूक जाएगी आपकी तरक्की

ये ज्योतिषीय उपाय भूल कर भी न करें - रूक जाएगी आपकी तरक्की
WhatsApp

बहुत से लोगों का ज्योतिष शास्त्र में बहुत अधिक विश्वास है इसलिए जब उन पर कोई परेशानी आती है। तो वह उसके समाधान के लिए ज्योतिषीय उपाय ढूंढते हैं और अपनाते हैं। निःसंदेह ज्योतिष शास्त्र के लाभ अनेकों हैं और व्यक्ति की परेशानियों को भी इसके द्वारा सफलतापूर्वक दूर किया जा सकता है। परंतु आपको यह बात भी पता होनी चाहिए कि ज्योतिष शास्त्र का लाभ हर व्यक्ति को नहीं होता है। इसलिए बिना पूरी जानकारी के कोई भी ज्योतिषीय उपाय नहीं करना चाहिए क्योंकि बिना जानकारी के ऐसा करना आपके लिए घातक हो सकता है।

उच्च ग्रह और दान

दान के द्वारा बहुत से उपाय किए जाते हैं परंतु दान करने का भी एक समय होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार उच्च ग्रहों का भूल कर भी दान नहीं करना चाहिए। कहने का तात्पर्य यह है कि किसी व्यक्ति की कुंडली में यदि कोई ग्रह उच्च स्थिति में है। तो उस समय उससे संबंधित कोई भी दान करना नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए दान न करें।

सूर्य और चंद्रमा

अगर आपकी कुंडली में सूर्य 7वें या 8वें भाव में है तो आपको तांबे का दान कभी भी नहीं करना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको मान-सम्मान की हानि होगी। इसी प्रकार बहुत से लोग मोती पहनते हैं ताकि चंद्रमा को अपनी कुंडली में शुभ बना सकें। परंतु यदि कुंडली में चंद्रमा नीच का है तो मोती धारण न करें क्योंकि यदि आप मोती पहनेंगे तो कुछ समय बाद ही आप मुसीबतों, अवसादों आदि में फंस जाएंगे। इसीलिए मोती पहनने से पहले किसी अनुभवी ज्योतिषी की सलाह अवश्य ले लें।

ग्रह और वस्त्रों के रंग

ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से कुंडली में यदि कोई ग्रह शुभ है तो उसके रंग के वस्त्र पहनना आपके लिए शुभ हो सकता है। इसलिए बेहतर यही होगा कि आपकी कुंडली में जो ग्रह शुभ है उनके अनुसार ही कपड़े पहने जाएं।

पुखराज रत्न अशुभ फल भी दे सकता है

इसमें कोई संदेह नहीं कि पुखराज पहनने से व्यक्ति को अनेकों लाभ मिलते हैं। उसके विवाह की अड़चनें दूर होकर उसके सौभाग्य में वृद्धि होती है। लेकिन यदि आप पुखराज से मिलने वाले फायदों को देखकर इस रत्न को धारण करने का सोच रहे हैं। तो बिना किसी ज्योतिष से सलाह किए बग़ैर इसको न पहने। पुखराज रत्न उन लोगों के लिए अशुभ होता है जिनकी कुंडली में बृहस्पति शत्रु घर में हो।

बुध ग्रह और मनी प्लांट का पौधा

वास्तु शास्त्र में घर में मनी प्लांट लगाना अत्यंत शुभ माना गया है। यह भी सच है कि इसको लगाने से घर के पैसों में बरकत होती है तथा आय के साधन भी बढ़ते हैं। किंतु मनी प्लांट भी हर व्यक्ति के लिए शुभ फल देने वाला नहीं होता है। इसलिए वह लोग जिनकी कुंडली में बुध ग्रह ख़राब या बुरी स्थिति में है तो वह भूले से भी मनी प्लांट के पौधे को अपने घर में न लगाए। यह ज्योतिषीय उपाय आपके लिए लाभदायक नहीं है। बेहतर यही होगा कि मनी प्लांट का पौधा अपने घर में लगाने का अगर आप सोच रहे हैं तो उससे पहले किसी एस्ट्रोलॉजर से राय ले लें।

कांटेदार पौधे भी होते हैं अशुभ

अगर किसी मनुष्य की कुंडली में शनि कमज़ोर हो तो फिर उस व्यक्ति को अपने घर में कांटेदार पौधे नहीं लगाने चाहिए। इस बात का ध्यान रखें कि कांटेदार पौधे कुंडली में मौजूद अशुभ शनि को बल देते हैं। वास्तु शास्त्र में भी कांटेदार फलों को लगाना बहुत अशुभ बताया गया है।

इस समय मंदिर निर्माण में धन न दें

हर इंसान यह चाहता है कि वह किसी मंदिर निर्माण में अपना भी योगदान दें इसलिए अपनी हैसियत के हिसाब से उसमें दान करता है। परंतु यदि आप मंदिर में दान देने का मन बना रहे हैं तो पहले इस बात का पता लगा लीजिए कि आपकी कुंडली में बृहस्पति चौथे या दसवें भाव में तो नहीं है। यदि ऐसा हो तो फिर आप मंदिर में दान नहीं दे। ऐसे व्यक्ति जिनकी कुंडली में बृहस्पति चौथे या दसवें भाव में होता है उनके लिए मंदिर में दान देना बहुत ही अशुभ है। इस उपाय के परिणाम काफ़ी घातक हो सकते हैं। यह उपाय बिना सोचे समझे करने से आपकी जान भी जा सकती है।

यह भी पढ़ें- यह चीजें दान न करें- इन चीजों का दान करना माना जाता है अशुभ

 1,225 

WhatsApp

Posted On - July 6, 2020 | Posted By - Jiyaiman | Read By -

 1,225 

क्या आप एक दूसरे के लिए अनुकूल हैं ?

अनुकूलता जांचने के लिए अपनी और अपने साथी की राशि चुनें

आपकी राशि
साथी की राशि

अधिक व्यक्तिगत विस्तृत भविष्यवाणियों के लिए कॉल या चैट पर ज्योतिषी से जुड़ें।

Our Astrologers

1500+ Best Astrologers from India for Online Consultation