बुध का मिथुन राशि में गोचर 25 मई 2020, जानें क्या होगा आपके जीवन पर असर

बुध का मिथुन राशि में गोचर 25 मई 2020, जानें क्या होगा आपके जीवन पर असर

बुध का गोचर

बुध का गोचर 25 मई 2020 को वृषभ से मिथुन राशि में होगा। बुध को तर्क, बुद्धि और वाणी का कारक ग्रह माना जाता है इसलिए इसका गोचर भी बहुत अहम होता है। मिथुन राशि में बुध का गोचर इसलिए भी अहम है क्योंकि यह बुध की स्वराशि है। अपनी राशि में हर ग्रह अच्छी अवस्था में माना जाता है। बुध ग्रह मिथुन राशि में 2 अगस्त 2020 तक रहेगा। आईए अब जानते हैं राशिचक्र की सभी राशियों पर बुध के इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा। 

बुध का गोचर 25 मई 2020

मेष 

25 मई को होने वाला बुध का मिथुन राशि में गोचर आपके लिए शुभ रहेगा। बुध देव आपके तृतीय भाव में स्थित रहकर आपके अंदर ऊर्जा भरेंगे जिससे आप जीवन के अलग-अलग क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे। इस भाव से भाई-बहनों से आपके संबंधों का भी पता चलता है, यदि उनके साथ किसी तरह का मनमुटाव था तो वह इस गोचर के दौरान दूर हो सकता है। यदि आप मीडिया क्षेत्र से जुड़े हैं तो तरक्की मिलने की संभावना है। 

वृषभ

बुध ग्रह आपके द्वितीय भाव में गोचर करेंगे औऱ इस भाव से वाणी औऱ धन का पता चलता है। बुध का यह गोचर आपके आर्थिक पक्ष को मजबूत करेगा, रुका हुआ धन वापस मिल सकता है। वाणी के घर में बुध के विराजमान होने से आप सामाजिक स्तर पर लोगों को प्रभावित कर सकते हैं। पारिवारिक जीवन में भी सकारात्मक बदलाव आने की पूरी संभावना है। 

मिथुन 

बुध मिथुन राशि का स्वामी ग्रह है और इस गोचर के दौरान यह मिथुन राशि में विराजमान रहेगा। अपनी स्वराशि में हर ग्रह उच्च का होता है इसलिए मिथुन राशि के जातकों को इस गोचर के दौरान अनुकूल परिणाम मिलेंगे। आपको कई स्रोतों से लाभ मिल सकता है। इस दौरान आप बुद्धि का सही तरीके से इस्तेमाल कर पाएंगे। समाज में आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी। 

कर्क

बुध देव आपके द्वादश भाव में गोचर करेंगे जिससे नौकरी पेशा लोगों को अनुकूल परिणाम मिल सकते हैं। यदि आप मनचाही जगह पर तबादला चाहते थे तो हो सकता है। हालांकि बुध के इस गोचर से खर्चों में वृद्धि होने की संभावना है। इस गोचर के दौरान आप शत्रुओं को अपने ऊपर हावी नहीं होने देंगे फिर भी आपको सलाह दी जाती है कि आप वाद-विवाद की स्थिति से बचकर रहें। 

सिंह

बुध देव इस गोचर काल में आपके लाभ भाव में होंगे। इस भाव में बुध के गोचर से आपको अपने बड़े भाई-बहनों का जीवन के हर क्षेत्र में लाभ मिलेगा, पारिवारिक स्थिति में भी सकारात्मक बदलाव आएंगे। इस राशि के कारोबारियों के लिए यह समय अच्छा है यदि किसी वजह से कारोबार बंद हुआ था तो उसे फिर से गति मिल सकती है। यदि प्रेम में पड़े हैं तो लवमेट के साथ भी अच्छा वक्त बिता सकते हैं। 

कन्या

कन्या राशि के लोगों के लिए यह गोचर बेहतरीन रहेगा क्योंकि कुंडली के अनुसार बुध देव आपके कर्म भाव में विराजमान होंगे। यह गोचर आपको कर्मशील बनाएगा जिससे कार्यक्षेत्र में आपको अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे। इस दौरान आप काम में इतना व्यस्त हो सकते हैं कि अपने करीबी लोगों को भी समय नहीं दे पाएंगे। कार्यक्षेत्र में उच्च अधिकारियों के साथ से आपकी कई परेशानियां दूर हो सकती हैं। 

तुला

आपके धर्म भाव में बुध ग्रह गोचर करेंगे। इस बाव में बुध के गोचर से इस राशि के विद्यार्थियों को शुभ फलों की प्राप्ति होगी। यदि आप उच्च शिक्षा हासिल कर रहे हैं तो सफलता मिलने की पूरी संभावना है। पिता के साथ आपके संबंधों में भी इस दौरान सुधार होगा। इस भाव में बुध के गोचर से आप आध्यात्मिक विषयों में भी रुचि ले सकते हैं। 

वृश्चिक

बुध देव के मिथुन राशि में गोचर से आपका अष्टम भाव सक्रिय अवस्था में रहेगा जिसके कारण आपके जीवन में कुछ परिवर्तन आ सकते हैं। बीते समय में आपके द्वारा जो गलत निर्णय लिए गए थे उनसे आप सबक ले सकते हैं। हालांकि इस भाव में बुध के होने से गूढ़ विषयों को जानने के प्रति आपकी रुचि बढ़ सकती है। 

धनु 

आपके सप्तम भाव में बुध के गोचर से विवाहित जीवन में अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे। आप अपने जीवनसाथी की बातों को बिना कहे ही समझ जाएंगे जिससे दूरियां नजदीकियों में तब्दील हो जाएंगी। यदि साझेदारी में कारोबार करते हैं तो सफलता प्राप्त होगी। 

मकर 

मकर राशि के जातकों को बुध के इस गोचर के दौरान संभलकर रहने की जरुरत है क्योंकि बुध ग्रह आपके छठे भाव में गोचर करेंगे। यह भाव रोग और शत्रुओं का होता। वर्तमान समय में कोरोना के संकट के बीच आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ख्याल इस दौरान रखना चाहिए। हालांकि इस राशि के नौकरी पेशा लोग अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर पाएंगे और कार्यक्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। 

कुंभ 

बुध देव आपके पंचम भाव में विराजमान होकर प्रेम संबंधी मामलों में आपकी परीक्षा ले सकते हैं, इसलिए प्रेम के रिश्ते में ईमानदार रहें। अपने प्रेमी को समय दें और उनकी बातों को ध्यान से सुनें। यह संतान भाव भी है इसलिए इस राशि के माता-पिताओं को अपनी संतान के स्वास्थ्य पर ध्यान देने की जरुरत है। 

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए यह गोचर अच्छा रहेगा, चतुर्थ भाव में विराजमान बुध आपके पारिवारिक जीवन में अच्छे बदलाव लाएंगे। माता के साथ किसी बात को लेकर यदि मनमुटाव था तो वह भी दूर हो सकता है। आपकी सुख-सुविधाओं में भी इस दौरान वृद्धि होगी हालांकि बेवजह के खर्चों से आपको बचकर रहना चाहिए। कार्यक्षत्र में भी शुभ फलों की प्राप्त मीन राशि वालों को होगी।  

यह भी पढ़ें- कब होगा आपके स्वास्थ्य को खतरा? ऐसे पता करें

 153 total views


Tags: ,

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *