नक्षत्र भरणी

banner

भरणी नक्षत्र

पुरुषों का व्यक्तित्व

हालांकि भरणी में जन्मे पुरुषों की आमतौर पर कोई खास सराहना नहीं करता। इसके बावजूद यह तो कहा ही जा सकता है कि इस नक्षत्र में जन्मे पुरुषों का मन बहुत साफ होता है। ये लोग हर काम अच्छे इरादे से करते हैं और जानबूझकर कभी भी किसी को नुकसान या क्षति नहीं पहुंचाते हैं। ये लोग हमेशा अपने विवेक की सुनते हैं। हालांकि कई बार उन्हें अपनी इस आदत की वजह से नुकसान भी उठाना पड़ता है। यही नहीं, भरणी नक्षत्र में जन्मे लोग काफी बेबाक होते हैं और अपने मन बात की बात कहने से नहीं हिचकते। सच बोलना भी इनके गुणों में शुमार है। ज्यादातर लोगों को इनकी ये आदत पसंद नहीं है। दरअसल, कई बार होता यह है कि भरणी नक्षत्र में जन्मे जातक बोलते तो सच हैं, लेकिन दूसरों के सामने सही तरह से अपनी बात न रख पाने के कारण अक्सर गलतफहमी का शिकार हो जाते हैं। लेकिन स्वभाव से ये लोग काफी अच्छे होते हैं। एक भरणी पुरुष का हृदय क्षमाशील होता है, इसलिए यदि आपने इनको आहत किया हो या आपसे कोई गलती हो गई हो, तो नि:संकोच इनसे माफी मांग लें। वह बिना देरी किए आपको माफ कर देंगे। इनकी एक बड़ी खासियत यह भी है कि ये लोग अपने मन में किसी तरह का शिकवा नहीं रखते।

पुरुषों का करियर

भरणी पुरुषों के लिए कौन सा समय सही या शुभ है, यह कहा नहीं जा सकता। लेकिन इन पर आंख मूंदकर भरोसा किया जा सकता है। ये लोग हर तरह के पेशे के लिए उपयुक्त हैं और विश्वसनीय हैं। फिर चाहे वह कोई भी क्षेत्र क्यों न हो जैसे कला, संगीत, मीडिया, खेल या व्यवसाय। यद्यपि भरणी नक्षत्र में जन्मे पुरुषों को तंबाकू के व्यवसाय में प्रयास करना चाहिए, क्योंकि इनके लिए इस व्यवसाय में सफल होने की सबसे अधिक संभावना है। लेकिन कहने का मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आपने किसी भी उम्र में अपना व्यवसाय शुरू किया और उसमें थोड़ी सी मेहनत के बाद ही सफलता प्राप्त कर ली। आपको बता दें कि 33 साल की उम्र के बाद ही आप अपनी स्थिति में सकारात्मक बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं। हालांकि आप समूचे विश्व के किसी भी हिस्से में रहकर अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। लेकिन अपने घर के पूर्वी हिस्से को ही अपना कामकाजी स्थल बनाएं। आपके व्यवसाय के लिए फलदायी रहेगा।

पुरुषों की अनुकूलता

भरणी नक्षत्र में जन्मे पुरुषों के लिए उनका परिवार सबसे महत्वपूर्ण है। ये लोग अपने परिवार से बिना किसी शर्त के बहुत ज्यादा प्यार करते हैं। हालांकि अपने परिवार के प्रति इनका समर्पण भाव इतना अधिक होता है, जिसकी यकीनन कोई सीमा नहीं होती। परिणामस्वरूप कई बार ये दूसरों के लिए उपहास का कारण बन जाते हैं। दुर्भाग्य से, एक भरणी पुरुष अपने पिता के प्यार से वंचित रह जाता है। आमतौर पर उनके मामा इनका बहुत ज्यादा समर्थन करते हैं और उनके दोस्त हमेशा उनका साथ निभाते हैं। जहां तक भरणी नक्षत्र में पुरुषों के वैवाहिक जीवन की बात है, तो इनकी शादी आमतौर पर 27 से 32 साल की उम्र के बीच होती है और पुत्र संतान की चाह इनमें अधिक देखने को मिलती है।

पुरुषों का स्वास्थ्य

भरणी पुरुष आमतौर पर स्वस्थ जीवन जीते हैं और शायद ही कभी बीमार पड़ते हैं। इसके लिए वे अपने स्वास्थ्य की ज्यादा देखरेख भी नहीं करते। लेकिन जैसे-जैसे उम्र बीतने लगती है, कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जैसे मधुमेह, मलेरिया, अपोप्लेक्सी या दांत से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। भरणी पुरुष न सिर्फ खाना पसंद करते हैं बल्कि ये लोग खाने के लिए ही जीते हैं।

महिलाओं का व्यक्तित्व

भरणी नक्षत्र में जन्मी महिलाएं काफी बेबाक, निर्भीक और साहसिक होती हैं। ये अपने माता-पिता और बड़ों का बहुत सम्मान करती हैं। स्वभाव से ये कैसी भी दिखें, लेकिन इनका मन बहुत साफ और मासूम होता है। ये प्राकृतिक रूप से इतनी खूबसूरत होती हैं कि लोग एकाएक ही इनकी ओर आकर्षित हो जाते हैं और इनके आसपास रहना चाहते हैं। जो विशेषता इन्हें अन्य महिलाओं से अलग करती है, वह है इनका स्वतंत्र स्वभाव और हमेशा अपने मन की बात सुनना। कई इनके करीबी लोग इनके स्वभाव के कारण इनके प्रति फिक्रमंद हो जाते हैं। लेकिन आपको बता दें कि उन्हें ऐसा किया जाना पसंद नहीं है, क्योंकि अपना ख्याल वे खुद रख सकती हैं। वैसे भी ये महिलाएं अपने लिए फैसलों को ही पसंद करती हैं, दूसरों द्वारा थोपे गए निर्णयों की ओर वे ध्यान भी नहीं देतीं।

महिलाओं का करियर

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, भरणी नक्षत्र में जन्मी महिला स्वतंत्र और साहसिक होती हैं। अपने करियर को लेकर भी ये महिलाएं काफी स्प्ष्ट रहती हैं। इन्होंने कभी भी अवसरों के आने का इंतजार नहीं किया बल्कि खुद अवसरों की तलाश की है। इनकी यही विशेषता इन्हें एक अच्छी व्यवसायी बनाती है। ये महिलाएं किसी भी तरह की नौकरी कर सकती हैं। हर तरह की नौकरी इनके लिए उपयुक्त होती है क्योंकि वे अपने करियर को लेकर बहुत भावुक होती हैं। चूंकि ये दिखने में काफी आकर्षक होती हैं, इसलिए सेल्स जॉब या टूरिस्ट गाइड के तौर पर ये ज्यादा सफल हो सकती हैं। इसके अलावा खेल जगत भी इनके लिए एक काफी अच्छा करियर क्षेत्र है।

महिलाओं की अनुकूलता

भरणी नक्षत्र में जन्मी महिला का वैवाहिक जीवन काफी मधुर रहता है। उन्हें एक ऐसा साथी मिलता है, जो न सिर्फ उन्हें प्यार करता है बल्कि उनकी पूरी देखभाल भी करता है। लेकिन जहां तक ससुराल पक्ष के साथ संबंध की बात आती है, तो भरणी महिलाएं इस मामले में थोड़ी दुर्भाग्य नजर आती हैं। दरअसल इनके जिद्दी स्वभाव के कारण ससुराल वालों के साथ किसी भी बात पर इनका विवाद उत्पन्न हो सकता है। अगर सही समय पर उसे सुलझाया न जाए, तो भविष्य में छोटी सी बात बड़ी बन सकती है। इस नक्षत्र की महिलाएं अपने साथी पर हावी होती हैं। आप कह सकते हैं कि ये अपने रिश्ते में ज्यादा प्रभावी होती हैं, लेकिन फिर भी अपने साथी के प्रति ये पूरी ईमानदार होती हैं और उस पर पूरा भरोसा करती हैं।

महिलाओं का स्वास्थ्य

भरणी नक्षत्र में जन्मी महिलाएं सामान्य रूप से स्वस्थ जीवन जीती हैं। इन्हें स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के बारे में चिंतित होने की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता है, उन्हें मासिक धर्म या गर्भाशय की समस्या जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें तपेदिक (टीबी) से भी सावधान रहना चाहिए क्योंकि इससे भविष्य में समस्या हो सकती है।

प्रथम चरण

भरणी नक्षत्र का पहला चरण सिंह नवांश में होता है। इसका मतलब है कि ये लोग ज्यादातर सूर्य के प्रभुत्व में होते हैं। इस चरण से संबंधित लोग अत्यधिक रचनात्मक होते हैं। इनका स्वभाव भी ऐसा ही होता है यानी ये अक्सर खुद में ही रहते हैं। इनका यह स्वभाव ज्यादातर लोगों को पसंद नहीं आता।

द्वितीय चरण

इस नक्षत्र का दूसरा चरण कन्या नवांश में स्थित है और इसमें बुध का प्रभुत्व है। इस श्रेणी के अनुसार कोई भी व्यक्ति अगर अपने लक्ष्यों पर केंद्रित हो और उसे हासिल करने के लिए हर संभव प्रयास करे, तो वह कुछ भी हासिल कर सकता है। इस नक्षत्र के लोग स्वभाव से निस्वार्थ होते हैं और कठिन परिस्थितियों में भी महत्वपूर्ण निर्णय ले सकते हैं।

तृतीय चरण

मुख्य रूप से शुक्र द्वारा शासित, इस नक्षत्र का तीसरा चरण तुला नवांश में आता है। इन लोगों में दो अलग-अलग दृष्टिकोणों के लोगों को एक साथ लाने और उन्हें समान आधार दिखाने की दुर्लभ प्रतिभा है। हालांकि इस नक्षत्र में जो लोग जन्मे हैं, वे कई यौन संबंधों में संलिप्त होते हैं। यह उनके लिए अच्छा है या बुरा, यह बात उनकी मन:स्थिति और मानसिक क्षमता पर निर्भर करती है।

चतुर्थ चरण

इस नक्षत्र का चौथा चरण मंगल द्वारा शासित है। वे वृश्चिक सूर्य राशि नवांश में आते हैं। माना जाता है कि इस श्रेणी के लोग अति उत्साही और ऊर्जावान होते हैं। काम करते हुए शायद ही ये लोग कभी थकान महसूस करते हैं। ये लोग कोई महत्वपूर्ण खोज भी कर सकते हैं, जो निश्चित रूप से उन्हें प्रसिद्धि दिलाएगी। उन्हें केवल यह सुनिश्चित करना है कि वे जो भी ऊर्जा उपयोग कर रहे हैं, वह समाज की भलाई के लिए है न कि किसी ऐसी चीज के लिए जो किसी प्रकार का विनाश कर सकती है।

कॉपीराइट 2022 कोडयति सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस प्राइवेट. लिमिटेड. सर्वाधिकार सुरक्षित