नक्षत्र Purva Bhadrapada

banner

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र

पुरुषों का व्यक्तित्व

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र के पुरुष मृदुभाषी और शांतिप्रिय होते हैं। इनके बहुत सख्त मूल्य और नियम होते हैं जिनका ये पूरे श्रद्धाभाव से पालन करते हैं। अगर कोई इनकी धार्मिक मान्यताओं को ठेस पहुंचाते हैं, तो इन्हें ऐसा किया जाना पसंद नहीं आता। हालांकि ये सबसे अधिक धार्मिक लोगों में से नहीं हैं, लेकिन स्वभाव से बहुत विनम्र हैं। इन्हें अन्याय करना या अन्याय सहना जरा भी पसंद नहीं है। इनकी नजरों के सामने अगर ऐसा होता दिखे, तो ये तुरंत सक्रिय हो जाते हैं और विरोध करते देखे जाते हैं। यदि इन्हें किसी भी प्रकार से तुच्छ समझा जाता है तो ये क्रोधित हो जाते हैं। इन्हें सादा-सीधा जीवन पसंद है। ये लोग स्वभाव से बहुत दयालु होते हैं और जरूरतमंदों की मदद करने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। लेकिन किसी न किसी कारण ये लोग हमेशा गलतफहमियां का शिकार होते रहते हैं, जिस वजह से ये अपने प्यार से दूर हो जाते हैं। आर्थिक रूप से मजबूत न होने के बावजूद लोग इनका बहुत सम्मान करते हैं।

पुरुषों का करियर

व्यापार के मामले में इस नक्षत्र के पुरुषों का भाग्य बहुत अच्छा रहेगा। ये स्वाभाविक रूप से बुद्धिमान होते हैं और व्यापार के मामले मे यह काफी चालाक होते हैं। यदि ये सरकारी नौकरियों में जाना पसंद करते हैं, तो यह उनके लिए भी बेहद उपयुक्त होगा क्योंकि इस बात की संभावना है कि उनकी मासिक आय औसत से अधिक होगी और इन्हें अक्सर पदोन्नति और वेतन वृद्धि मिलती रहेगी। उसके कारण, इन पुरुषों को कभी भी आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। ये लोग जिंदगी के हर पहलू में स्वतंत्र फैसले लेते हैं। इनके करियर की बढ़ती अवधि 24 से 33 वर्ष की आयु के बीच होगी। ये 40 से 54 वर्ष की आयु के बीच स्वयं को व्यवस्थित कर पाएंगे।

पुरुषों की अनुकूलता

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र के पुरुषों के लिए संबंधों की बात आती है तो रिश्तों में सब कुछ सामान्य होगा और उन्हें प्यारी पत्नी और स्वस्थ बच्चे मिलेंगे। मातृ प्रेम की बात आती है, तो इन पुरुषों को ज्यादा कुछ नहीं मिलेगा। उनकी माता के साथ इनका रिश्ता हमेशा अस्थिर रहेगा। ये अपनी मां की मृत्यु का कारण भी बन सकते हैं। मां और बेटे के बीच दूरियों का कारण मां की पेशेवर स्थिति हो सकती है।

पुरुषों का स्वास्थ्य

इस नक्षत्र के पुरुषों को स्वास्थ्य के मामले में थोड़ा कष्ट उठाना पड़ेगा। पैरालिटिक अटैक जैसी स्वास्थ्य समस्याएं इन्हें तनाव देंगी। इन्हें अम्लता और पाचन समस्याओं से पीड़ित होना पड़ सकता है और इनके जीवन के बाद के चरण में मधुमेह हो सकता है। इनके पेट की पसलियों, पैरों और बाजू में भी समस्या हो सकती है।

महिलाओं का व्यक्तित्व

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र की महिलाएं जन्मजात से बड़बोली होती हैं और अपने साथियों में सबसे प्रमुख होती हैं। इनके पास बोलने का एक कमांडिंग तरीका है और एक टीम में रहते हुए ये एक नेता की भूमिका के लिए उपयुक्त हैं। इनके नेतृत्व वाली परियोजनाएं सुचारू रूप से चलेंगी और उनके अधीन काम करने वाले लोगों को इनके आदेशों का पालन करने में कोई समस्या नहीं होगी। इनकी नैतिकता इनके लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज है। अपनी नैतिकता और ईमानदारी के खिलाफ जाकर ये महिलाएं कुछ भी करना पसंद नहीं करतीं। हालांकि उन्हें अपने इरादों का आकलन किए बिना किसी पर भरोसा करना मुश्किल लगता है। भले ही वे आर्थिक रूप से दूसरों की आसानी से मदद करने में सक्षम हों, लेकिन ये स्थिति का पूरी तरह से मूल्यांकन करने और यह सुनिश्चित करने के बाद ही ऐसा करेंगे कि उन्हें वास्तव में उनकी मदद की ज़रूरत है या नहीं।

महिलाओं का करियर

इस नक्षत्र की महिलाओं में सीखने और खोजने की उत्सुकता होती है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी से संबंधित पेशे इनके लिए बेहतरीन विकल्प हैं। जैसा कि इस नक्षत्र की महिलाएं पढ़ाई में बेहद प्रतिभाशाली हैं। ऐसे में ये महिलांए शिक्षाविद बन सकती हैं, वैज्ञानिक या डॉक्टर के रूप में अपने करियर की तलाश कर सकती हैं। अपनी प्रतिभा के कारण ये महिलाएं कम ही शैक्षणिक क्षेत्र में नजर आएंगी। यदि ये कम दबाव के साथ एक सरल पेशा पसंद करते हैं तभी शिक्षण का विकल्प चुनेंगी। अन्य पेशे जो उसके अनुकूल हो सकते हैं, ये हैं ज्योतिष, सांख्यिकी और अनुसंधान के क्षेत्र। इन क्षेत्रों में ये न सिर्फ अच्छो प्रदर्शन कर सकती हैं अपने मस्तिष्क का सबसे अधिक उपयोग भी कर सकती हैं।

महिलाओं की अनुकूलता

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र की महिलाओं को इनके विवाह के बाद एक बहुत ही खुशहाल और समृद्ध परिवार का आशीर्वाद मिलेगा। उन्हें एक ऐसा पति मिलेगा, जो इन्हें प्यार करेगा और उनके बीच अच्छी कंपैटिबिलिटी होगी। संतान के मामले में इस नक्षत्र की महिलाओं का भाग्य बहुत अच्छा होगा क्योंकि इनके पास प्यार करने वाले बच्चे होंगे और इनका परिवार बहुत बड़ा होगा। ये महिलाएं परिवार के प्रबंधन में बहुत अच्छी होती हैं और घरेलू गतिविधियों में तेज होती हैं।

महिलाओं का स्वास्थ्य

इस नक्षत्र की महिलाओं को कुछ स्वास्थ्य समस्याओं से गुजरना पड़ेगा। कुछ समस्याएं, जो हो सकती हैं वे हैं लीवर की समस्याएं, निम्न रक्तचाप, एपोप्लेक्सी और घुटनों में दर्द आदि।

प्रथम चरण

मंगल के प्रभुत्व वाले, इस नक्षत्र का पहला चरण मेष नवांश में स्थित है। इस श्रेणी के लोगों को अपने मरीजों पर काम करना होगा और अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना होगा। इनकी आक्रामक मानसिकता को लेकर समस्या हो सकती है। इन्हें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अपनी भावनात्मक ऊर्जा का संचार करना सीखना चाहिए।

द्वितीय चरण

शुक्र के प्रभुत्व वाले और वृष नवांश में पड़ने वाले, इस चरण के लोगों में एक ऊर्जावान प्रकृति होगी जिसके साथ वे अपने अंधेरे पक्ष की खोज कर सकेंगे।

तृतीय चरण

बुध के प्रभुत्व और मिथुन नवांश में पड़ने वाले इस नक्षत्र के तीसरे चरण जिज्ञासु स्वभाव के होंगे और संवाद करना पसंद करेंगे। ये स्वभाव से चालाक होंगे, लेकिन अपने कमजोर पक्ष का पता लगाने में भी गुरेज नहीं करेंगे।

चतुर्थ चरण

इस नक्षत्र के चौथे चरण में चंद्रमा का प्रभुत्व है और यह कर्क नवांश में स्थित है। इस चरण के लोगों को उनके बारे में असुरक्षित आभा की भावना हो सकती है क्योंकि उनमें अच्छे और बुरे दोनों की विशेषताएं हैं। ये इस नक्षत्र के अन्य तीन चरणों के साथ अच्छी तरह से मेल खाते हैं।

कॉपीराइट 2022 कोडयति सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस प्राइवेट. लिमिटेड. सर्वाधिकार सुरक्षित